कुंभ में 'सियासत' का अखाड़ा : 'पीओके से शारदा पीठ आज़ाद करवाओ'

प्रयागराज कुंभ में शारदा सर्वज्ञ शक्ति पीठ को मुक्त कराने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है. कुंभ में शारदा पीठ के इतिहास और इसकी धार्मिक महत्ता की जानकारी श्रद्धालुओं को देने के लिए विशेष कैंप लगाया गया है.

News18Hindi
Updated: February 11, 2019, 4:15 PM IST
News18Hindi
Updated: February 11, 2019, 4:15 PM IST
प्रयागराज कुंभ में पाक अधिकृत कश्मीर के नीलम घाटी में स्थित देवी शारदा सर्वज्ञ पीठ को मुक्त कराने के लिए अभियान को और तेज कर दिया गया है. शारदा सर्वज्ञ शक्ति पीठ को मुक्त कराने के लिए कश्मीरी पंडितों के संगठन, सेव शारदा कमेटी ने कुंभ में ये विशेष अभियान चलाया गया है. कुंभ के सेक्टर 6 में शारदा पीठ के इतिहास और इसकी धार्मिक महत्ता की जानकारी श्रद्धालुओं को देने के लिए विशेष कैंप लगाया गया है.

ये भी देखें- कमाल का कुंभ: 10 महीने की उम्र से तपस्या ! जानें बाल साधुओं का रहस्य

इस कैंप में शारदा पीठ का इतिहास और उसकी प्राचीनता से जुड़े हुए तथ्यों की जानकारी देने के लिए विशेष प्रदर्शनी लगाई गई है. सेव शारदा कमेटी ने भारत सरकार से मांग की है कि वह एलओसी परमिट नियमों में संशोधन करके शारदा पीठ तक जाने का मार्ग प्रशस्त करें. सेव शारदा कमेटी ने यह भी मांग की है कि पाक अधिकृत कश्मीर की नीलम घाटी को जम्मू कश्मीर से जोड़ने के लिए विशेष प्रबंध किए जाएं.



प्रदर्शनी में शारदा शक्ति पीठ का दुर्लभ चित्र भी लगाया गया है जो एक अंग्रेज ने 1890 में खींचा था. कमेटी कश्मीर के संस्थापक सदस्य रविंद्र पंडिता का कहना है कि केंद्रीय सरकार शारदा पीठ को मुक्त कराने के लिए एलओसी नियमों में संशोधन करें ताकि जम्मू कश्मीर के लोग पाक अधिकृत कश्मीर जाकर देवी शारदा पीठ का दर्शन कर सके.

ये भी देखें- कमाल का कुंभ: ये हैं हाईटेक युवा साध्वियां, जो इंग्लिश में सुनाती हैं भागवत कथा

साधु संतों का कहना है कि पाक अधिकृत कश्मीर भारत का अटूट अंग है लिहाजा भारत को चाहिए कि वह पाकिस्तान पर और जम्मू कश्मीर सरकार पर दबाव डालकर शारदा पीठ के दर्शन के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए मार्ग प्रशस्त करें. इनकी यह भी मांग है कि जिस प्रकार प्रयागराज की पहचान मां गंगा और यमुना के संगम से होती, उसी तरह से पूरे भारत की पहचान शारदा सर्वज्ञ पीठ से हो.

सेव शारदा कमेटी का कहना है कि कश्मीरी पंडितों के साथ साथ पूरे देश का जनमानस भी शारदा शक्तिपीठ को मुक्त कराने के लिए जब तक सामने नहीं आएगा आंदोलन में तेजी नहीं आएगी. संस्था का कहना है कि केंद्र सरकार को शारदा पीठ को मुक्त कराने के लिए जल्द ही कूटनीतिक प्रयासों के साथ साथ राजनीतिक प्रयास को भी तेज़ करना चाहिए.
Loading...

ऐसी ही अजब-ग़ज़ब कहानियों और VIDEOS के लिए क्लिक करें
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...