बजट के विरोध में सपाइयों ने निकाली रिक्शा रैली, पैसा मांगने पर चालकों को भगाया

रिक्शा चालकों ने मीडिया को दी जानकारी.

रिक्शा चालकों ने मीडिया को दी जानकारी.

कानपुर में केंद्रीय बजट के खिलाफ समाजवादी पार्टी ने विरोध प्रदर्शन के साथ-साथ रिक्शा रैली निकाली, लेकिन पार्टी के नेता और कार्यकर्ताओं ने चालकों को बिना पैसे दिए भगा दिया.

  • Share this:

कानपुर. 2020-21 का बजट आने के बाद विपक्षी दल लगातार केन्द्र सरकार को घेरने का काम कर रहे हैं. इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के कानपुर में भी समाजवादी पार्टी ने बजट के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया, लेकिन इसका खामियाजा रिक्शेवालों को भुगतना पड़ा. पार्टी कार्यकर्ताओं ने हाई वोल्टेज ड्रामा करते हुए रिक्शा चालकों का जमकर उत्पीड़न किया. विधायक अमिताभ बाजपेयी ने केंद्रीय बजट के खिलाफ सपाइयों के साथ शिक्षक पार्क से रिक्शा रैली निकलवाई. रैली से पहले सपाइयों ने पहले तो रिक्शा चालकों को पैसे की लालच देकर बुलवाया. लेकिन रैली के बाद उन्हें बगैर पैसे दिए चलता कर दिया.

सपा की रैली में शामिल होने वाले रिक्शा चालकों ने बताया कि घंटों इंतजार के बाद रैली निकली, मगर रिक्शेवालों को पैसे नहीं दिए गए. उल्टा सपाइयों ने रिक्शेवालों को भगा दिया. रिक्शा चालक जय किशोर व निब्बर का कहना है कि इस पूरी घटना में लगभग आधा दर्जन से अधिक रिक्शा चालकों का नुकसान हुआ. रैली में जाने के कारण दिनभर की कमाई भी नहीं हो पाई.

लगातार कर रहे विरोध

केन्द्र सरकार द्वारा पेश किए गए बजट का विपक्षी दल प्रदेशभर में विरोध कर रहे हैं. खासकर किसान आंदोलन को लेकर विपक्षी नेता केन्द्र सरकार पर लगातार हमले कर रहे हैं. इसके तहत ही कानपुर में समाजवादी पार्टी के नेता और कार्यकर्ताओं ने रिक्शा रैली निकाली थी. लेकिन रिक्शेवालों को पैसा दिए बिना भगाने का मामला सुर्खियों में आने से पार्टी की खूब किरकिरी हो रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज