लाइव टीवी

कानपुर: चमनगंज में फिर तनाव के हालात, सड़क पर उतरी हजारों मुस्लिम महिलाएं

Amit Ganjoo | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 10, 2020, 10:42 PM IST
कानपुर: चमनगंज में फिर तनाव के हालात, सड़क पर उतरी हजारों मुस्लिम महिलाएं
मोहम्मद अली पार्क में चल रहा है सीएए कि खिलाफ धरना.

कानपुर के चमनगंज स्थि‍त मोहम्मद अली पार्क (Mohammad Ali Park) में सीएए (CAA), एनआरसी और एनपीआर के विरोध महिलाओं के धरना प्रदर्शन चल रहा है. इससे पूरे इलाके में तनाव का माहौल बन गया है. जबकि जिला प्रशासन ने वहां पुलिस फोर्स और बढ़ा दी है.

  • Share this:
कानपुर. उत्‍तर प्रदेश के कानपुर के चमनगंज स्थि‍त मोहम्मद अली पार्क (Mohammad Ali Park) में सीएए (CAA), एनआरसी और एनपीआर के विरोध महिलाओं के धरना प्रदर्शन चल रहा है. हालांकि 33वें दिन धरना खत्म होने की खबर से प्रशासन को राहत मिलने वाली थी, लेकिन महिलाओं के इरादा बदलने से हालात फिर खराब हो गए हैं. यही नहीं, महिलाओं ने जब रविवार रात दुबारा प्रदर्शन शुरू किया तो जिला प्रशासन ने सख्‍त रूख अपनाने की कोशिश की, जिससे मुस्लिम इलाके में और तनाव बढ़ गया है.

जिला प्रशासन करता रहा ये प्रयास
सीएए को लेकर फिर शुरू हुए धरने को लेकर चमनगंज के साथ-साथ पूरे शहर में ना सिर्फ बेचैनी बल्कि मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में बंद दिखाई दिया. हालांकि महिलाओं से बात करने की प्रशासन रात तीन बजे तक कोशिश करता रहा, लेकिन वह अपनी अपनी मांगों पर अड़ी रहीं.

सुबह 5 बजे पार्क खाली कराया, लेकिन...

हालांकि सुबह पांच बजे एक वक्त ऐसा भी आया जब पुलिस प्रशासन ने महिलाओं से पार्क को खाली करा कर सारा समान बाहर कर दिया. इसके बाद पूरे इलाके में पुलिस की मौजूदगी बढ़ा दी गई. लेकिन कुछ घंटे बाद देखते-देखते एक बार फिर हजारों की तादाद में महिलाएं सड़क पर आकर बैठ गईं और पुलिस को पीछे हटना पड़ा.

महिलाओं की ये है मांग
पुलिस कप्तान अन्नत देव व डीएम बी देव ने महिलाओं से बात की, लेकिन उनकी मांग है कि नोटिस भेजकर लोगों को मुकदमे में फंसाने की कवायद को रोका जाए, तभी कोई बात होगी. इसके बाद पुलिस ने पुलिस महिलाओं को पार्क में जाने की इजाजत दे दी, लेकिन वह सड़क पर ही बैठ गई हैं. इसके बाद इलाके के साथ पूरे शहर में पुलिस बल, आरएएफ व पीएसी को भारी संख्‍या में तैनात किया गया है.शाहीन बाग बना चमनगंज
कानपुर के चमनगंज के मोहम्मद अली पार्क के बाहर से अजमेरी होटल चौराहे तक हजारों की तादाद मे मुस्लिम महिलाएं घरों से चादर लाकर सड़क पर बच्चों के साथ बैठ गई हैं. जबकि रस्सी से रास्ते को बन्द कर दिया गया. अब वहां भी हालात दिल्‍ली के शाहीन बाग जैसे बन गए हैं.

डीआईजी ने कही ये बात
डीआईजी अन्नत देव का कहना है कि धरना खत्म कराने का क्रेडिट लेने के लिए ग्रुपबाजी का शिकार ये प्रदर्शन बन गया है. जबकि महिलाओं व बच्चों की होने की वजह से किसी तरह का एक्शन नहीं लिया गया है.

 

ये भी पढ़ें-

सावधान! सोशल साइट्स के जरिए फ्रॉड किया तो 'COP TALK 2.0' से होंगे बेनकाब



अब प्रियंका गांधी करेंगी आजमगढ़ का दौरा, निशाने पर होंगे BJP और अखिलेश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 10:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर