प्रधानमंत्री आवासीय योजना के नाम पर खुलेआम वसूली

कौशाम्बी जिले में प्रधानमंत्री आवास योजना में जमकर धांधली की बात सामने आई है. आरोप है कि परियोजना निर्देशक और ग्राम प्रधान की मिली भगत के चलते योजना के लाभार्थियों से 10-10 हजार रुपए की खुलेआम अवैध वसूली की जा रही है.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 16, 2018, 8:16 PM IST
ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 16, 2018, 8:16 PM IST
कौशाम्बी जिले में प्रधानमंत्री आवास योजना में जमकर धांधली की बात सामने आई है. आरोप है कि परियोजना निर्देशक और ग्राम प्रधान की मिली भगत के चलते योजना के लाभार्थियों से 10-10 हजार रुपए की खुलेआम अवैध वसूली की जा रही है. लाभार्थियों का कहना है कि शिकायत के बावजूद भ्रष्ट प्रधान और परियोजना निर्देशक के विरुद्ध अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है.

लोगों का आरोप है कि मंझनपुर जिला मुख्यालय से सटे भेलखा गांव में सौ से अधिक पीएम आवास योजना के लाभार्थियों से पहली ही किश्त में प्रधान ने 10-10 हजार रुपए की वसूली की है. बताया जा रहा है कि जो लाभार्थी प्रधान को पैसा नहीं देते है उनकी दूसरी किश्त परियोजना निर्देशक द्वारा रोक ली जाती है.

वहीं ग्रामीणों का कहना है कि प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ से आज भी गांव के सैकड़ों गरीब परिवार को वांछित रखा गया है. ईटीवी की टीम की पड़ताल के दौरान भेलखा गांव के लाभार्थियों ने ग्राम प्रधान के भ्रष्ट कारनामों का सच कैमरे के सामने बताया. तो वहीं विभागीय कर्मचारियों का कहना है कि भ्रष्ट प्रधान, परियोजना निर्देशक का बेहद करीबी कहा जाता है.

फिलहाल इस पूरे मामले पर प्रशासन की तरफ से कुछ नहीं कहा गया. वहीं लोगों को उम्मीद है कि सरकार आरोपियों के खिलाफ सख्त कदम उठाएगी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर