Home /News /uttar-pradesh /

IT Raid on Piyush Jain: कौन है पीयूष जैन, जिसके घर से मिले 180 करोड़, जानें एक-एक जानकारी

IT Raid on Piyush Jain: कौन है पीयूष जैन, जिसके घर से मिले 180 करोड़, जानें एक-एक जानकारी

पीयूष जैन के घर पर करोड़ाें रुपये नकद मिलने के बाद अब हर तरफ यही चर्चा है कि आखिर ये शख्स है कौन.

पीयूष जैन के घर पर करोड़ाें रुपये नकद मिलने के बाद अब हर तरफ यही चर्चा है कि आखिर ये शख्स है कौन.

Kanpur IT Raid: कन्नौज का एक छोटा सा व्यापारी आखिर कुछ सालों में कैसे बन गया 'धनकुबेर', पीयूष जैन पर क्‍या हैं आरोप, कहां-कहां बना रखी है संपत्ति, ऐसे ही कुछ सवाल हैं जो इन दिनों चर्चा में हैं. इन सभी सवालों का जवाब और अब जैन पर क्या लगे हैं आरोप. इन्हीं को लेकर एक विस्तृत रिपोर्ट.

अधिक पढ़ें ...

    कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur News) में इत्र कारोबारी पीयूष जैन (Piyush Jain News) के घर मिले खजाने ने सबको चौंका दिया है. कानपुर के आनंदपुरी में पीयूष जैन के घर पड़े छापे में 180 करोड़ रुपये मिले. इन पैसों को गिनने में 36 घंटे से ज्यादा समय लगा और इस काम को 27 अधिकारियों ने अंजाम दिया. इतनी बड़ी मात्रा में कैश को गिनने के लिए 19 नोट गिनने वाली मशनें भी मंगवाई गईं. हालात ये थे कि पीयूष के घर अधिकारियों ने जहां भी नजर डाली वहीं से रुपये के बंडल निकलने लगे. अब लोगों के बीच चर्चा है कि ये पीयूष जैन है कौन और इतनी बड़ी मात्रा में नकद इसके पास आए कहां से. ये क्या व्यापार करता है, ऐसे ही कई सवाल हैं जो सभी जानना चाहते हैं.

    यह भी पढ़ें: Kanpur IT Raid: 36 घंटे, 27 अफसर, 19 मशीनें…नोट गिनते-गिनते छूटे पसीने, जानें कारोबारी पीयूष जैन के घर से कितने पैसे मिले

    कौन हैं पीयूष जैन
    दरअसल, पीयूष जैन कन्नौज और कानपुर का एक बड़ा इत्र व्यापारी है. पीयूष का जन्म कन्नौज में हुआ है और वहां पर भी इसका एक घर है. जैन 40 से ज्‍यादा कंपनियों का मालिक है और चौंकाने वाली बात ये है कि इसकी दो कंपनियां मिडिल ईस्ट में भी मौजूद हैं. कन्नौज में जैन की इत्र फैक्ट्री के साथ ही कोल्ड स्टोरेज और पेट्रोल पंप भी मौजूद हैं. पीयूष ने अपनी कंपनियों का हैडऑफिस मुंबई में बना रखा है और यहीं से इसकी कंपनी का इत्र विदेशों में एक्सपोर्ट होता है. जानकारी के अनुसार मुंबई में भी पीयूष का एक आलीशान आशियाना है.

    बिस्तर में भरे थे नोट
    जैन के घर आयकर विभाग और डीजीजीआई की टीम ने छापेमारी की और ये कार्रवाई करीब 36 घंटों तक चली. इस दौरान अधिकारियों को करीब 180 करोड़ रुपये नकद मिले. हालात ये थे कि दीवारों, अलमारियों के साथ ही नोटों की गड्डियां बिस्तरों में भी भरी हुई थीं. इतने रुपयों को ले जाने के लिए अधिकारियों को भी अच्छी खासी मेहनत करनी पड़ी और इसके लिए 80 बक्से मंगवाए गए. छापेमारी के दौरान घर के अंदर और बाहर दोनों जगह पुलिस बल को तैनात किया गया था.

    यह भी पढ़ें:Kanpur IT Raids: कारोबारी के घर 160 करोड़ के बाद तहखाना भी मिला! पैसे गिनते-गिनते थके अफसर, मशीन भी हो जा रही गर्म

    सामने आया GST चोरी का बड़ा खेल
    दरअसल, पीयूष जैन पर आरोप है कि उसने कई फर्जी फर्मों के नाम से बिल बनाकर करोड़ाें का जीएसटी चोरी किया. छापे में 200 से अधिक फर्जी इनवॉइस और ई-वे बिल मिले हैं. अब धिकारी इस बात का पता लगाने में जुटे हैं कि ये खेल पीयूष जैन कब से कर रहा था.

    सपा ने कहा हम से नहीं कोई संबंध
    पीयूष जैन का नाम समाजवादी पार्टी से भी जोड़ा जा रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पीयूष जैन ही वो व्यक्ति है जिसने समाजवादी इत्र बनाया था. इसके बाद से ही बीजेपी पूरे मामले को लेकर सपा पर हमलावर है. साथ ही पीयूष जैने को अखिलेश का करीबी भी बात रही है. हालांकि सपा ने इन सभी आरोपों को निराधार बताया है और कहा कि पीयूष का सपा या अखिलेश यादव किसी से भी कोई संबंध नहीं है.

    Tags: IT Raid, Kanpur news, Uttar pradesh news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर