लाइव टीवी
Elec-widget

कासगंज: पैसों का लालच देकर युवकों को बनाया जा रहा किन्नर, एसपी ने दिए जांच के आदेश

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 27, 2019, 8:45 AM IST
कासगंज: पैसों का लालच देकर युवकों को बनाया जा रहा किन्नर, एसपी ने दिए जांच के आदेश
एसपी के पास शिकायत लेकर पहुंची नेहा किन्नर

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एसपी से न्याय की गुहार लगा रही नेहा किन्नर कभी लड़का हुआ करता था. लेकिन कुछ रुपयों के लालच में उसका लिंग परवर्तन कराकर जबरन किन्नर बना दिया गया.

  • Share this:
कासगंज. जिले में पैसों के लालच में लिंग परिवर्तन करवाकर किन्नर (Eunuch) बनाने के मामला सामने आया है. यह खुलासा खुद एक किन्नर ने किया है. जिसके बाद जिले के पुलिस (Police) कप्तान ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं. दरअसल, ये कोई नया मामला नहीं है. इससे पहले भी कई लड़कों का लिंग परवर्तन कराकर किन्नर बनाए जाने का आरोप लग चुका है. इसका खुलासा तब हुआ जब जितेंद्र उर्फ़ नेहा किन्नर ने पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र देकर शिकायत की. फिलहाल पुलिस अधीक्षक ने पूरे मामले की जांच सीओ सदर को सौंप कर जल्द रिपोर्ट देने की बात कही है.

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एसपी से न्याय की गुहार लगा रही नेहा किन्नर कभी लड़का हुआ करता था. लेकिन कुछ रुपयों के लालच में उसका लिंग परवर्तन कराकर जबरन किन्नर बना दिया गया. उसके बाद उसे लाखों रुपयों में बेच दिया गया. ये कोई पहला लड़का नहीं है, जिसे किन्नर बनाया गया. इस तरह के मामले पहले भी हो चुके है.

कई बार बेचा गया जितेंद्र

जितेंद्र उर्फ़ नेहा किन्नर ने एसपी को दिए प्रार्थना पत्र में लिखा है कि में पहले स्वस्थ लड़का था, तभी उसकी मुलाकात पूजा हाजी उर्फ़ आरिफ किन्नर से हुई. जिन्होंने मेरा जबरन लिंग कटवाकर किन्नर बना दिया और करीब नौ महीने अपने पास रखने के बाद दो लाख रूपये में सलमा किन्नर जलेसर को बेच दिया. उसके बाद जब पीड़ित जीतेन्द्र उर्फ़ नेहा किन्नर अपनी जान बचा कर अपने घर आ गई तो सलमा ने बिना जानकारी के मुझे दो लाख रुपये में पायल किन्नर पटियाली को बेच दिया और एक माह बाद पायल ने मुझे चांदनी गंजडुडवारा को तीन लाख रुपए में बेच दिया. उसके एक माह बाद चांदनी किन्नर ने तीन लाख रुपये में मुझे कासगंज की रहने वाली भोली किन्नर के यहां बेच दिया. तभी से वह लगातार भोली के यहां काम कर रही थी. नेहा किन्नर ने हाजी पूजा उर्फ़ आरिफ किन्नर पर आरोप लगाया है कि उस पर लगातार धर्म परवर्तन करने का दबाव भी डाला जा रहा है. ऐसा न करने पर क्षेत्र में काम नहीं करने और जान से मारने की धमकी भी दे रहे हैं. उसने यह भी आरोप लगाया कि कुछ दिन पहले तमन्ना किन्नर की हत्या की गई थी, उसमें भी पूजा किन्नर का हाथ था.

हाजी पूजा ने आरोपों को बताया निराधार

उधर हाजी पूजा उर्फ़ आरिफ किन्नर ने मिडिया से बात करते हुए कहा कि मेरे ऊपर जो आरोप लगाए गए हैं सब निराधार और गलत है. मेरे साथ सभी धर्मों के किन्नर रहते हैं. मेरा इस तरह का कोई काम नहीं है. पूजा किन्नर ने कहा कि वह हमारे पास तो 10 -15 साल से रहता ही नहीं था. वह कभी जलेसर, कभी सहावर, कभी गंजडुडवारा रहता था. मेरे कई चेले हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई और हरिजन है. उसने जो आरोप लगाए हैं वह झूठे हैं.

भोली किन्नर ने किया खुलासा
Loading...

वही भोली किन्नर ने खुलासा किया है कीं हमारे समाज में कुछ तो मां के पेट से ही किन्नर होते हैं. कुछ  ऐसे होते हैं जो सोचते हैं कि हिजड़ों की कमाई है तो पैसा देकर लिंग कटवाकर चले आते हैं. कुछ लोग ऐसे भी होते हैं कि हमारे साथ आ जाता है तो उसका लिंग कटवाकर उसे हिजड़ा बनाते हैं और उसकी बोली लगा कर पांच लाख, दस लाख, बीस लाख में बेच देते हैं. भोली ने खुलासा किया कि शहर में इस तरह के हिजड़े भी पड़े हैं जो लड़कों का जबरन लिंग कटवाकर हिजड़ा बनाते है और उनको अपनी टीम भर्ती कर लेते है. इतना ही नहीं फिर उन पर गलत इल्जाम लगाते है जिससे वह टीम से निकलने को मजबूर हो जाए. उसके बाद बोली लगाकर खरीद फरोख्त शुरू होती है. 5 लाख से लेकर पचास लाख तक बोली लगती है.

वही पुलिस अधीक्षक सुशील घुले ने बताया कि जितेंद्र उर्फ़ नेहा किन्नर आयी थी. उसने अपने साथियों पर कुछ आरोप लगाए हैं. जिसमें उन्होंने घर में घुस कर मारपीट सहित अन्य आरोप लगाये हैं. पता चला है जीतेन्द्र उर्फ़ नेहा पर आरोपियों की तरफ से कुछ मामला दर्ज किया गया है. दोनों द्वारा लगाए जा आरोपों की जांच सीओ सिटी को दी गई है. जो भी मामला सामने निकल कर आएगा उसी पर कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें:

अखाड़ा परिषद ने किया सुन्नी बोर्ड का स्वागत, ओवैसी को पाक जाने की सलाह

Ayodhya Verdict: सुन्नी बोर्ड के फैसले का शिया सेंट्रल वक्फ ने किया स्वागत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कासगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 8:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...