अब कानपुर की बदलेगी किस्‍मत, डिफेंस कॉरिडोर के लिए मिली 200 एकड़ जमीन

डिफेंस कॉरिडोर अलीगढ़ से शुरू होकर आगरा, झांसी, चित्रकूट, कानपुर होते हुए लखनऊ पहुंचेगा.

Amit Ganju | News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 4:14 PM IST
अब कानपुर की बदलेगी किस्‍मत, डिफेंस कॉरिडोर के लिए मिली 200 एकड़ जमीन
पीएम मोदी ने पिछले साल डिफेंस कॉरिडोर की घोषणा की थी.
Amit Ganju | News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 4:14 PM IST
डिफेंस कॉरिडोर के लिए कानपुर मे कवायद तेज हो गई है. इसके लिए नर्वल में 200 एकड़ जमीन चिन्हित कर ली गई है. भूमि को लेकर डीएम ने शासन को रिपोर्ट भेज दी है. नर्वल के अलावा और कहां कहां कितनी जमीन मौजूद है इसके बारे में अलग से ब्योरा मांगा गया है. गौरतलब है कि डिफेंस कॉरिडोर के लिए काफी समय से जमीन देखी जा रही थी.

केन्‍द्र सरकार की योजना से बहुरेंगे कानपुर के दिन
केन्द्र सरकार ने कानपुर समेत कई शहरों मे डिफेंस कारिडोर बनाने का ऐलान किया था. यहां काफी समय से जमीन देखने का काम चल रहा था. दिल्ली और लखनऊ की टीम ने नर्वल में 200 एकड़ चिन्हित की थी. अब डीएम की ओर से शासन को जानकारी दी गई है कि इस जमीन पर किसी तरह का अवैध कब्जा आदि नहीं है. जब भी चाहे यहां काम शुरू कराया जा सकता है. नर्वल के अलावा और कहीं जमीन का बड़ा हिस्सा है या नहीं इसके बारे में रिपोर्ट मांगी है. प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक शासन का मानना है कि 200 एकड़ भूमि इतने बड़े प्रोजेक्ट के लिए कम पड़ेगी, लिहाजा कुछ और जमीनों को भी चिन्हित करा लिया ताकि जरूरत पङने पर प्रोजेक्ट को विस्तार दिया सके.

पिछले साल हुई थी घोषणा

2018 फरवरी में पहली उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रदेश मे डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर स्थापित करने की घोषणा की थी. इसके तहत हथियार और रक्षा उपकरणों के कारखाने स्थापित किए जाएंगे. इससे करीब 2.5 लाख लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है. कॉरिडोर भारत सरकार के मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट के तहत बनाया जाएगा.

डिफेंस कॉरिडोर से होंगे ये फायदे
किसी भी शहर में डिफेंस बनने से यह फायदा होता है कि वहां आसपास के इलाकों के लोगों को भी रोजगार मिलता है. दूसरी ओर इससे डॉमेस्टिक प्रोडेक्शन को भी बढ़ावा मिलता है. रक्षा औद्योगिक गलियारा बनाने का मकसद विभिन्न रक्षा औद्योगिक इकाइयों के बीच संपर्क तय करना होता है. इस डिफेंस कॉरिडोर में ड्रोन, वायुयान और हेलीकॉप्टर असेंबलिंग सेंटर, डिफेंस पार्क, बुलेटप्रुफ जैकेट, रक्षा के क्षेत्र में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस को बढ़ावा देने के उपकरण, ऑर्डिनेंस फैक्ट्री, डिफेंस इनोवेटिव हब आदि होगें. डिफेंस कॉरिडोर अलीगढ़ से शुलु होकर आगरा, झांसी, चित्रकूट, कानपुर होते हुए लखनऊ पहुंचेगा. इस डिफेंस कॉरीडोर में देसी विदेशी कंपनियां करीब 20 हजार करोड़ रुपये का निवेश करेंगी. पहले चरण में बुंदेलखंड के चित्रकूट, जालौन, झांसी के अलावा अलीगढ़ में काम चल रहा है.
Loading...

ये भी पढ़ें:
रेप पीड़िता को न्याय के लिए एक दिन के उपवास पर कांग्रेसी

एयरसेल-मैक्सिस डील मामले में जज ने CBI-ED को लगाई फटकार, पी चिदम्बरम और कार्ति को मिली बड़ी राहत
First published: August 1, 2019, 2:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...