होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

UP Panchayat Chunav: प्रधानी का चुनाव जा रहे हैं लड़ने तो ध्यान रखिए गलती से भी न कीजिएगा ये काम

UP Panchayat Chunav: प्रधानी का चुनाव जा रहे हैं लड़ने तो ध्यान रखिए गलती से भी न कीजिएगा ये काम

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

UP Panchayat Chunav: अगर आप इस बार पंचायत चुनाव में प्रधान आदि के लिए दावेदारी करने की तैयारी कर रहे हैं तो आपके लिए इन नियमों को समझना बेहद आवश्यक है. ऐसा नहीं करने पर आपकी दावेदारी पर सवाल उठ सकते हैं.

    लखनऊ. उत्तर प्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग (State Election Commission) ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Panchayat Elections 2021) को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं. इनमें कई हिदायतें हैं, जिनका पालन करना जरूरी है. अगर आप इस बार पंचायत चुनाव में प्रधान आदि के लिए दावेदारी करने की तैयारी कर रहे हैं तो आपके लिए इन नियमों को समझना बेहद आवश्यक है. ऐसा नहीं करने पर आपकी दावेदारी पर सवाल उठ सकते हैं.

    आयोग की गाइडलाइंस में प्रत्याशी को अपना चुनाव एजेंट बनाने में काफी सजगता दिखानी होगी, वह किसी सरकार या निकायों आदि से लाभ लेने वाला व्यक्ति नहीं हो सकता. यही नहीं एजेंट का आपराधिक इतिहास भी नहीं होना चाहिए.

    निर्वाचन आयोग के प्रमुख निर्देश

    पंचायत चुनाव में प्रत्याशी किसी भी पूर्व या वर्तमान सांसद/विधायक, पूर्व या वर्तमान मंत्री, ब्लॉक प्रमुख आदि को अपना एजेंट नहीं बना सकता है.

    चुनाव प्रचार के दौरान आपत्तिजनक शब्दों के लिखित या मौखिक प्रयोग पर सख्त मनाही.

    बिना अनुमति लिए चुनाव प्रचार में किसी भी प्रकार के वाहन का इस्तेमाल न किया जाए.

    किसी भी मतदाता को मतदान करने या उससे दूर रखने के लिए दबाव बनाया, या प्रलोभन देने की कोशिश की तो कार्रवाई होगी.

    प्रत्याशी जाति और धर्म के आधार पर वोट नहीं मांग सकता. इसकी शिकायत होने पर कार्रवाई होगी.

    कोई किसी को जबरन चुनाव में खड़ा नहीं करा सकता. चुनाव लड़ने का फैसला सिर्फ उस व्यक्ति का ही होगा.

    कोई भी प्रत्याशी या उसके समर्थक किसी दूसरे प्रत्याशी के व्यक्तिगत चरित्र को लेकर कोई टिप्पणी नहीं कर सकता.

    आरक्षण लिस्‍ट में देरी ने बढ़ाई प्रत्‍याशियों की धड़कनें, अभी करना होगा और इंतजार

    वैसे पंचायत चुनाव को लेकर एक तरफ जहां प्रत्याशियों ने अपनी कमर कस ली है वहीं पुलिस प्रशासन भी पूरी तरह से तैयार है. अब गांव में ग्राम प्रधान, बीडीसी और जिला पंचायत सदस्यों के लिए आने वाली आरक्षण सूची का इंतजार किया जा रहा है. जिसके बाद ही यह तय हो सकेगा कि कौन से वार्ड और ग्राम सभा में किस जाति के लिए चुनाव लड़ने को सीट अरक्षित की गयी है. हालांकि इस लिस्ट के लिए 22 जनवरी की तारीख सुनिश्चित की गई थी जो बीत चुकी है, लेकिन अभी तक आरक्षण लिस्ट के बारे में कोई भी सूचना जारी नहीं हुई है.

    जानकारी के अनुसार पंचायत चुनाव के आरक्षण को लेकर अभी तक सरकार में बैठकें चल रही हैं. ग्राम विकास राज्य मंत्री आनंद स्वरुप शुक्ला के मुताबिक 15 फ़रवरी तक स्थिति साफ हो सकती है. ऐसे में माना यही जा रहा है कि पंचायत चुनाव में अभी और देरी हो सकती है.

    शस्त्र सत्यापन का काम तेज

    वहीं दूसरी तरफ पुलिस, शस्त्र लाइसेंस के सत्यापन के कार्य में जुटी हुई है, इसके साथ ही नए सिरे से गांव के दबंगों को भी चिन्हित किया जा रहा है. आमतौर पर यह शिकायत आती रहती थी कि चुनाव के दौर में पुलिस उन लोगों को भी पाबंद कर देती है, जिनका नाम लिस्ट में गलत दर्ज हो गया है. इसी शिकायत के चलते पुलिस ने ये जरुरी कदम उठाया है.

    गांव वार बन रही लिस्ट

    डीआईजी प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि पंचायत चुनाव की वजह से ग्रामीण क्षेत्र काफी संवेदनशील हैं. ऐसे में गांव में तनाव की शिकायतें भी बढ़ने लगती हैं. लोगों को भड़का कर आपसी संघर्ष की घटना भी घटित हो जाती है. इसको लेकर अब सभी थानों को नए सिरे से गांव के दबंगों को चिन्हित करने और सत्यापन करने के आदेश दिए गए हैं. पुलिस उन लोगों की लिस्ट तैयार कर रही है जिनका नाम पूर्व में किसी विवाद में आया हो या उनके खिलाफ कोई कार्रवाई हुई हो. ऐसे लोगों की गांववार लिस्ट बनाकर समय से पाबंद किया जाएगा. उन्होंने कहा कि अनुमानित तौर पर यह काम दस दिनों के अंदर हो जाएगा.

    इस बार 52 लाख ज्यादा वोटर करेंगे मतदान

    उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने 71 जिलों की अंतिम वोटर लिस्ट भी जारी कर दी है. इस बार 12.50 करोड़ वोटर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. 2015 के मुकाबले करीब 52 लाख वोटर बढ़े हैं. पिछली बार 11.76 करोड़ मतदाता थे.

    आपके शहर से (कानपुर)

    कानपुर
    कानपुर

    Tags: Kanpur city news, Up news in hindi, UP news updates, UP Panchayat Elections 2021, Uttarpradesh news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर