अपना शहर चुनें

States

कानपुर: लव जिहाद के 14 मामलों में SIT ने सौंपी रिपोर्ट, पहचान छिपाकर आरोपियों ने लड़कियों को फंसाया

कानपुर के जूही कॉलोनी और नौबस्ता इलाके में लव जिहाद के कई मामले सामने आए थे. जिसके बाद एसआईटी जांच का आदेश दिया गया था.
कानपुर के जूही कॉलोनी और नौबस्ता इलाके में लव जिहाद के कई मामले सामने आए थे. जिसके बाद एसआईटी जांच का आदेश दिया गया था.

आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि एसआईटी (SIT) ने लव जिहाद (Love Jihad) के इन मामलों में पाया कि 4 लड़के आपस में एक-दूसरे के संपर्क में थे. इन्होंने दूसरे धर्म की लड़कियों से छल कर निकाह किया.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर में लव जिहाद (Love Jihad) के मामलों में गठित एसआईटी (SIT) ने आईजी रेंज को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. एसआईटी ने 14 मामलों को अपनी जांच में शामिल किया था, जिनमें 11 मामलों में पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है. जबकि 3 मामलों में बालिग लड़कियों ने लड़कों के पक्ष में बयान दिया. जिसके चलते इन 3 मामलों में फाइनल रिपोर्ट लगा दी गयी है.

आईजी जोन मोहित अग्रवाल ने बताया कि एसआईटी ने लव जिहाद के इन मामलों में पाया कि 4 लड़के आपस में एक-दूसरे के संपर्क में थे. इन्होंने दूसरे धर्म की लड़कियों के साथ छल कर उनके साथ निकाह किया. इसके अलावा तीन मामलों में आरोपी लड़कों ने अपना हिंदू नाम बताकर लड़कियों को अपने जाल में फंसाया.

हालांकि बतौर आईजी लव जिहाद के इन मामलों में एसआईटी को विदेशी फंडिंग के सबूत नहीं मिले. संगठित साजिश के भी प्रमाण सामने नही आए. दूसरे धर्म की लड़कियों से निकाह करने के लिए आरोपियों ने लड़कियों का नाम और धर्म परिवर्तित कराया. नाम और धर्म परिवर्तन की प्रक्रिया में कानून का पालन नहीं किया गया. पुलिस इन मामलों में आगे की कार्रवाई करेगी.




कई मामले आए थे सामने
गौरतलब है कि कानपुर की जूही कॉलोनी और नौबस्ता इलाके में लव जिहाद के कई मामले सामने आए थे. जिसके बाद कई लड़कियों के परिजनों ने साजिशन प्यार में फंसाने और धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाया. जिसके बाद हिंदू संगठनों ने भी इसका विरोध किया. जिसके बाद आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने एसआईटी गठित कर मामले की जांच का आदेश दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज