लाइव टीवी

कानपुर: सरकारी अस्पताल में महिला ने जेवर गिरवी रखकर कराया प्रसव

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 13, 2019, 7:48 AM IST
कानपुर: सरकारी अस्पताल में महिला ने जेवर गिरवी रखकर कराया प्रसव
महिला द्वारा जेवर गिरवी रखकर प्रसव कराने का मामला सामने आया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

गौरन निवादा की रहने वाली रश्मि को दो दिन पूर्व प्रसव पीड़ा शुरू हो गई थी. परिजन उन्हें शिवराजपुर सीएचसी (Shivrajpur CHC) लेकर पहुंचे. आरोप है कि स्टाफ नर्स और दूसरे कर्मचारियों ने तत्‍काल 5 हजार रुपयों का इंतजाम करने को कहा था.

  • Share this:
कानपुर. कानपुर जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिवराजपुर में सिजेरियन प्रसव के लिए गर्भवती से 5 हजार रुपये की वसूली का मामला सामने आया है. पैसा न होने पर गर्भवती को कान से सोने के टॉप्स उतार कर गिरवी रखना पड़ गया. मामला सामने आने के बाद कानपुर के सीएमओ डॉ. अशोक शुक्ला ने चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अनुज दीक्षित को छानबीन के निर्देश दिए हैं.

दरअसल, गौरन निवादा की रहने वाली रश्मि को दो दिन पूर्व प्रसव पीड़ा शुरू हुई. परिजन उन्हें शिवराजपुर सीएचसी लेकर पहुंचे. रश्मि की मां कलावती के अनुसार, स्टाफ नर्स और दूसरे कर्मचारियों ने कहा कि इंतजार करो, सामान्य डिलीवरी हो जाएगी. उनका आरोप है कि शनिवार को अचानक अस्पताल के कर्मचारियों ने कहा कि 15 मिनट के अंदर सीजेरियन करना होगा, नहीं तो जच्चा-बच्चा दोनों की जान को खतरा है.

सोने का कुंडल रखकर सूदखोर ने दिए रुपये

डॉक्‍टरों ने तत्‍काल पांच हजार रुपए की व्‍यवस्‍था करने को कहा. कलावती ने बताया, 'मेरे पास पैसे नहीं थे. मैंने कहा कि मुझे कहीं और से रुपयों का इंतजाम करना होगा. इस पर अस्‍पताल के कर्मचारियों ने तुरंत इंतजाम करने को कहा. उन्‍होंने कहा कि जो गहने पहने हो, उसे गिरवी रख दो. बेटी ने कुंडल पहन रखे थे. कर्मचारी ने साहूकार को अस्‍पताल में ही बुलवा लिया. साहूकार ने कुंडल निकलवा लिए और 5 हजार रुपए देकर चला गया. रुपए देने के बाद बेटी का सीजेरियन किया गया.'

सीएमओ ने दिए जांच के निर्देश

सरकार अस्‍पताल में इस तरह का मामला उजागर होने के बाद स्‍वास्‍थ्‍य महकमा जागा. कानपुर के सीएमओ डॉ. अशोक शुक्ला ने बताया कि चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अनुज दीक्षित को जांच के आदेश दिए गए हैं. सीएमओ के मुताबिक, अगर महिला कुंडल गिरवी कराने वाले कर्मचारी की पहचान कर लेती है, उसे पूरी कीमत देनी होगी. उन्होंने कहा कि इस मामले की पड़ताल एसीएमओ डॉ. एके सिंह अलग से करेंगे. वहीं, केंद्र अधीक्षक ने अधिकारियों को बताया कि सफाईकर्मी ने 200 रुपये मांगे थे, जो वापस करा दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें:
Loading...

लखनऊ एयरपोर्ट: जब फ्लाइट में बम की सूचना से घबरा गए सैकड़ों पैसेंजर...

BJP ने दिया अखिलेश को जवाब- राजनीतिक हताशा का परिणाम हैं ये आरोप

यूपी: हरदोई में दबंगों ने होटल में घुसकर की मारपीट, CCTV कैमरे में कैद हुई वारदात

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 7:19 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...