कानपुर कांड: पुलिस रिकॉर्ड से गायब है भ्रष्टाचार की पोल खोलती शहीद देवेंद्र मिश्रा की लिखी चिट्ठी
Kanpur News in Hindi

कानपुर कांड: पुलिस रिकॉर्ड से गायब है भ्रष्टाचार की पोल खोलती शहीद देवेंद्र मिश्रा की लिखी चिट्ठी
कानपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी ने कहा कि पुलिस रिकॉर्ड में पत्र नहीं मिला है.

Kanpur Encounter: कानपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी ने कहा कि काफी पड़ताल के बाद भी CO द्वारा लिखा गया पत्र नहीं मिला है.

  • Share this:
कानपुर. विकरू गांव में शहीद हुए सीओ विल्‍हौर दिनेश मिश्रा (CO Dinesh Kumar) द्वारा तत्कालीन एसएसपी आनंद देव तिवारी को लिखी वह चिट्ठी पुलिस रिकॉर्ड (Police Record) से गायब है, जिसमें उन्होंने निलंबित एसओ विनय तिवारी (SO Vinay Tiwari) और हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे (History Sheeter Vikas Dubey) के बीच सांठगांठ और गंभीर घटना की आशंका व्यक्त की थी. शहीद एसओ का यह पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. मामले में कानपुर एसएसपी दिनेश कुमार पी ने कहा कि काफी पड़ताल के बाद भी सीओ द्वारा लिखा गया पत्र नहीं मिला है. मामले में गहनता से जांच की जा रही है.

एसएसपी ने बताया कि शहीद सीओ देवेंद्र मिश्रा द्वारा विभाग को लिखा गया वायरल पत्र जिसमें उन्होंने एसओ विनय तिवारी पर विकास दुबे की मदद का आरोप लगाया है, वह पोलकी रिकॉर्ड में नहीं मिला है. एसपीआरए समेत एसएसपी ऑफिस में इसकी पड़ताल की गई है. डिस्पैच और रिसीविंग रजिस्टर में भी कोई रिकॉर्ड नहीं मिला है. उन्होंने कहा कि पत्र के मामले में गहनता से जांच की जा रही है.

14 मार्च को लिखी थी चिट्ठी
गौरतलब है कि 14 मार्च 2020 को सीओ देवेंद्र मिश्रा ने तत्कालीन एसएसपी अनंत देव तिवारी को एक पत्र लिखा था. यह पत्र कल आम आदमी के पार्टी संजय सिंह ने अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया था. इस पत्र में सीओ देवेन्द्र मिश्रा ने एसओ विनय तिवारी के भ्रष्टाचार की जानकारी दी थी. उन्होंने पत्र में विनय तिवारी पर कुख्यात विकास दुबे से साठगांंठ का आरोप लगाते हुए किसी गंभीर घटना की आशंका जताई थी. अब इस पत्र के वायरल होने के बाद वर्तमान में एसटीएफ डीआईजी और तत्कालीन एसएसपी अनन्त देव तिवारी की भूमिका भी जांच के दायरे में आ गई है. आखिर एसएसपी ने एसओ विनय तिवारी की शिकायत के बाद भी कार्रवाई क्यों नहीं की? अब तो विभाग से वह पत्र ही गायब है.
(इनपुट: श्याम तिवारी)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज