कानपुर: एसपी सिटी सुरेंद्र दास ने की आत्महत्या की कोशिश, हालत गंभीर

आशंका जताई जा रही है कि एसपी सिटी ने कोई जहरीला पदार्थ खाया है. हालांकि पूरे मामले में डॉक्टर से लेकर पुलिस के आलाधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं.

Shyam Tiwari | News18 Uttar Pradesh
Updated: September 5, 2018, 1:10 PM IST
कानपुर: एसपी सिटी सुरेंद्र दास ने की आत्महत्या की कोशिश, हालत गंभीर
आईपीएस सुरेंद्र दास
Shyam Tiwari | News18 Uttar Pradesh
Updated: September 5, 2018, 1:10 PM IST
कानपुर के एसपी सिटी सुरेंद्र दास की अचानक तबीयत ख़राब होने के बाद बुधवार तड़के उन्हें शहर के रीजेंसी हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है. 2014 बैच के आईपीएस सुरेंद्र दास को आईसीयू में एडमिट कराया गया है, जहां उनकी हालत नाजुक बनी हुई है. आशंका जताई जा रही है कि एसपी सिटी ने कोई जहरीला पदार्थ खाया है. हालांकि पूरे मामले में पुलिस के आलाधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं.

रीजेंसी हॉस्पिटल के चीफ मेडिकल सुपरिटेंडेंट राजेश अग्रवाल ने बताया कि एसपी सुरेंद्र दास को वेंटीलेटर पर रखा गया है. सुबह जब उन्हें लाया गया तो उनकी पल्स नही मिल रही थी. अगले कुछ घंटे काफी महत्वपूर्ण हैं. शाम को 4 बजे फिर मेडिकल बुलेटिन जारी होगा.

मामले में प्रभारी एसएसपी संजीव सुमन ने कहा कि एसपी सुरेंद्र दास की हालत काफी नाजुक है. प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक पारिवारिक कलह से वे परेशान थे. जांच के बाद स्थिति स्पष्ट होगी. उनके पास से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है.

मूल रूप से बलिया के रहने वाले सुरेंद्र कुमार लखनऊ में रहते हैं और अभी कुछ महीने पहले ही इनकी पोस्टिंग कानपुर के एसपी सिटी के तौर पर हुई थी. उन्हें देखने के लिए एडीजी अविनाश चंद्र और कमिश्नर सुभाष चंद्र वर्मा भी पहुंचे थे. दोनों ही अधिकारियों ने मीडिया से कोई भी बात नहीं की.

 



सूत्रों के हवाले से जो जानकारी मिल रही है उसमे कहा जा रहा है कि सुबह पांच बजे उनकी तबीयत बिगड़ी, जिसके बाद उन्हे हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया. कहा जा रहा है कि उन्होंने कोई जहरीला पदार्थ खाया है. हालांकि मामले में अभी कोई कुछ भी नहीं बोल रहा है. हॉस्पिटल के बाहर पुलिस के कई अफसर मौजूद हैं.

यह भी पढ़ें:

यूपी PWD घोटाला: 6 अफसरों पर कसा शिकंजा, निलंबन की संस्तुति

यूपी: प्रतियोगी परीक्षाओं में पेपर लीक करने वालों पर लगेगा रासुका

Teachers' Day 2018: बेहाल हैं यूपी के 1.7 लाख शिक्षामित्र, 700 की गई जान
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर