हाईप्रोफाइल ज्योति हत्याकांड: मुख्य आरोपी पीयूष श्यामदासानी को HC से मिली जमानत

मुख्य आरोपी पीयूष श्यामदासानी को HC से मिली जमानत (File photo)
मुख्य आरोपी पीयूष श्यामदासानी को HC से मिली जमानत (File photo)

पति की बेवफाई की शिकार कानपुर की ज्योति (Jyoti) की दुखों का अंत बेहद ही दर्दनाक रहा. जिंदा रहते जहां उसे पति का प्यार नहीं मिला.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 22, 2020, 7:46 AM IST
  • Share this:
कानपुर. यूपी के कानपुर में चर्चित हाईप्रोफाइल ज्योति हत्याकांड (Jyoti Murder Case) का मुख्य अभियुक्त पीयूष श्यामदासानी को इलाहाबाद हाई कोर्ट (Allahabad High Court) से जमानत मिल गई है. इससे पहले पीयूष की प्रेमिका मनीषा मखीजा को जमानत पर रिहा किया गया था. पीयूष बड़े बिस्कुट कारोबारी का बेटा है जो पत्नी की हत्या के जुर्म में जेल काट रहा है. आपको बता दें कि सन 2014 में पीयूष ने अपने ड्राइवर और नौकरों के साथ मिलकर अपनी पत्नी ज्योति की हत्या कर दी थी.

उसके बाद हत्या की वारदात को लूट के लिए की गई हत्या साबित करने का प्रयास किया था. बाद में पुलिस ने हत्यारे पीयूष और उसके साथ हत्या में शामिल लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. उसने हत्या की वारदात को दूसरी शादी करने के लिए अंजाम दिया था. उस समय शहर के बड़े कारोबारी घराने से जुड़ी यह घटना मीडिया की सुर्खियां बनी रहीं थीं.

ये भी पढे़ं- UP: अनुशासनहीनता को लेकर सीएम योगी सख्त, संभल के CDO को किया निलंबित



पति की बेवफाई की शिकार कानपुर की ज्योति की दुखों का अंत बेहद ही दर्दनाक रहा. जिंदा रहते जहां उसे पति का प्यार नहीं मिला और इस दुनिया से रूखसत होने से पहले उसने जिंदगी के बेइंतहा दंश झेले. ज्योति ने खुद एक डायरी में अपने दुखों को उड़ेला था. कानपुर पुलिस को मिली ज्योति की एक निजी डायरी से पता चलता है कि हत्यारे करोड़पति बिस्कुट व्यापारी पीयूष श्याम दासानी की पत्नी ज्योति के शादी के पहले दिन से ही संबंध ठीक नहीं थे.
मौत से पहले लिखी डायरी

पुलिस सूत्रों के अनुसार ज्योति ने डायरी में लिखा है कि दुनिया की निगाह में मैं पीयूष की पत्नी हूं, किससे कहूं और कैसे कहूं कि मैं पत्नी नहीं, पत्नी जैसी हूं (आई एम हिज सो काल्ड वाइफ) उसने मुझे कभी पत्नी का दर्जा नहीं दिया. वह मुझे कुछ समझता ही नहीं है, न जाने क्यों वह मुझसे नफरत करता है, लेकिन परिवार की बदनामी के डर से मैंने यह बात किसी को नहीं बताई और हमेशा पत्नी की भूमिका निभाती रही. ज्योति ने आगे लिखा है, पीयूष मुझे मानसिक रूप से सताने का कोई मौका नहीं छोड़ता.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज