कानपुर शूटआउट: अब कोई गलती नहीं करना चाहती यूपी पुलिस, कमांडोज से घेर कर लाया जा रहा है विकास दुबे
Indore News in Hindi

कानपुर शूटआउट: अब कोई गलती नहीं करना चाहती यूपी पुलिस, कमांडोज से घेर कर लाया जा रहा है विकास दुबे
यूपी एसटीएफ के कमांडोज विकास दुबे को लेकर कल सुबह पहुंचेंगे कानपुर.

कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) को लेकर यूपी एसटीएफ (UP STF) काफी सावधानी बरत रही है. यही वजह है कि उसे कमांडोज से घेर कर कानुपर लाया जा रहा है. जबकि यूपी बॉर्डर तक मध्‍य प्रदेश पुलिस सुरक्षा देगी.

  • Share this:
कानपुर. उत्‍तर प्रदेश के कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) की मध्‍य प्रदेश के उज्जैन (Ujjain) के महाकाल मंदिर से गिफ्तारी के बाद यूपी एसटीएफ (UP STF) काफी सावधानी बरत रही है. यही वजह है कि शाम 7 बजे उज्जैन से विकास दुबे को लेकर एसटीएफ के एक दर्जन कमांडो रवाना हुए, जिसकी अगुआई डिप्टी एसपी कर रहे हैं. यही नहीं, मध्‍य प्रदेश पुलिस भी खतरे को देखते हुए यूपी बॉर्डर तक सुरक्षा देगी. सूत्रों के मुताबिक यूपी एसटीएफ की टीम विकास दुबे को लेकर शुक्रवार सुबह करीब 8 बजे कानपुर पहुंचेगी. इसके बाद उसे कानपुर देहात के कोर्ट में पेश किया जाएगा.

देवास में पुलिस ने किया डिनर
कानपुर कांड के आरोपी को तगड़े सुरक्षा घेरे के साथ उज्‍जैन से लेकर निकली यूपी एसटीएफ और पुलिस ने मध्‍य प्रदेश के देवास जिले के सोनकच्छ के एक रिसोर्ट पर रुकी. यहां ना सिर्फ पुलिस बल्कि गैंगस्‍टर विकास दुबे ने भी भोजन किया. इसके कुछ देर बाद यूपी पुलिस की गाड़ियों का काफिला उसे लेकर कानपुर के लिए निकल गया. सूत्रों के मुताबिक, शुक्रवार सुबह करीब 8 बजे कानपुर लेकर पहुंचेगी और फिर से कोर्ट में पेश किया जाएगा. आपको बता दें कि पुलिस ने विकास दुबे की पत्‍नी और बेटे को भी गिरफ्तार कर लिया और उनसे कानपुर पुलिस पूछताछ कर रही है.

ऐसे उज्‍जैन पहुंचा था विकास दुबे
न्‍यूज़ 18 को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कानपुर कांड को अंजाम देने के बाद गैंगस्‍टर विकास दुबे सबसे पहले 5 और 6 जुलाई को नोएडा में रहा था. इसके बाद वह 7 जुलाई को प्राइवेट बस से नोएडा से कोटा के लिए रवाना हो गया. जबकि कोटा से भी उसने उज्‍जैन जाने के लिए प्राइवेट बस का ही सहारा लिया और वह 8 जुलाई को वहां (मंगलवार की रात) पहुंचा था. हालांकि विकास दुबे के कार से उज्‍जैन पहुंचने की खबरें भी मीडिया में चल रही हैं, लेकिन वह अभी जांच का विषय है, क्‍योंकि उसने कानपुर कांड को अंजाम देने के बाद किसी परमानेंट कार का सहारा नहीं लिया था. इसके साथ विकास दुबे के हरियाणा में भी जाने की चर्चा है, लेकिन इसकी कोई तारीख निश्चित नहीं है.



नीतीश कटारा हत्याकांड के आरोपी को भी मिल चुकी है मध्य प्रदेश में शरण
विकास दुबे की तरह ही कुछ साल पहले बहुचर्चित नीतीश कटारा हत्याकांड के आरोपी विकास यादव की गिरफ्तारी भी मध्य प्रदेश में ही हुई थी. विकास यादव बाहुबली राजनेता डीपी यादव का पुत्र है. मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी कॉलेज गाजियाबाद से स्नातक करने वाले नीतीश कटारा की हत्या विकास यादव ने की थी. नीतीश कटारा का भारती यादव से अफेयर था. भारती, विकास यादव की बहन है. यादव परिवार इस अफेयर के खिलाफ था. अदालत ने ऑनर किलिंग का मामला मानते हुए विकास यादव और विशाल यादव को उम्र कैद की सजा सुनाई थी. विकास की गिरफ्तारी ग्वालियर जिले के डबरा कस्बे से हुई थी. पुलिस ने रात्रि गश्त के दौरान उसे गिरफ्तार किया था. आर्म्स एक्ट में गिरफ्तारी हुई. बाद में उसकी पहचान नीतीश कटारा हत्याकांड के आरोपी के तौर पर हुई. विकास यादव की गिरफ्तारी के समय भी मध्य प्रदेश पुलिस के कुछ अफसरों की भूमिका पर ही सवाल खड़े हुए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading