लाइव टीवी

कानपुर में गंगा के बीच आज लगेगी PM मोदी की क्लास, ‘नमामी गंगे’ पर करेंगे मंथन

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 14, 2019, 7:57 AM IST
कानपुर में गंगा के बीच आज लगेगी PM मोदी की क्लास, ‘नमामी गंगे’ पर करेंगे मंथन
मां गंगा की धार पर PM मोदी की क्लास फाइल फोटो, PTI)

नेशनल गंगा कांउसिल की पहली बैठक में 12 केंद्रीय मंत्री, नौ केंद्रीय विभागों के सचिव, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री शामिल होंगे. सूत्रों के मुताबिक अपने दौरे में प्रधानमंत्री ‘नमामी गंगे’ परियोजना को लेकर कुछ घोषणाएं भी कर सकते हैं.

  • Share this:
कानपुर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज यानी शनिवार को कानपुर (Kanpur) के दौरे पर आ रहे हैं. पीएम मोदी शहर में ‘नमामी गंगे’ (Namami Gange) की परियोजनाओं का हाल और उसमें गिर रहे नालों का जायजा लेंगे. जानकारी के मुताबिक गंगा नदी (River Ganges) की बीच धारा में पीएम मोदी (PM Modi) तीन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक लेंगे. यहां से प्रधानमंत्री अटल घाट जाएंगे, जहां से वो विशेष नौका में बैठकर गंगा में गिर रहे नालों का हाल देखेंगे. दरअसल ‘नमामी गंगे’ परियोजना की समीक्षा करने और पवित्र नदी पर योजना के प्रभाव देखने के लिए प्रधानमंत्री मोदी कानपुर में गंगा नदी में नौकायन करेंगे.




12 केंद्रीय मंत्री समेत तीन राज्यों के CM होंगे शामिल

इस क्रम में शनिवार को होने वाली नेशनल गंगा कांउसिल की पहली बैठक में 12 केंद्रीय मंत्री, नौ केंद्रीय विभागों के सचिव, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री शामिल होंगे. सूत्रों के मुताबिक अपने दौरे में प्रधानमंत्री ‘नमामी गंगे’ परियोजना को लेकर कुछ घोषणाएं भी कर सकते हैं. पीएम मोदी के इस दौरे को देखते हुए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. प्रधानमंत्री कानपुर में लगभग साढ़े चार घंटे रहने के बाद वापस दिल्ली लौट जाएंगे.


यूपी के शहरी विकास विभाग के प्रमुख सचिव मनोज कुमार सिंह ने बताया कि कानपुर में गंगा नदी में सभी 16 नालों से बहने वाले 300 एमएलडी को गुरुवार रात से स्थायी रूप से बंद कर दिया गया है. वहीं नदियों में प्रदूषक तत्वों को डालने वाले सीवर और नालियों के बंद होने से नदी के जल में उल्लेखनीय परिवतर्न नजर आएगा.

 सीसामऊ नाला का करेंगे भ्रमण

कानपुर में गंगा नदी की स्थिति को बद से बदतर करने वाला सीसामऊ नाला अब टैप हो चुका है. यह नाला रोजाना 145 एमएलडी जहर गंगा में उड़ेलता था लेकिन उसकी धारा अब बंद हो चुकी है. लंबे संघर्ष के बाद अधिकारियों ने इस नाले को बंद करने मे सफलता पायी है. नमामी गंगे योजना के तहत इस नाले को बंद किया गया है. पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस नाले पर खड़े होकर सेल्फी ली थी. वर्ष 2017 में इसको बंद करने का कार्य शुरू किया गया था, और दो साल बाद अब इस नाला को बंद करने में सफलता मिली है. 63.80 करोड़ रुपये की लागत से यह कार्य किया गया है.

गुरुवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने कानपुर का दौरा कर यहां चल रहे नमामि गंगे कार्यों का जायजा लिया था (फोटो: पीटीआई)


गंगा नदी रहेगी साफ

ट्रीटमेंट प्लांट के बन जाने से टेनरी मालिकों को भी राहत मिलेगी और गंगा नदी में गिरने वाले प्रदूषण पर भी रोक लग सकेगी. बता दें कि जाजमऊ में 400 से अधिक टेनरियां हैं. वाजिदपुर में अभी 36 एमएलडी का कॉमन सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट है, इसमें टेनरियों के नौ एमएलडी का ट्रीटमेंट प्लांट है. जबकि टेनरी से इसका तीन गुना केमिकल युक्त पानी निकलता है. पानी अधिक और क्षमता कम होने की वजह से शोधन नहीं हो पा रहा था और इन टेनरियों को दिसंबर में कुंभ से पहले बंद कर दिया गया था.

ये भी पढ़ें:

CM योगी आदित्यनाथ का ऐलान, यूपी में बनेगी फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 14, 2019, 5:18 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर