UP News: युवक की हत्या के बाद शव लेकर थाने जा रहे ग्रामीणों और पुलिस के बीच झड़प, थाना प्रभारी समेत कई घायल

(सांकेतिक फोटो)

(सांकेतिक फोटो)

Murder In Kushinagar: कुशीनगर के बोधीछपरा गांव में भूमि विवाद में मां के साथ भतीजे द्वारा चाचा की पीट-पीटकर हत्या का करने का मामला सामने आया. घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने जब शव को थाने के गेट पर ले जाने की कोशिश की, तो उनकी पुलिस से झड़प हो गई.

  • Share this:

कुशीनगर. उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में हनुमानगंज थाना क्षेत्र के बोधीछपरा गांव में हुए एक भूमि विवाद में मां के साथ भतीजे द्वारा चाचा की पीट-पीटकर हत्या का करने और उसके बाद ग्रामीणों तथा पुलिस के बीच देर तक झड़प का मामला सामने आया है. हत्या की यह वारदात बीते रविवार को हुई थी, लेकिन पोस्टमार्टम के बाद शव गांव में आने के बाद सोमवार को फिर टकराव और पुलिस से संघर्ष की स्थिति पैदा हो गई. शव आने पर ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा और वह शव को थाने के गेट पर ले जाने का प्रयास करने लगे. पुलिस के रोकने पर ग्रामीणों ने पथराव कर दिया, पुलिस ने भी लाठियां भांजी. इस झड़प और पथराव में एसओ समेत कई पुलिस कर्मियों को चोटें आयीं. बाद में डीएम और एसपी ने मौके पर पहुंच ग्रामीणों को कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया, तब जाकर ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ.

आरोप है कि भूमि विवाद के चलते मां के साथ मिलकर भतीजे ने अपने चाचा जयप्रकाश सिंह की पीट-पीटकर हत्या कर दी. पोस्टमार्टम के बाद शव आने पर ग्रामीण आक्रोशित हो गये. ग्रामीण मृतक के शव को हनुमानगंज थाने के गेट पर ले जाने लगे. ऐसा करने से पुलिस के रोकने पर ग्रामीण आक्रोशित हो गए. ग्रामीणों ने पास में स्थित रेलवे ट्रैक से गिट्टियां उठाकर पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया, जिससे एक बार पुलिस बैकफुट पर आ गई और पीछे हटने लगी. बाद में पुलिस ने भी ग्रामीणों को भगाने के लिए बल प्रयोग करते हुए लाठीचार्ज किया.

2 घंटे तक चलता रहा संघर्ष, कई पुलिसकर्मी और गांव वाले घायल

पुलिस व ग्रामीणों के बीच करीब दो घंटे तक संघर्ष चलता रहा. इसमें एसओ हनुमानगंज पंकज गुप्ता, एसआई संजय कुमार समेत कई पुलिस कर्मी और ग्रामीण भी चोटिल हो गये. बाद में कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे एएसपी अयोध्या प्रसाद सिंह, एसडीएम अरविन्द कुमार, तहसीलदार डॉ. एसके राय, सीओ खड्डा शिवाजी सिंह ने ग्रामीणों को किसी तरह शांत कराया. ग्रामीण पांच सूत्रीय मांग पत्र सौंपने के बाद शव का अंतिम संस्कार करने को राजी हुए. बाद में डीएम एस राज लिंगम और एसपी सचिन्द्र पटेल ने भी मौके पर पहुंच ग्रामीणों को कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया. इसके बाद ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज