अपना शहर चुनें

States

Lockdown: दूल्हा नहीं जुटा पाया साहस तो बारात लेकर ससुराल पहुंची दुल्हन, फिर..

दूल्हे की चाची की रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव (सांकेतिक फोटो)
दूल्हे की चाची की रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव (सांकेतिक फोटो)

लॉकडाउन (Lockdown) में जहां एक और सामूहिक कार्यक्रम, सभा और जलसा पर रोक लगी है तो वहीं कुछ शर्तों के साथ शादी (Marriage) में छूट भी दी गई है, लेकिन..

  • Share this:
कानपुर. लॉकडाउन (Lockdown) में जहां एक और सामूहिक कार्यक्रम, सभा और जलसा पर रोक लगी है तो वहीं कुछ शर्तों के साथ शादी (Marriage) में छूट भी दी गई है, मगर फिर भी कुछ साहस जुटा पाते हैं और कुछ नहीं. ऐसा ही एक मामला देखने को मिला उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) के चौबेपुर के मोहनपुर गांव में, जहां अनोखी शादी का नजारा देखने के लिए आसपास के गांव से लोग आए. यहां ग्राम प्रधान से शादी करने दुल्हन खुद परिवार संघ उसके घर पहुंच गई. मास्क लगाकर जोड़े ने फेरे लिए और एहतियात के तौर पर पूरे मोहल्ले का सैनिटाइजेशन किया गया.

लॉकडाउन क बीच हुई इस अनोखी शादी की चर्चा आस-पास के गांव में हो रही है. मोहनपुर गांव में पंचायत से प्रधान वीरेंद्र कुमार की शादी अलग ही ढंग से हुई. आम तौर पर दूल्हा बारात संग दुल्हन को लेने जाता है, मगर लॉकडॉउन के चलते प्रधान साहस नहीं जुटा पाया, जबकि बारात 2 किलोमीटर दूर ही जानी थी, मगर लॉकडाउन में कल्याणपुर के गोवा गार्डन निवासी दुल्हन कंचन सुबह ही अपने माता पिता गोपीचंद और कुछ चुनिंदा रिश्तेदारों के साथ विवाह संपन्न कराने दूल्हे के घर पहुंच गईं.

मंडप को कराया सैनिटाइज
दुल्हन के स्वागत के लिए दूल्हे ने गांव के प्रवेश द्वार से लेकर घर में बने मंडप तक को कई बार सैनिटाइजेशन कराया. शादी में शामिल हुए रिश्तेदार मास्क और शारिरिक दूरी का पालन करते दिखे. खुद को दूल्हे ने दुल्हन पक्ष के लोगों के हाथ सैनिटाइज करवाकर उनका अभिवादन किया. मंडप में होने वाले विधि विधान के दौरान दूल्हा-दुल्हन सभी रस्मों को अदा किया है. दूल्हे विरेंद्र कुमार ने बताया कि लॉक डाउन की वजह से वह समझ नहीं पा रहे थे कि बारात कैसे लेकर जाएं, कितने लोग साथ होंगे. जब उसने इसकी चर्चा दुल्हन कंचन से की. इसके बाद दुल्हन खुद बारात लेकर दूल्हे के घर पहुंच गई.
पहले से तय थी शादी


दुल्हन के पिता गोपीचंद ने बताया की शादी पूर्व ही तय हो चुकी थी. क्योंकि लॉक डाउन के दौरान तमाम बंदिशें थी. इसलिए नियम कानून का पालन करते हुए बड़ी सादगी से शादी की है. जब दुल्हन के पिता से पूछा गया कि आप लोग बारात लेकर क्यों पहुंचे तो उन्होंने बताया दूल्हा साहस नहीं जुटा पा रहा था बारात लाने के लिए और शायद संकोच भी कर रहा था. इसपर बेटी कंचन ने आग्रह किया कि हम लोग चलते हैं बारात लेकर और ऐसे शादी संपन्न हुई.

ये भी पढ़ें:
राजस्थान में हवाई यात्रा आज से शुरू, इन बातों का रखना होगा ख्याल, एक क्लिक में पढ़ें- सरकार की गाइडलाइन

₹500 करोड़ के स्पेशल पैकेज में से इन किसानों आर्थिक मदद देगी बिहार सरकार, जानें- कैसे आप भी ले सकते हैं लाभ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज