साइबर क्राइम पर लगाम के लिए खुला स्पेशल थाना, Facebook से जुड़े केस के साथ हुआ मुकदमा का 'उद्घाटन'
Kanpur News in Hindi

साइबर क्राइम पर लगाम के लिए खुला स्पेशल थाना, Facebook से जुड़े केस के साथ हुआ मुकदमा का 'उद्घाटन'
पुलिस ने फेसबुक पर फेक आईडी बनाकर अश्लील फोटो अपलोड करने का मामला दर्ज कर लिया है. (सांकेतिक तस्वीर)

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) में साइबर क्राइम (Crime) की बढ़ती घटनाओं ने पुलिस (Police) अधिकारियों को परेशान कर दिया है.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) में साइबर क्राइम (Crime) की बढ़ती घटनाओं ने पुलिस (Police) अधिकारियों को परेशान कर दिया है. पिछले कुछ समय से लगातार बढ़ रही घटनाओं में से कइयों का खुलासा हुआ और कई मामलों में अब भी जांच लंबित है. एसपी क्राइम राजेश यादव की टीम अभी भी ऐसे कई साइबर क्राइम के केसों को सुलझाने में लगी है. हाल ही में फेसबुक पर युवती की अश्लील फोटो शेयर करने के मामले की शिकायत की गई है. लड़की के परिजनों ने सिसामऊ पुलिस थाने में तहरीर दी. इसकी गंभीरता को देखते हुए थाने ने अधिकारियों के निर्देश पर साइबर थाने को मामला स्थानांतरित कर दिया. जहां साइबर थाना खुलते ही पहला मुकदमा इस छात्रा का दर्ज हुआ.

सिसामऊ चौकी क्षेत्र में रहने वाली इंटर की छात्रा का आरोप है कि किसी ने उसकी फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर अश्लील फोटो अपलोड कर दी है. ट्रैफिक लाइन में खुले साइबर थाने में यह पहला मुकदमा दर्ज किया गया. छात्रा ने बताया कि पिछले दिनों मोहल्ले के ही एक सहेली ने उसे फेक आईडी की जानकारी दी. छात्रा के मुताबिक आरोपित में उसकी और मोहल्ले के कई लोगों और रिश्तेदारों की अपनी फेसबुक प्रोफाइल में जोड़ रखा है. आरोपित फोटो डालकर बदनाम कर रहा है.

ये भी पढ़ें: दिल्‍ली के किस निजी अस्‍पताल में कितने हैं रियायती COVID-19 बेड? यहां देखें पूरी लिस्‍ट



जांच जारी है
एसपी क्राइम राजेश यादव ने बताया कि छात्रा की शिकायत पर साइबर थाने में पहला मुकदमा दर्ज किया गया है. जांच के बाद आगे की कार्रवाई होगी शासन के निर्देश पर साइबर थाने में रेंज के सभी जिलों कानपुर कानपुर देहात औरैया इटावा कन्नौज फर्रुखाबाद में होने वाले सभी प्रकार के साइबर अपराधों के मुकदमे दर्ज हो सकेंगे. इसमें ऑनलाइन फ्रॉड सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करना सोशल मीडिया पर भ्रष्टाचार किसी को बदनाम करना आदि मामले आएंगे. एसपी क्राइम राजेश यादव ने बताया की टीम का गठन कर दिया गया है. एक प्रभारी निरीक्षक और दो उप निरीक्षक को इस केस में लगाया गया है. ताकि सबूतों के आधार पर छात्रा को बदनाम करने वाले को गिरफ्तार किया जाए. ताकि पीड़ित छात्रा को न्याय मिल सके यह साइबर थाने का पहला मुकदमा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज