अपना शहर चुनें

States

कासगंज सिपाही हत्याकांड: एक लाख का इनामी मोती पुलिस मुठभेड़ में ढेर, लूटी गई पिस्टल भी बरामद

कासगंज सिपाही हत्याकांड का मुख्य आरोपी मोती पुलिस मुठभेड़ में ढेर
कासगंज सिपाही हत्याकांड का मुख्य आरोपी मोती पुलिस मुठभेड़ में ढेर

Kasganj News: पुलिस ने शराब माफिया मोती सिंह के पास से दारोगा से लूटी गई सरकारी पिस्टल भी बरामद कर ली है. मोती पर पहले से ही एक दर्जन से अधिक आपराधिक मुक़दमे दर्ज थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 7:48 AM IST
  • Share this:
कासगंज. उत्तर प्रदेश के कासगंज (Kasganj Sipahi Murder) जिले में सिपाही की हत्या करने के आरोपी गैंगस्टर मोती सिंह को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है. बीते 9 फ़रवरी को पुलिस के सिपाही देवेंद्र की पीट-पीटकर हत्या के मामले में रविवार सुबह पुलिस को यह बड़ी सफलता हाथ लगी. पुलिस ने इस हत्याकांड में फरार चल रहे एक लाख के इनामी बदमाश मोती को एनकाउंटर में मार गिराया. साथ ही पुलिस ने उसके पास से दरोगा से लूटी गई सरकारी पिस्टल भी बरामद कर ली है. शराब माफिया मोती पर पहले से ही एक दर्जन से अधिक आपराधिक मुक़दमे दर्ज थे.

पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर ने बताया कि मोती सिंह एक लाख का इनामिया था. पिछले दिनों उसने हमारे सब इंस्पेक्टर अशोक को घायल कर दिया था और एक सिपाही देवेंद्र की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. आज पुलिस की संयुक्त टीम क्षेत्राधिकारी पटियारी नेतृत्व में क्राइम ब्रांच और एसओजी  अभियुक्त की तलाश में निकली थी. तभी काली नदी के समीप उसने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. पुलिस की तरफ से जवाबी फायरिंग में मोती को गोली लगी. उसे अस्पताल ले जाया गया जहां, डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

अभी भी फरार हैं दो आरोपी 
पुलिस अधीक्षक ने एनकाउंटर में मोती की मौत को बड़ी कामयाबी बताते हुए कहा कि मामले में अग्रिम कार्रवाई की जा रही है. उन्होंने बताया कि अभी इस मामले में दो अन्य आरोपी मोहर और मानपाल अभी फरार हैं. पुलिस जल्द ही दोनों को गिरफ्तार करेगी.
पुलिस ने भाई एलकार को भी एनकाउंटर में मार गिराया था 


गौरतलब है कि बिगत 9 फरवरी को थाना सिढ़पुरा क्षेत्र के नगला धीमर में शराब माफिया मोती ने अपने साथियों के साथ मिलकरसिपाही देवेंद्र की पीट-पीट कर हत्या कर दी थी. हमले में एक दरोगा अशोक गंभीर रूप से घायल हुए थे और उनकी पिस्टल भी लूट ली गई थी. पुलिस ने घटना के 12  घंटे के भीतर मोती के भाई एलकार को मुठभेड़ में मार गिराया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज