Home /News /uttar-pradesh /

बिकरू कांड में मारे गए अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे की मां की जगह बहन ने कांग्रेस से भरा पर्चा, आचार्य प्रमोद कृष्‍णम ने लगाया ये आरोप

बिकरू कांड में मारे गए अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे की मां की जगह बहन ने कांग्रेस से भरा पर्चा, आचार्य प्रमोद कृष्‍णम ने लगाया ये आरोप

आचार्य प्रमोद कृष्‍णम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि खुशी दुबे की मां का नाम वोटर लिस्ट से गायब किया गया.

आचार्य प्रमोद कृष्‍णम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि खुशी दुबे की मां का नाम वोटर लिस्ट से गायब किया गया.

UP Assembly Election: कांग्रेस महासचिव आचार्य प्रमोद कृष्‍णम ने खुशी दुबे की मां और बहन नेहा के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने भाजपा पर जमकर आरोप लगाए. प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि खुशी दुबे की मां का नाम वोटर लिस्ट से गायब किया गया और इसके पीछे भाजपा का हाथ है.

अधिक पढ़ें ...

कानपुर. ​चर्चित बिकरू कांड (Bikru Case) में खुशी दुबे (Khushi Dubey) की मां गायत्री तिवारी को कांग्रेस (Congress) अपने साथ लेकर आ रही थी. लेकिन अचानक पार्टी ने अपना फैसला बदला और उनकी जगह खुशी की बहन नेहा को चुनावी मैदान में उतार दिया. कांग्रेस के इस यू टर्न को समझने के लिए कई राजनीतिक चर्चाएं हो रही हैं. इसी बीच कांग्रेस महासचिव आचार्य प्रमोद कृष्‍णम (Acharya Pramod Krishnam) ने खुशी दुबे की मां और बहन नेहा के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने भाजपा पर जमकर आरोप लगाए.

दरअसल कांग्रेस ने ऐलान किया था कि कानपुर की कल्याणपुर विधानसभा सीट से खुशी दुबे की मां गायत्री तिवारी को उम्मीदवार बनाया जाएगा. लेकिन अचानक फैसला बदलते हुए नेहा का नाम सामने आ गया. इसी बीच मां-बेटी के साथ कांग्रेस महासचिव आचार्य प्रमोद कृष्‍णम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि खुशी दुबे की मां का नाम वोटर लिस्ट से गायब किया गया और इसके पीछे भाजपा का हाथ है. उनका कहना था कि बीजेपी ने साजिश के तहत गायत्री तिवारी का नाम वोटर लिस्ट से हटाया है. कांग्रेस ने सोच समझकर खुशी की बहन नेहा को कल्याणपुर से प्रत्याशी बनाया है.

खुशी की जमानत नहीं होने दे रहे
इस मौके पर प्रमोद कृष्‍णम ने यह भी कहा कि सोची समझी राजनीति के कारण सरकार खुशी दुबे की जमानत नहीं होने दे रही है. जब आगामी विधानसभा के नतीजों के बाद सरकार बदलेगी तो सभी एनकाउंटर्स की जांच होगी. इसमे सामने आ जाएगा कि कौन कितना सच्चा है और सरकार ने कैसे निर्दोषों को सजा दी है. उन्होंने यह भी कहा कि अमर दुबे, प्रभात मिश्रा के एनकाउंटर्स फेक थे.

बहन को दिलाना है न्याय
गौरतलब है कि नेहा खुशी दुबे की ही बहन हैं, जिन्होंने आज कानपुर कलेक्ट्रेट परिसर में पहुंचकर अपना नामांकन कराया. कहा जा रहा है कि बहन को न्याय न मिलने के कारण नेहा राजनीति में उतरी हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनी तो खुशी दुबे के मुकदमे वापस होंगे. इससे पहले खबर थी कि गायत्री तिवारी ने बीते 26 जनवरी को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात की थी और यह पक्का हो गया था कि गायत्री तिवारी कानपुर में कल्याणपुर सीट से विधानसभा चुनाव लड़ेंगी. उनके नाम पर कांग्रेस आलाकमान ने भी मुहर लगा दी थी.

Tags: Acharya Pramod Krishnam, Bikru Scandal, UP chunav, Uttar Pradesh Assembly Election 2022

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर