लाइव टीवी

कौशाम्बी सामूहिक नकल: 31 लिखी उत्तर पुस्तिकाओं के साथ 3 लोग गिरफ्तार, हुआ बड़ा खुलासा
Kaushambi News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 28, 2020, 10:14 AM IST
कौशाम्बी सामूहिक नकल: 31 लिखी उत्तर पुस्तिकाओं के साथ 3 लोग गिरफ्तार, हुआ बड़ा खुलासा
कौशाम्बी सामूहिक नकल मामले में पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है.

पता चला कि ये कॉपियां भगंदर उर्फ लाला यादव के कहने पर लिखवाई गई हैं. वह कौशाम्बी के ही पिपरी थाना क्षेत्र का रहने वाला है. पूछताछ में पता चला कि इस काम के लिए युवराज को 10 हजार रुपए और पप्पू उर्फ प्रदीप और राजन बाबू को 5-5 हजार रुपए मिलते हैं. युवराज ने बताया कि केके मिश्रा और सिद्धार्थ सिंह हर कैंडिडेट से 35 हजार रुपए लेते हैं.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (UP STF) ने बोर्ड परीक्षा के दौरान पैसे लेकर सामूहिक नकल (Mass Cheating) कराने वाले गिरोह के 3 सदस्यों को कौशाम्बी (Kaushambi) से गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार युवराज सिंह, राजन बाबू सिंह और प्रदीप कुमार उर्फ पप्पू पाल कौशाम्बी के ही रहने वाले हैं. इनके पास से 31 लिखी हुई उत्तर पुस्तिकाएं बरामद की गई हैं.

एसटीएफ के अनुसार जानकारी मिली कि कौशाम्बी के पिपरी थाना क्षेत्र में कुछ स्कूलों के बाहर नकल माफियाओं के संरक्षण में सामूहिक तौर पर कॉपियां लिखी जा रही हैं. पता चला कि 26 फरवरी को इंटर की दूसरी पाली में होने वाली अंग्रेजी विषय की परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं को कुछ लोग बाहर से लिखवाने के बाद जमा करेंगे. पुलिस ने रेड की तो पता चला कि तीन लोग सभी उत्तर पुस्तिकाओं को इकट्ठा कर जमा करने जा रहे हैं. इस पर इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

दो स्कूलों के मैनेजर और लाला यादव का नाम आया सामने
पता चला कि ये कॉपियां भगंदर उर्फ लाला यादव के कहने पर लिखवाई गई हैं. वह कौशाम्बी के ही पिपरी थाना क्षेत्र का रहने वाला है. पता चला कि लाल यादव यूडी मेमोरियल कॉलेज, असरावल कला के मैनेजर केके मिश्रा और बचई सिंह सिंगरौर इंटर कॉलेज के मैनेजर के भाई सिद्धार्थ सिंह उर्फ ननका के लिए पैसे लेकर काम करता है.



नकल के लिए 35 हजार रुपए हर कैंडिडेट से 
बरामद उत्तर पुस्तिकाओं में से 10 यूडी कॉलेज की हैं, जबकि 21 बचई सिंह सिंगरौर कॉलेज की हैं.
पूछताछ में पता चला कि इस काम के लिए युवराज को 10 हजार रुपए और पप्पू उर्फ प्रदीप और राजन बाबू को 5-5 हजार रुपए मिलते हैं. युवराज ने बताया कि केके मिश्रा और सिद्धार्थ सिंह हर कैंडिडेट से 35 हजार रुपए लेते हैं.

ये भी पढ़ें:

VIDEO: यूपी बोर्ड में कहीं सामूहिक नकल तो कहीं खेत में कॉपी लिखते मिले छात्र

गोरखपुर: आर्मी स्कूल में सिविलियंस छात्रों की भर्ती पर रोक, 70 बच्चों को नोटिस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कौशाम्बी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 28, 2020, 9:31 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर