पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से नाराज सपा कार्यकर्ताओं का अनूठा प्रदर्शन, खूब चलाया रिक्शा, जमकर की नारेबाजी

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किया  विरोध-प्रदर्शन
पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किया विरोध-प्रदर्शन

कोरोना संकट (Coronavirus Pandemic) के समय वैश्विक स्तर पर क्रूड आयल (Crude Oil) के दामों में भारी गिरावट देखी गई लेकिन भारत में खुदरा पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कमी तो दूर की बात उलटा अनलॉक (Unlock-1) शुरू होते ही पेट्रोल-डीजल की कीमतों में रोज बढ़ोतरी हो रही है

  • Share this:
कानपुर. पेट्रोल-डीजल (petrol and diesel) की बढ़ती कीमतों को लेकर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के कार्यकर्ताओं ने जनपद में अनोखा विरोध-प्रदर्शन (Protest) शुरू किया. सड़कों पर समाजवादी पार्टी के झंडे लगे रिक्शों को देख कर पहले तो लोगों को आश्चर्य हुआ लेकिन जब माजरा समझ आया तो इस मुफ्त सेवा का लुत्फ उठाते लोग भी नजर आए. कोरोना संकट (Coronavirus Pandemic) के समय वैश्विक स्तर पर क्रूड आयल (Crude Oil)  के दामों में भारी गिरावट देखी गई लेकिन भारत में खुदरा पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कमी तो दूर की बात उलटा अनलॉक (Unlock-1) शुरू होते ही पेट्रोल-डीजल की कीमतों में रोज बढ़ोतरी हो रही है.

हर दिन बढ़ रहे पेट्रोल -डीजल के दाम
विरोध-प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों का कहना है कि अब आलम यह है कि कोई ऐसा दिन नहीं जब पेट्रोल और डीजल के दाम ना बढ़े हों. चारों तरफ से मंहगाई की मार झेल रहा आम आदमी इन बढ़ती कीमतों से परेशान है. इस बढ़ती कीमतों में जैसे-तैसे लोग गाड़ियों में फ्यूल भरवा रहे हैं मगर राजनीतिक दल इस मुद्दे पर सरकार को घेरने में जुटे हुए हैं. इस मामले को लेकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने विरोध का एक नायाब तरीका निकाला. यहां कानपुर शहर के व्यस्ततम इलाके नौबस्ता बाईपास से लेकर कई स्थानों पर समाजवादी युवजन सभा के कार्यकर्ताओं ने खुद रिक्शा चलाया और यात्रियों को फ्री में सेवाएं दी. रिक्शों पर समाजवादी पार्टी के झंडों को बांधकर समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी और समर्थक रिक्शा चालक की भूमिका में नजर आए. सपा के पूर्व विधायक सतीश निगम के मुताबिक पेट्रोल और डीजल की बढ़ी कीमतों का विरोध दर्ज करने के लिए रिक्शा चलाकर यह बताने का प्रयास किया गया है कि यदि पेट्रोल और डीजल की कीमत इसी प्रकार बढ़ती रही तो वह दिन दूर नहीं कि हर आम नागरिक अब फिर से रिक्शे पर ही लौट आएगा.

ये भी पढ़ें-COVID-19: रैपिड किट से होगी कोरोना संदिग्धों की जांच, 1 घंटे में आएगी रिपोर्ट




बता दें कि समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक सतीश निगम के नेतृत्व में पदाधिकारियों ने शहर के नौबस्ता बाईपास पर अपना ये अभियान चलाया. कोरोना महामारी के संकट को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा गया और सभी ने मास्क लगाया. उसके बाद अचानक एक-एक करके समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने वहां खड़े रिक्शों के आगे समाजवादी पार्टी का झंडा लगाकर रिक्शा चलाना शुरु कर दिया और सड़क के किनारे खड़े यात्रियों को उसमें बैठाना शुरू कर दिया और पूरे रास्ते नारा पेट्रोल की कीमतें वापस लो का नारा लगाते दिखे. सपा नेता और पूर्व विधायक सतीश निगम ने कहा कि जिस प्रकार से पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ रही हैं वह दिन दूर नहीं कि लोग अपनी बाइक, कार और स्कूटर को घरों के अंदर खड़ी करके बसों और रिक्शा के माध्यम से सड़कों पर निकलने के लिए मजबूर हो जाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज