लाइव टीवी

कानपुर में महिलाओं का CAA के खिलाफ प्रदर्शन जारी, पुलिस से नोटिस वापस लिए जाने की मांग....

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 11, 2020, 9:14 PM IST
कानपुर में महिलाओं का CAA के खिलाफ प्रदर्शन जारी, पुलिस से नोटिस वापस लिए जाने की मांग....
कानपुर में महिलाओं का CAA के खिलाफ Protest जारी है

चमनगंज के मोहम्मद अली पार्क (Mohammad Ali Park) के बाहर से लेकर हलीम कॉलेज चौराहे तक हजारों की तादाद में मुस्लिम महिलाएं घरों से चादर लाकर सड़क पर बिछा कर बच्चों के साथ धरने पर बैठ गई हैं.

  • Share this:
कानपुर. जनपद का मोहम्मद अली पार्क (Mohammad Ali Park) फिर से मिनी शाहीन बाग (Saheen Bagh) बन चुका है. वहीं प्रदर्शनकारी महिलाओं ने अवागमन को पूरी तरह से ठप कर दिया है. चमनगंज से आने-जाने वाले रास्ते पर हजारों की तादाद में महिलाएं पिछले 35 घंटो से लगातार सड़क पर हाथों में तिरंगा थामे बैठी हैं. CAA व NRC के खिलाफ धरने पर बैठी प्रदर्शनकारी महिलाओं की मांग है कि पुलिस ने जिन लोगों को नोटिस जारी किये हैं उन्हे वापस लिया जाये और अब भविष्य में किसी तरह का कोई नोटिस बिना वजह ना भेजे जायें. वहीं पुलिस इस प्रदर्शन के पीछे स्टूडेंट्स विंग्स (Students wings) का हाथ होने की आशंका जता रही है.

caa protest,kanpur
हाथ में बैनर लिए धरने पर बैठी महिलाएं


सुनियोजित हो सकता है प्रदर्शन
इस प्रदर्शन ने दिल्ली के शाहीबाग की तर्ज पर एक बार फिर से विरोध की शुरूआत कर दी है. मंगलवार सुबह से ही अब तक चमनगंज के मोहम्मद अली पार्क के बाहर से लेकर हलीम कॉलेज चौराहे तक हजारों की तादाद में मुस्लिम महिलाएं घरों से चादर लाकर सड़क पर बिछा कर बच्चों के साथ धरने पर बैठ गई हैं. अभी दो दिन भी नहीं बीते थे जब कानपुर पुलिस महिलाओं का धरना समाप्त करवाने को लेकर अपनी पीठ थप-थपा रही थी. महिलाओं ने जब रविवार रात दोबारा प्रदर्शन शुरू किया तो जिला प्रशासन ने सख्‍त रूख अपनाने की कोशिश की, जिससे मुस्लिम इलाके में और तनाव बढ़ गया तो प्रशासन बैक फुट पे आ गया. फिलहाल तो पुलिस-प्रशासन को ये समझ नहीं आ रहा है कि इन प्रदर्शनकारियों के खिलाफ किस तरह के एक्शन लिए जाएं.

caa protest
प्रदर्शनकारी महिलाओं का धरना रविवार रात से फिर शुरू हो गया है


इस मुद्दे पर news 18 संवाददाता ने डीआईजी अन्नत देव से बातचीत की तो उनका कहना है कि दरअसल धरना खत्म कराने का क्रेडिट लेने के लिये ग्रुपबाजी का शिकार ये प्रदर्शन बन गया है. लेकिन महिलाओं व बच्चों के होने की वजह से अभी किसी तरह का सख्त एक्शन नही लिया गया है. वहीं पुलिस का यह भी कहना है कि इस प्रदर्शन के पीछे कहीं कोई संगठन तो सक्रिय नहीं है इस पर भी जांच जारी है क्योंकि ये आशंका जताई जा रही है कि इस प्रदर्शन के पीछे कई स्टूडेन्ट विंग्स के जुड़े होने की संभावना है जिसकी वजह से इतनी बड़ी तादाद में इस पूरे प्रोटेस्ट को सुचारू रूप से चलाया जा रहा है. पुलिस का कहना है कि जिस तरह से बुजुर्ग महिलाओं व बच्चों के हाथों में अंग्रेजी में लिखे पोस्टर व बैनर देखे जा रहे हैं उससे लगता है इसके पीछे कोई बड़ी भूमिका निभा रहा है. फिलहाल पुलिस जांच कर रही है साथ ही इस प्रदर्शन से निपटने के उपाय भी तलाशे जा रहे हैं. पुलिस-प्रशासन द्वारा प्रदर्शनकारियों को समझाने के प्रयास निरंतर जारी हैं.

ये भी पढ़ें- प्रयागराज: CAA के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं का रौशन बाग पर धरना जारी, पीछे हटने को तैयार नहीं 

कानपुर में CAA के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन हुआ उग्र, 1 किलोमीटर तक सड़क पर बैठीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 9:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर