कासगंज के अमांपुर से BJP विधायक देवेंद्र प्रताप सिंह का हार्ट अटैक से निधन

बीजेपी विधायक देवेंद्र प्रताप सिंह का निधन

बीजेपी विधायक देवेंद्र प्रताप सिंह का निधन

Kasganj News: जानकारी के मुताबिक अचानक तबीयत बिगड़ने के बाद सोमवार सुबह देवेंद्र प्रताप सिंह को एटा जिला हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था. इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

  • Share this:

कासगंज. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कासगंज (Kasganj) जनपद के अमांपुर विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक देवेंद्र प्रताप सिंह (BJP MLA Devendra Pratap Singh) का हार्ट अटैक से निधन हो गया. मिली जानकारी के मुताबिक अचानक तबीयत बिगड़ने के बाद सोमवार सुबह उन्हें एटा जिला हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था. इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. विधायक की मौत की खबर सुनते ही जिला बीजेपी यूनिट व समर्थकों में शोक की लहर है.

बताया जा रहा है कि सोमवार सुबह करीब 06 बजे कुर्सी पर बैठे बैठे अचानक जमीन पर गिर गए, मौके पर मौजूद परिवारीजनों ने भागकर उन्हें संभालने की कोशिश की लेकिन उनकी और से कोई प्रतिक्रिया न होने की स्थिति में उन्हें इलाज के लिए आनन फानन में उनके पैतृक गांव हाजीपुर से 30 किलोमीटर दूर एटा जिला अस्पताल में ले जाया गया. जहां चिकित्सकों ने देवेंद्र प्रताप को मृत घोषित कर दिया। प्रथम दृष्टया मृत्यु का कारण हृदय गति रुकना बताया गया है.

देवेंद्र प्रताप अपने क्षेत्र के बेहद लोकप्रिय जनप्रिय नेता थे. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के बेहद करीबी और उनके शीर्ष 10 लोगों में उनकी गिनती होती थी. कोरोना काल के इस दौर में भी वह जनता दरबार लगाकर लोगों की जनसमस्याओं को सुनते थे. इतनी विपरीत परिस्थितियों में भी वह जनसंपर्क में लगे हुए थे.

कल्याण सिंह के खास लोगों में थे शामिल
राजनीति में उन्हें कभी ज्यादा स्ट्रगल करने की जरुरत नहीं पड़ी. कल्याण सिंह के ख़ास लोगों में शामिल होने कारण सोरों विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 2000 में राष्ट्रीय क्रांति पार्टी से वह पहली बार विधायक बने. वर्ष 1997 की सोरों अमांपुर लोकसभा के निर्वाचित विधायक ओमकार सिंह की मृत्यु के उपरांत वर्ष 2000 में हुए दुबारा चुनाव में उन्होंने बीएसपी प्रत्याशी बाबूराम कश्यप को 195 वोट से हराया था. उसके बाद वह वर्ष 2002 में दूसरी बार विधायक बने, तब सोरों अमांपुर लोकसभा क्षेत्र से उन्होंने राष्ट्रीय क्रांति पार्टी से चुनाव लड़ते हुए बीएसपी उम्मीदवार रवि शर्मा को 12214 वोटों से हराया था.

2017 में तीसरी बार बने थे विधायक

वर्ष 2017 की वर्तमान लोकसभा में वह तीसरी बार विधायक बने. इस बार अमांपुर से बीजेपी के टिकिट से लड़ते हुए देवेंद्र प्रताप ने सपा प्रत्याशी वीरेंद्र सिंह सोलंकी को 41724 वोटों से परास्त किया था. देवेंद्र सिंह की अचानक से हुयी मौत की खबर सुनकर उनके समर्थकों में शोक की लहर दौड़ गयी है. वहीं बीजेपी  विधायक के निधन की खबर सुनते ही एटा जिले के एसएसपी उदय शंकर सिंह और जिलाधिकारी डॉ विभा चहल सहित , एटा सदर से भाजपा विधायक विपिन कुमार उर्फ डेविड , मारहरा विधानसभा से भाजपा विधायक वीरेंद्र सिंह लोधी , अलीगंज विधानसभा से भाजपा विधायक सतपाल सिंह राठौर ,कासगंज सदर से भाजपा विधायक देवेंद्र सिंह राजपूत , पटियाली विधानसभा से भाजपा विधायक ममतेश शाक्य , अलीगंज विधानसभा से भाजपा विधायक सतपाल सिंह राठौर , कासगंज के भाजपा जिला अध्यक्ष के पी सिंह , एटा के भाजपा जिला अध्यक्ष संदीप जैन सहित दोनों जिलों के सभी भाजपा नेता जिला अस्पताल पहुंच गए.



CM योगी ने जताया शोक

कासगंज के अमापुर विधायक देवेंद्र प्रताप सिंह के अचानक हृदयगति रूकने से हुए निधन पर मुख्यमंत्री श्री योगी ने गहरा दुख व्यक्त किया है. मुख्यमंत्री ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए पुण्यात्मा को श्रद्धांजलि अर्पित की है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज