कानपुर: लव जिहाद मामले में पुलिस का एक्शन, आरोपी लकी खान गिरफ्तार

पीड़िता की मां ने न्यूज18 से लगाई थी गुहार
पीड़िता की मां ने न्यूज18 से लगाई थी गुहार

कानपुर पुलिस (Kanpur Police) ने लव जिहाद (Love Jihad) के एक मामले में नाबालिग पीड़ित और उसकी मां की शिकायत पर आरोपी लकी खान को गिरफ्तार कर लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2020, 10:48 AM IST
  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर में पुलिस ने लव जिहाद (Love Jihad) के आरोपी लकी खान (Lucky Khan ) को गिरफ्तार कर लिया है. दरअसल कानपुर (Kanpur) में शालिनी यादव (Shalini Yadav) उर्फ़ फिजा (Fiza) के लव मैरिज (Love Marriage) केस के बाद कई ऐसे परिवार सामने आ रहे हैं, जिनका आरोप है कि उनके घर की बेटियों को साजिश के तहत नाम बदलकर प्रेम के जाल में फंसाकर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया जा रहा है.

इसी क्रम में एक नाबालिग पीड़िता के परिजनों ने आरोप लगाया कि एक लड़के ने अपना नाम हिंदू बताकर उनकी बेटी से दोस्ती की. दोनों एक-दूसरे के करीब आ गए. आरोप है कि लड़के ने पीड़िता को नशीली दवा देकर उसकी आपत्तिजनक तस्वीरें ले लीं. अब इस लड़की पर आरोपी दबाव बना रहा है कि वह इस्लाम कुबूल कर लड़के से निकाह कर ले, नहीं तो वह उसकी सारी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल कर देगा.

बजरिया थाना क्षेत्र से गिरफ्तारी



पुलिस के अनुसार कानपुर के बजरिया थाना क्षेत्र में रहने वाला लकी खान ने उसी क्षेत्र में रहने वाली नाबालिग लड़की को खुद को हिंदू बताते हुए अपने प्रेम जाल में फंसा लिया. इस पूरे मामले में न्यूज़ 18 पर खबर चलने के बाद पुलिस हरकत में आई और आरोपी लकी खान को देर रात गिरफ्तार कर लिया गया.
प्रेम जाल में फंसाने के लिए जाता था मंदिर

लकी खान एक दुकान में काम करता था, जहां से लड़की की दुकान 300 मीटर दूर है. लड़की के पिता की मौत के बाद वह फूल की दुकान लगाकर अपने परिवार को पाल रही थी. लकी ने लड़की को देखा तो वह उसका दीवाना हो गया. इसके बाद लकी ने दिन में 5 से 6 बार मंदिर के अंदर जाना शुरू किया, जबकि लकी मुस्लिम था. वह झूठ बोलकर नाबालिग को अपने प्रेम जाल में फंसा ले.

डरी सहमी है लड़की

दरअसल लड़की के पिता नहीं है और पेट पालने के लिए वह फूल की एक दुकान लगाती थी. यह दुकान मंदिर के ठीक बगल में है और यहां से आरोपी लड़की को देखकर मंदिर के अंदर चला जाता था. इसके बाद नाबालिग को लड़के ने खुद का नाम लकी बताया और दोस्ती का प्रस्ताव रखा. लड़की ने प्रस्ताव स्वीकृत करते हुए लड़के से दोस्ती कर ली. अब नाबालिग पीड़िता डरी और सहमी हुई है. मां का रो-रो कर बुरा हाल है.

मां ने न्यूज18 से बातचीत में बताया कि पहले तो सीसामऊ थाने पर दरोगा ने तहरीर ही लेने से मना कर दिया. इसके बाद वह सीओ ऑफिस पहुंची, जहां से एप्लीकेशन पर साइन करने के बाद फिर थाने भेजा गया. थाने पर इंस्पेक्टर ने कहा कि लड़के को पकड़ कर ले आओ.

आईजी ने गठित की एसआईटी

बता दें कि शालिनी यादव प्रकरण सामने आने के बाद हिंदूवादी संगठनों ने शहर के जूही कॉलोनी इलाके में लव जिहाद गैंग के सक्रिय होने का आरोप लगाते हुए पुलिस से कार्रवाई की मांगी भी की है. उनका कहना है कि पिछले एक महीने 5 ऐसे मामले सामने आ चुके हैं. इस मामले में आईजी मोहित अग्रवाल के आदेश पर एसआईटी गठित की गई है. इसकी कमान खुद एसपी (साउथ) के हाथ में है. एसपी साउथ दीपक खुद अपनी टीम का गठन करेंगे. आरोपितों की एक-दूसरे से जुड़े होने की जांच एसआईटी के द्वारा की जाएगी. साथ ही सुनियोजित तरीके से जिहाद फैलाने और बाहर से फंडिंग के आरोपो की भी जांच करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज