लाइव टीवी

यूपी: अस्पताल में बीमार किशोरी को नहीं मिला स्ट्रेचर, भाई ने कंधे पर डालकर लगाई दौड़!

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 25, 2019, 7:59 PM IST
यूपी: अस्पताल में बीमार किशोरी को नहीं मिला स्ट्रेचर, भाई ने कंधे पर डालकर लगाई दौड़!
कानपुर के हैलट अस्पताल में स्ट्रेचर न मिलने पर भाई ने बीमार बहन को कंधे पर लाद कर डॉक्टर के पास पहुंचाया

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) जिले एक अस्पताल में बीमार मरीज के लिए स्ट्रेचर नहीं मिला तो मरीज के साथ आए भाई ने उसे अपने कंधे पर डालकर अस्पताल की ओर दौड़ लगा दी.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर जनपद के हैलट अस्पताल में मानवता को शर्मसार करने वाला एक वाक्या फिर सामने आया है. यहां गंभीर रूप से बीमार एक किशोरी को लेकर परिजन अस्पताल के इमरजेंसी विभाग में इलाज के लिए पहुंचे. डॉक्टरों ने उसे बाल रोग विभाग में ले जाने के लिए कहा. जिसके बाद परिजनों ने अस्पताल के कर्मचारियों से स्ट्रेचर मांगा, जो उन्हें नहीं मिला. ऐसे में असहनीय पीड़ा से गुजर रही बीमार किशोरी के भाई ने उसे कंधे पर उठा कर बाल रोग विभाग तक पहुंचाया. इस दौरान किशोरी बेहोश भी हो गई लेकिन अस्पताल के कर्मचारी संवेदनहीन बने रहे.

भाई से नहीं देखा गया बहन का दर्द
रिपोर्ट के मुताबिक, सूटरगंज निवासी रामदीन की बेटी सोनी को देर शाम असहनीय दर्द हुआ तो परिजन उसे लेकर उर्सला अस्पताल पहुंचे जहां डाक्टरों प्राथमिक उपचार के बाद उसे हैलट अस्पताल ले जाने को कहा. जिसके बाद रामदीन और उनका बेटा लक्ष्मण सोनी को लेकर हैलट अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड पहुंचे. पीड़ित पिता का कहना है कि यहां पर डॉक्टरों ने जब बेटी की उम्र पूछी तो उन्होंने 17 साल बताई, जिसके बाद डॉक्टरों ने इलाज करने के बजाय उसे बाल रोग विभाग ले जाने को कहा. किशोरी के पिता का आरोप है कि उन्होंने बेटी को बाल रोग विभाग तक ले जाने के लिए पीआरओ से स्ट्रेचर मांगा तो उन्होंने मना कर दिया. बहन को असहनीय दर्द से तड़पता देखकर भाई लक्ष्मण ने उसे कंधे पर डाला और बाल रोग विभाग की ओर दौड़ लगा दी. इस दौरान वह बेहोश भी हो गई लेकिन भाई ने उसे गोद में किसी तरह संभालते हुए बाल रोग विभाग तक पहुंचाया.

kanpur, halat hospital
बेहोश बहन को गोद में संभालते हुए भाई ने पहुंचाया


आरोप है कि हैलट अस्पताल में कर्मचारियों की संवेदनहीनता के चलते मानवता शर्मसार करने वाला यह पहला मामला नहीं है. इससे पहले भी स्ट्रेचर न मिलने पर तीमारदार पीठ और कंधे पर लादकर अपने मरीजों को ले जाते दिखते हैं. मीडिया में रिपोर्ट भी आती है लेकिन अस्पताल प्रशासन इस पर सिर्फ जांच और कार्रवाई करने की बात करता है.

वहीं News 18 संवाददाता ने जब हैलट अस्पताल के इमरजेंसी प्रभारी डॉक्टर विनय कुमार से इस मसले पर जानकारी लेनी चाही तो उन्होंने कहा कि 'उन्हें घटना की जानकारी नहीं है, अगर ऐसा हुआ है तो यह लापरवाही है. मामले की जांच कराकर दोषी कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.'

ये भी पढ़ें - लापता भतीजे की तलाश में यूपी का ये होमगार्ड जगह-जगह पोस्टर लगा कर लोगों से कर रहा गुहार, पुलिस के पास नहीं है फुर्सत !
Loading...



कानपुर: पुलिस ने रोका तो महिला ने जमकर खरी खोटी सुनाई, नौ दो ग्यारह हो गए पुलिस वाले

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 25, 2019, 6:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...