कानपुर: मालकिन की मौत के बाद पालतू कुत्ते ने चौथी मंजिल से कूदकर दी जान, लोगों ने कही ये बात
Kanpur News in Hindi

कानपुर: मालकिन की मौत के बाद पालतू कुत्ते ने चौथी मंजिल से कूदकर दी जान, लोगों ने कही ये बात
कानपुर में मालकिन की मौत के बाद पालतू कुत्ता (मादा) जया ने चौथी मंजिल से छलांग लगाकर दे दी जान.

डॉ. राजकुमार (Dr. Rajkumar) ने बताया की उनकी पत्नी अनीता 13 साल पहले जया को सड़क किनारे से उठा कर लाई थीं. उसके शरीर पर कई जगह घाव थे और कीड़े पड़ चुके थे. 1 साल तक उसका इलाज किया और तब से लेकर आज तक वह उनके घर पर एक सदस्य की तरह थी.

  • Share this:
कानपुर. दुनिया में सबसे ज्यादा वफादार जानवर माना जाने वाले एक कुत्ता (Dog) अपने मालिक के प्यार में किस हद तक जा सकता है, इसका चौंकाने वाला उदाहरण कानपुर (Kanpur) में देखने को मिला है. कानपुर के बर्रा के मालिकपुरम इलाके में रहने वाले डॉक्टर दंपत्ति के घर मालकिन की मौत की खबर के बाद मादा कुत्ता (Bitch) जया ने मकान से कूदकर अपनी जान (Suicide) दे दी. उसकी मौत की खबर पूरे शहर में अब चर्चा का विषय बनी हुई है. जो भी सुनता है, उसे विश्वास नहीं होता.

दरअसल, हमीरपुर (Hamirpur) के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.राजकुमार सचान बर्रा में रहते हैं. पिछले हफ्ते कानपुर में उनकी महिला चिकित्सक उनकी पत्नी डॉ.अनिता राज की तबीयत अचानक खराब हुई. काफी दिन तक किडनी की शिकायत के चलते उनका निजी अस्पताल में इलाज चला. बुधवार को उनकी मौत हो गई. जबकि वह महिला डॉक्टर सरकारी अस्पताल में कार्यरत थीं.

शव घर पहुंचा तो जोर-जोर से हूकने लगी जया



जैसे ही उनका शव उनके घर पहुंचा तो परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था और साथ ही साथ उनकी घर में पल रहे पालतू कुत्ता (मादा) जया भी जोर-जोर से भौंकने लगी. लोगों ने बताया कि जैसे कुत्ते को पता चल गया, वह रो-रोकर हूकती रही. जब कुत्ते का हूकना शांत नहीं हुआ तो डॉ.राजकुमार के बेटे तेजस ने उसे दूसरे हिस्से पर ले जाकर स्टोर रूम में बंद कर दिया.
शव निकला घर से तो कूद गई

लेकिन यहां से वह किसी तरह दूसरे तल से चौथे तल पहुंच गया और भौंकने लगी. इसके बाद डॉक्टर के घर वाले अंतिम संस्कार के लिए जैसे निकले, वैसे ही जया ने चौथी मंजिल से छलांग लगा दी, इसमें उसकी जान चली गई.

पूरे कानपुर में चर्चा

डॉ.राजकुमार ने बताया कि उसको घर के पास गड्ढा करके दफना दिया गया है. जहां एक और क्षेत्र वासी और मृतक डॉ. अनीता राज के सगे संबंधी उसकी मौत से दुखी थे तो वहीं जया के जाने की चर्चा भी पूरे शहर में फैल गई. लोग कह रहे हैं कि मालकिन के प्रति इतना प्यार न किसी ने सुना और न ही देखा है.

सड़क किनारे से उठाकर लाई थी डॉ अनीता: डॉ राजकुमार

डॉ. राजकुमार ने बताया की उनकी पत्नी अनीता 13 साल पहले जया को सड़क किनारे से उठा कर लाई थीं. उसके शरीर पर कई जगह घाव थे और कीड़े पड़ चुके थे. 1 साल तक उसका इलाज किया और तब से लेकर आज तक वह उनके घर पर एक सदस्य की तरह थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading