होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /अलीगढ़ के प्राइवेट हॉस्पिटल की करतूत, करना था स्टोन का ऑपरेशन, निकाल ली किडनी

अलीगढ़ के प्राइवेट हॉस्पिटल की करतूत, करना था स्टोन का ऑपरेशन, निकाल ली किडनी

Kasganj: अलीगढ़ के एक निजी हॉस्पिटल में पथरी के साथ मरीज की किडनी भी निकाल ली

Kasganj: अलीगढ़ के एक निजी हॉस्पिटल में पथरी के साथ मरीज की किडनी भी निकाल ली

Kasganj News: किडनी में स्टोन के ऑपरेशन के आठ महीने बाद 29 अक्टूबर 2022 को सुरेश के पेट में फिर से दर्द हुआ. जिसके बाद ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अप्रैल ने लेफ्ट किडनी में स्टोन होने का पता चला था
जवान ने अलीगढ़ के परी हॉस्पिटल में पथरी का ऑपरेशन करवाया
आठ महीने बाद फिर दर्द उठा तो अल्ट्रासाउंड जांच में पता चला कि लेफ्ट किडनी गायब है

कासगंज. अलीगढ़ के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में होमगार्ड के जवान की किडनी निकालने का मामला सामने आया है. दरअसल, 12 अप्रैल 2022 को अल्ट्रासाउंड टेस्ट में कासगंज निवासी एक होमगार्ड सुरेश चंद्र की लेफ्ट किडनी में स्टोन डिटेक्ट हुआ था. जिसके बाद 14 अप्रैल 2022 को सुरेश ने अलीगढ़ स्थित एक हॉस्पिटल में किडनी स्टोन का ऑपरेशन कराया था. लेकिन आठ महीने बाद जब दर्द उठा तो उसने फिर अल्ट्रासाउंड करवाया. इस बार उसकी लेफ्ट किडनी ही गायब थी. रिपोर्ट देखने के बाद होमगार्ड के जवान के होश फाख्ता हो गए. अब जवान ने जिले की उच्चाधिकारियों से इसकी शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है.

बता दें कि किडनी में स्टोन के ऑपरेशन के आठ महीने बाद 29 अक्टूबर 2022 को सुरेश के पेट में फिर से दर्द हुआ. जिसके बाद उसी दिन सुरेश ने कासगंज की उसी लैब में अल्ट्रासाउंड टेस्ट कराया, जहां आठ महीने पहले कराया था, लेकिन इस बार उनके पेट से स्टोन के साथ लेफ्ट किडनी भी गायब थी. सुरेश ने बताया कि अल्ट्रासाउंड टेस्ट की रिपोर्ट से यह साफ साफ प्रदर्शित हो रहा है कि पहली रिपोर्ट में लेफ्ट किडनी थी, और ऑपरेशन के बाद हुई अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट में लेफ्ट किडनी गायब है.

लैब के एक कर्मचारी ने परी हॉस्पिटल में ऑपरेशन की दी थी सलाह
सुरेश ने बताया कि पहले जिस लैब में उन्होंने अल्ट्रासाउंड टेस्ट कराया, उस लैब के एक कर्मचारी ने अपना परिचित बताकर उन्हें अलीगढ़ स्थित परी हॉस्पिटल में शीघ्र से शीघ्र ऑपरेशन करा लेने की सलाह दी थी. इतना ही नहीं, उस कर्मचारी ने उन्हें पैसे की चिंता न करने की भी बात कही थी. पीड़ित सुरेश बताते हैं कि ऑपरेशन के समय वह घर से आने वाले पैसों का इंतजार कर रहे थे, तो इस बात को लेकर हॉस्पिटल स्टाफ ने उनसे कहा कि पैसों की कोई चिंता मत करो, जल्दी से ऑपरेशन करवा लो. अब जब आठ महीने बाद पेट में फिर से दर्द उठा, तो पता लगा कि उनके पेट से लेफ्ट किडनी ही गायब है.

जवान को मिला कार्रवाई का आश्वासन
पीड़ित होमगार्ड सुरेश ने मौखिक रूप से इस बात की शिकायत कासगंज जिले के उच्चाधिकारियों से की है. उच्चाधिकारियों ने जवान को कार्रवाई का आश्वासन दिया है. बता दें कि पीड़ित होमगार्ड जनपद कासगंज में जिलाधिकारी के आवास पर तैनात था.

Tags: Kasganj news, UP latest news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें