लाइव टीवी

कानपुर: बैंक से गायब हुए खाता धारकों के करोड़ों रुपये, पैसे चुकाने स्टाफ पर बनाया जा रहा दबाव
Kanpur News in Hindi

Amit Ganjoo | News18 Uttar Pradesh
Updated: March 14, 2020, 1:45 PM IST
कानपुर: बैंक से गायब हुए खाता धारकों के करोड़ों रुपये, पैसे चुकाने स्टाफ पर बनाया जा रहा दबाव
पैसे गायब होने से परेशान हैं खाता धारक

कानपुर में बैंक आफ इंडिया (Bank Of India) की एक शाखा से खाता धारकों को बिना बताये करोड़ों रुपये गायब कर दिये गये. इस बात का खुलासा तब हुआ, जब खाताधारक पैसा निकालने बैंक पहुंचे, जिसके बाद खाता धारकों में हड़कम्प मच गया.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर में बैंक आफ इंडिया की महाराजपुर शाखा में हुए इस फर्जीवाड़े में बैंक के दो कर्मचारी और शाखा प्रबंधक (Branch Manager) संलिप्त पाए गए जिसके बाद शाखा प्रबंधक मनीष सागर को हटा दिया गया. दरअसल शाखा में अस्थायी कर्मचारियों के सहयोग से करीब दो करोड़ रुपये की हेराफेरी की गई है. खाता धारकों की इस रकम की भरपाई के लिये बैंक के स्टाफ पर एक करोड़ रुपये चुकाने का दबाव बनाया जा रहा है.

आरोपी शाखा प्रबंधक को हटाने के बाद भी गायब हो रहे पैसे
दरअसल इस पूरे मामले की शिकायत खाता धारकों ने जोनल प्रबंधक प्रशांत सिंह से की तो उन्होंने मामले को संज्ञान मे लेते हुए उन्होने जांच कराई. जांच में शाखा प्रबंधक को दोषी पाया गया, जिसके बाद उन्हे हटा दिया गया. दिलचस्प बात यह है कि करीब 2 करोड़ रुपये के फर्जीवाङे के बाद भी प्रबंधन की ओर से पुलिस मे शिकायत नहीं दर्ज कराई गई है, इस बीच मामले में लिप्त पाए गए बैंक के 2 अस्थायी कर्मचारी भी गायब हो गये हैं. बताया जा रहा कि अभी भी खाता धारकों के खातों से रकम गायब होने का सिलसिला जारी है. दो खाता धारकों के खातों से 9 लाख रुपये गायब होने के आरोप लग रहे हैं. बैंक आफ इंडिया की इस ब्रांच से अब तक दर्जनो खातों से करीब 2 करोड़ रुपये की हेराफेरी का मामला सामने आया है.

इन खाता धारकों के पैसे हुए गायब



हाथीपुर गांव के रहने वाले सोनू यादव भीम यादव और उनकी मां राधादेवी का खाता बैंक आफ इंडिया मे है. जब तीनों ने अपने खाते मे जांच कराई तो सोनू यादव के खाते में जमा दो लाख 85 हजार रुपये गायब पाए गए. जांच में पता चला कि खाते से 1 जनवरी को 120,000 रुपये और 03 मार्च को 160,000 रुपये निकले थे, जबकी सोनू और उनके परिवार का कहना है कि उन्होंने अपने खाते से एक रुपया भी नहीं निकाला है. वहीं गांव के रहने वाले सुक्खा यादव के खाते से भी 4 लाख रुपये गायब कर दिये गये हैं. इस मामले की शिकायत बैंक मैनेजर के साथ-साथ थाना महाराजपुर में भी की गई है. हालांकि बैंक ने अभी तक कोई भी शिकायती पत्र थाने में नही दिया है.



विजिलेंस विंग के अफसर कर रहे जांच
जोनल प्रबंधक प्रशांत सिंह का कहना है कि लखनऊ से बैंक की विजलेंस विंग के अफसर मामले की जांच कर रहे हैं. सभी खातों को खंगाला जा रहा है. अब तक 9 संदिग्ध खातों की सूची तैयार की गयी है. जल्द ही और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी.

ये भी पढ़ें -
लखनऊ: आरोपियों के पोस्टर लगाने के बाद योगी सरकार को इसलिए लाना पड़ा अध्यादेश
कानपुर: नेवी से रिटायर्ड पिता पर नाबालिग बेटियों ने लगाया रेप के प्रयास का आरोप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 14, 2020, 1:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading