होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /कानपुर को मिली Metro की सौगात, अब दूसरे शहरों में भी उम्मीद बढ़ी, गोरखपुर में लाइट मेट्रो की तैयारी

कानपुर को मिली Metro की सौगात, अब दूसरे शहरों में भी उम्मीद बढ़ी, गोरखपुर में लाइट मेट्रो की तैयारी

कानपुर में मेट्रो की शुरुआत होने के बाद प्रदेश के अन्य शहरों में भी मेट्रो की उम्मीद बढ़ गई है.

कानपुर में मेट्रो की शुरुआत होने के बाद प्रदेश के अन्य शहरों में भी मेट्रो की उम्मीद बढ़ गई है.

गोरखपुर में लाइट मेट्रो चलाने में सिर्फ एक कदम की दूरी है यानी केन्द्रीय कैबिनेट की सीसीए कमेटी जैसे ही इसे अप्रूव करेग ...अधिक पढ़ें

कानपुर. शहर को मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मेट्रो की सौगात दी. कानपुर में मेट्रो की शुरुआत होने के बाद प्रदेश के अन्य शहरों में भी मेट्रो की उम्मीद बढ़ गई है. गोरखपुर को प्रदेश सरकार ने मेट्रोपोलिटेन सिटी का दर्जा भी दे दिया है. यहां पर भी लाइट मेट्रो चलाने की तैयारी है. इसके लिए उत्तर प्रदेश की तरफ जितनी भी कागजी कार्यवाही होती है वो पूरी कर ली गई है.

साथ ही सेन्ट्रल में पब्लिक इन्वेस्टमेंट बोर्ड (पीआईबी) की भी मंजूरी मिल चुकी है. 1 दिसम्बर को इसकी मंजूरी मिलने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्विट करते हुए लिखा था कि गोरखपुर में ‘मेट्रो सेवा’ आरंभ करने की प्रक्रिया तीव्र गति से बढ़ रही है. इसी कड़ी में पब्लिक इन्वेस्टमेंट बोर्ड (PIB) की बैठक में ‘गोरखपुर मेट्रोलाइट रेल प्रोजेक्ट’ के फेज-1 हेतु अप्रूवल मिल गया है. सभी को बधाई! आदरणीय प्रधानमंत्री जी का हार्दिक आभार…

गोरखपुर में लाइट मेट्रो चलाने में सिर्फ एक कदम की दूरी है यानी केन्द्रीय कैबिनेट की सीसीए कमेटी जैसे ही इसे अप्रूव करेगी. गोरखपुर में लाइट मेट्रो के निर्माण को काम शुरू हो जाएगा. गोरखपुर में लाइट मेट्रो के लिए 4589 करोड़ रुपये की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट पहले ही भेजी जा चुकी है. यूपी सरकार ने बजट में पहले से ही गोरखपुर और वाराणसी में मेट्रो ट्रेन के लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था कर रखी है.

आपके शहर से (कानपुर)

कानपुर
कानपुर

गोरखपुर शहर में तीन डिब्बे वाली लाइट मेट्रो चलाने की तैयारी है. राइट्स और लखनऊ रेल मेट्रो कॉर्पोरेशन ने डीपीआर तैयार किया था. मेट्रो के लिए दो रूट तय किये गए हैं. पहला रूट 15.14 किमी लंबा होगा, जो श्यामनगर से मदनमोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विवि तक का होगा. इस पर कुल 14 स्टेशन होंगे.

दूसरा रूट गुलरिहा से शुरू होगा. जो नौसढ़ तक जाएगा. इस रूट पर कुल 12 स्टेशन होंगे. मेट्रो परियोजना की घोषणा के साथ ही बजट जुटाने पर काम शुरू हो गया था. शासन की तरफ से गोरखपुर के स्थानीय निकायों से 200 करोड़ रुपये का योगदान देने को कहा गया था. जिसमें से गोरखपुर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष प्रेम रंजन सिंह ने 50 करोड़ रुपये देने की बात कही है. वहीं नगर निगम और आवास विकास परिषद पैसा देने में असमर्थता जता दी थी.

Tags: Kanpur Metro

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें