Board Exam: हिंदी भाषा में प्रश्नपत्र मिलने पर परीक्षा दोबारा कराने की मांग

गत 13 फरवरी को जब छात्र गणित का पेपर देने परीक्षा केंद्र पहुंचे तो उन्हें हिंदी मध्यम का प्रश्न पत्र थमा दिया गया. छात्रों का कहना है कि हिंदी माध्यम के प्रश्न पत्र को समझाने में उन्हें दिक्कत आई, जिससे उनके पेपर खराब हो गए.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 15, 2018, 10:43 PM IST
ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 15, 2018, 10:43 PM IST
कौशाम्बी जिले में गुरूवार को यूपी बोर्ड की परीक्षा के दौरान एक बड़ी लापरवाही उजागर हुआ.  हाईस्कूल की गणित परीक्षा देने वाले 4 छात्रों ने आरोप लगाया है कि गणित के पेपर के दौरान अंग्रेजी माध्यम के प्रश्न पत्र के बजाय उन्हें हिंदी माध्यम का प्रश्नपत्र थमा दिया गया, जिससे उनके पेपर खराब हो गए.

अग्रेजी माध्यम के पीड़ित छात्रों के मुताबिक परीक्षा केंद्र में हिंदी माध्यम के प्रश्न पत्र मिलने की शिकायत उन्होंने केंद्र व्यवस्थापक से भी की थी, लेकिन उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं, जिससे उनका पेपर खराब हो गया है. पीड़ित छात्रों ने  मामले की शिकायत जिलाधिकारी और पुलिस अधिकारियों से भी की है और पुनः परीक्षा कराने की मांग की है.

रिपोर्ट के मुताबिक जिले के टिकरा स्थित माता प्रसाद इंटर कॉलेज के हाईस्कूल छात्र क्रमशः अर्पित, आरएन सिंह, मोनू केसरवानी, सुभम नामदेव का परीक्षा सेंटर श्री जगत नारायण करवरिया इंटर कालेज में गया था, लेकिन गत 13 फरवरी को जब छात्र गणित का पेपर देने परीक्षा केंद्र पहुंचे तो उन्हें हिंदी मध्यम का प्रश्न पत्र थमा दिया गया. छात्रों का कहना है कि हिंदी माध्यम के प्रश्न पत्र को समझाने में उन्हें दिक्कत आई, जिससे उनके पेपर खराब हो गए.

पीड़िता छात्रों और उनके अभिवावकों द्वारा गुरूवार को मामले की शिकायत जिलाधिकारी और सर्किल ऑफिसर कराने के बाद सर्किल ऑफिसर मोइन अहमद ने मामले में जांच के निर्देश दिए गए है. उन्होंने कहा कि जांच रिपोर्ट डीआईओएस को भेजी जाएगी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर