विकास दुबे के 2 साथी गुड्डन त्रिवेदी और सोनू ठाणे से गिरफ्तार, महाराष्ट्र ATS ने यूपी एसटीएफ को भेजी डिटेल
Thane News in Hindi

विकास दुबे के 2 साथी गुड्डन त्रिवेदी और सोनू ठाणे से गिरफ्तार, महाराष्ट्र ATS ने यूपी एसटीएफ को भेजी डिटेल
विकास दुबे के साथ अरविंद उर्फ गुड्डन त्रिवेदी (File Photo)

महाराष्ट्र एटीएस ने विकास दुबे के साथी अरविंद उर्फ गुड्डन त्रिवेदी (Arvind aka Guddan Trivedi) और विकास दुबे के ड्राइवर सुशील कुमार उर्फ सोनू सुरेश तिवारी (Sushil Kumar aka Sonu Suresh Tiwari) को ठाणे से धर-दबोचा है.

  • Share this:
manoj khanमुंबई/लखनऊ. उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) के बिकरु कांड (Bikru Shootout) मामले में बड़ी खबर आ रही है. पता चला है कि महाराष्ट्र एटीएस (Maharashtra ATS) ने कानपुर में एनकाउंटर में मारे गए आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) के 2 साथियों को ठाणे से गिरफ्तार किया है. विकास दुबे के फरार होने के दौरान महाराष्ट्र एटीएस को उसके लोगों के मुंबई में होने की जानकारी के बाद ठाणे में एटीएस ने छापेमारी की है.

पता चला है कि एटीएस ने विकास दुबे के साथी अरविंद उर्फ गुड्डन त्रिवेदी (Arvind aka Guddan Trivedi) और विकास दुबे के ड्राइवर सुशील कुमार उर्फ सोनू सुरेश तिवारी (Sushil Kumar aka Sonu Suresh Tiwari) को धर-दबोचा है.

ठाणे में छिपे होने की थी सूचना



एटीएस के अधिकारी विक्रम देशमाने ने बताया कि यूपी के गैंगस्टर विकास दुबे के दो साथियों के महाराष्ट्र के ठाणे में आने की सूचना मिली थी. सूचना के आधार पर अरविंद उर्फ गुड्डन त्रिवेदी को गिरफ्तार किया गया, साथ ही ड्राइवर सुशील को भी गिरफ्तार किया गया है. इस गिरफ्तारी की जानकारी यूपी पुलिस को दे दी गई है.
राज्य मंत्री हत्याकांड में सह अभियुक्त रहा है गुड्डन

गिरफ्तार अरविंद उर्फ गुड्डन त्रिवेदी विकास दुबे के कई गैरकानूनी कामों में साथ रहा है. साथ ही वर्ष 2001 के राज्यमंत्री संतोष शुक्ला हत्याकांड केस में भी वह विकास के साथ सह अभियुक्त था. महाराष्ट्र एटीएस की तरफ से ये यूपी एसटीएफ को ये जानकारी साझा की गई है.



अब तक 5 मार गिराए गए

इस मामले में मुख्य अभियुक्त विकास दुबे के साथ कुल 6 लोगों का एनकाउंटर हो चुका है. वहीं महाराष्ट्र में हुई इस गिरफ्तारी के बाद अब तक कुल 5 लोग गिरफ्तार हुए हैं. वहीं पुलिस ने केस से जुड़े अन्य लोगों में से 8 लोगों को भी गिरफ्तार किया है. 11 की तलाश अभी भी जारी है. पुलिस कोइ इसके साथ ही घटना की रात लूटी गई एके-47 और इंसास रायफल की भी तलाश है. पुलिस मामले में अब तक कानपुर और फरीदाबाद से 3 पिस्टल तो बरामद कर चुकी है लेकिन बाकी असलहों का सुराग उसे नहीं लग पा रहा है. यही कारण है कि शनिवार को बिकरु गांव में पुलिस ने मुनादी कराकर लूटे गए असलहे को वापस जमा करने की हिदायत दी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading