होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Political News : स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान पर घमासान जारी, कानपुर में जनसंघ पार्टी ने रखा नया इनाम

Political News : स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान पर घमासान जारी, कानपुर में जनसंघ पार्टी ने रखा नया इनाम

जनसंघ पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री राकेश दीक्षित ने उनके ऊपर एक जूता मारने पर 1 लाख और उससे अधिक जूते मारने पर प्रति ज ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- अखंड प्रताप सिंह, कानपुर

कानपुर: रामचरित मानस को लेकर विवादित बयान देने वाले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव स्वामी प्रसाद मौर्य चारों तरफ से घिरते नजर आ रहे हैं. उनके ऊपर कानपुर में एक नया इनाम भी घोषित कर दिया गया है. जी हां, उनके ऊपर प्रति जूता 1 लाख का इनाम घोषित किया गया है यह इनाम जनसंघ पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री राकेश दीक्षित ने किया है.

आपको बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा रामचरितमानस पर दिए गए बयान के बाद पूरे देश भर में उनके खिलाफ विरोधी सुर गूंज रहे हैं. देश में चारों और उनके खिलाफ धरने पर दर्शन दिए जा रहे है. कई सामाजिक और धार्मिक संगठनों ने उनके खिलाफ जमकर हंगामा काटा है. वहीं अयोध्या के हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास में उनके ऊपर ₹21 का इनाम भी घोषित किया हुआ है. इसी बीच अब कानपुर में उनके ऊपर एक नया इनाम घोषित किया गया है.

आपके शहर से (कानपुर)

कानपुर
कानपुर

जनसंघ पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री राकेश दीक्षित ने उनके ऊपर एक जूता मारने पर 1 लाख और उससे अधिक जूते मारने पर प्रति जूता लाख का इनाम घोषित किया है. उन्होंने कहा कि अगर उन्हें वह खुद मिल जाते हैं तो वह खुद उनको जूतों से मारेंगे.

स्वामी प्रसाद के खिलाफ शिकायती पत्र

जनसंघ पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बर्रा थाने में स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान पर उनके खिलाफ शिकायती पत्र सौंपा है और स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ एफ आई आर दर्ज करने की मांग की है. जनसंघ पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री राकेश दीक्षित ने कहा कि रामचरितमानस हिंदुओं की आस्था का प्रतीक है. अगर कोई सनातन धर्म को ठेस पहुंचाने की कोशिश करता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.

स्वामी प्रसाद मौर्य ने हमारे धार्मिक ग्रंथ को प्रतिबंधित करने की मांग की है लिहाजा फौरन एफआईआर दर्ज कर जेल भेजना चाहिए. वह हिंदू समाज के गुनाहगार हैं उन्होंने रामचरितमानस की प्रतियां जलाने का भी पाप किया है जो अक्षम में है. ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए.

Tags: Kanpur news, Uttarpradesh news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें