Kushinagar news

कुशीनगर

अपना जिला चुनें

एक्शन में CM योगी, 7 लोगों की मौत पर कुशीनगर के CMO को किया सस्पेंड

मुसहरों की मौत पर कुशीनगर के CMO को किया सस्पेंड

मुसहरों की मौत पर कुशीनगर के CMO को किया सस्पेंड

भ्रष्टाचार और निकम्मेपन के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्शन में हैं. हर विभाग की समीक्षा करने के बाद अब वो मंडलीय समीक्षा कर रहे हैं. इसे लेकर वो पहले ही अधिकारियों को चेतावनी दे चुके हैं.

SHARE THIS:
कुशीनगर. भ्रष्टाचार (Corruption) के खिलाफ जीरो टॉलरेंस (Zero Tolerance) की नीति को अमल में लाते हुए उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने लापरवाही बरतने के आरोप में कुशीनगर के सीएमओ डॉ. हरिचरण सिंह को निलंबित कर दिया है. दरअसल, पिछले दिनों दुदही विकास खंड के तीन गावों में सात मुसहरों की मौत बीमारी और कुपोषण के चलते हो गई थी. मुसहरों की मौत के खिलाफ लोग सीएमओ के खिलाफ आंदोलन कर रहे थे. इसी सिलसिले में अब सरकार ने कार्रवाई करते हुए सीएमओ को निलंबित कर दिया है.

शुक्रवार को यह जानकारी प्रमुख सचिव चिकित्सा और स्वास्थ्य देवेश चतुर्वेदी ने दी है. इससे पहले कुशीनगर में अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री योगी ने चार घंटे तक समीक्षा बैठक कर अधिकारियों की जमकर क्लास लगाई. देवरिया के सीएमओ डॉ. धीरेंद्र कुमार, कुशीनगर के सीएमओ डॉ. हरिचरण सिंह और महाराजगंज के सीएमओ डॉ. क्षमा शंकर पांडेय के खराब प्रदर्शन को लेकर मुख्यमंत्री योगी ने उनसे स्पष्टीकरण मांगते हुए उन पर विभागीय कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे.

भ्रष्टाचार और निकम्मेपन के खिलाफ एक्शन में CM योगी 

मुख्यमंत्री ने पडरौना में बिजली विभाग के दो एक्सईन हंसराज कौशल और ए.एच खान पर नाराजगी जाहिर करते हुए उन्हें पद से हटाने के निर्देश जारी किए थे. बता दें कि भ्रष्टाचार और निकम्मेपन के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्शन में हैं. हर विभाग की समीक्षा करने के बाद अब मुख्यमंत्री मंडलीय समीक्षा कर रहे हैं. इसको लेकर वो पहले ही अधिकारियों को चेतावनी दे चुके हैं.

201 अधिकारियों को दी जा चुकी है जबरन रिटायरमेंट
अभी कुछ दिनों पहले ही सीएम योगी ने भ्रष्ट अधिकारियों पर चाबुक चलाते हुए 600 के खिलाफ कार्रवाई की थी, जिनमें से 201 को जबरिया सेवानिवृत्ति (रिटायरमेंट) भी दी गई है. इसके अलावा 150 से ज्यादा अधिकारी अब भी सरकार के राडार पर हैं.

ये भी पढ़ें:

 सपा सांसद आज़म खान की पत्नी पर ठोका 30 लाख का जुर्माना, ये रही वजह

उन्नाव गैंगरेप: AIIMS में लगेगी अदालत, दर्ज होगा पीड़िता का बयान-दिल्ली हाईकोर्ट

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Kushinagar News: आलू व्यापारी ने रची खुद के अपहरण की साजिश, पुलिस ने भेजा जेल

Kushinagar: पत्र भेजकर परिजनों से मांगी 10 लाख रुपए की फिरौती

Kidnapping case: पुलिस अधिक्षक सचिंद्र पटेल ने बताया की अपहरण की आशंका के कारण स्वाट, सर्विलांस और एसओजी टीम को इसकी जांच के लिए लगाया गया था.

SHARE THIS:

कुशीनगर. यूपी के कुशीनगर (Kushinagar) जिले में रहस्यमय स्थितियों में गायब हुए आलू व्यापारी को पटहेरवा थाने की पुलिस ने बरामद कर लिया है. आलू व्यापारी के गायब होने की जो कहानी सामने आई है वो हैरान करने वाली है. कर्ज से बचने के लिया व्यापारी ने अपने अपहरण की झूठी कहानी रची थी. गायब होने के बाद वह बस्ती जाकर छिपकर रहने लगा था. खुद उसने अपनी बाइक को लावारिश हालत में छोड़कर और एक पत्र भेजकर परिजनों ने 10 लाख रुपए की फिरौती भी मांगा था. अपहरण के घटना की जांच कर रही पटहेरवा थाने की पुलिस ने खुलासा करते हुए खुद के अपहरण की साजिश रचने वाले व्यापारी मोहन कुशवाहा को गिरफ्तार कर लिया है.

पटहेरवा थाने के रकबा राजा निवासी मोहन कुशवाहा के परिजनों ने बीते 3 सितंबर को थाने में तहरीर देकर मोहन के गायब होने की जानकारी दी. परिजनों ने मोहन के अपहरण की आशंका भी जाहिर की थी. इसके पांच दिन बाद मोहन की बाइक लावारिस हालत में मिली जिसपर मोहन का अपहरण करने और 10 लाख रुपए की फिरौती मांगने की बात लिखी गई थी. इसके बाद पटहेरवा थाने की पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज करते हुए छानबीन शुरू किया तो कुछ गड़बड़ लगा. सर्विलांस टीम ने गहन छानबीन किया तो मोहन की लोकेशन बस्ती में मिली.

यह भी पढ़ें- UP Assembly Election: मेरठ की क्रांतिकारी धरती से प्रियंका गांधी शुरू करेंगी प्रतिज्ञा यात्रा, 29 सितंबर को होगी जनसभा

इसके बाद पुलिस ने मोहन को बस्ती से एक घर से बरामद किया. पुलिस की पूछताछ में मोहन ने बताया की उसने कई लोगों से कर्ज ले रखा था जिसे देने में वह असमर्थ था इसलिए उसने अपने अपहरण की झूठी कहानी रची थी. पुलिस ने मोहन कुशवाहा को पुलिस को गुमराह करने सहित कई धाराओं में जेल भेज दिया है. पुलिस अधिक्षक सचिंद्र पटेल ने बताया की अपहरण की आशंका के कारण स्वाट, सर्विलांस और एसओजी टीम को इसकी जांच के लिए लगाया गया था. जांच में ये बात सामने आई थी की मोहन का अपहरण नहीं हुआ बल्कि सारी कहानी फर्जी लगी. इसके बाद सक्रिय हुई टीम ने मोहन को बरामद कर लिया. खुद के अपहरण की साजिश रचने वाले मोहन को जेल भेजा जा रहा है.

बुद्ध की धरती से CM योगी ने दंगाइयों को चेताया- गरीब, किसान का नुकसान किया तो सात पुश्तें भरेंगी हर्जाना

कुशीनगर में जमकर बरसे सीएम योगी आदित्यनाथ

UP Assembly Election 2022: कुशीनगर के कप्तानगंज में आयोजित विकास कार्यों के लोकार्पण और जनसंवाद कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार बनने के बाद हमने कानून व्यवस्था को दुरुस्त किया है.

SHARE THIS:

कुशीनगर. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने भगवान बुद्ध की धरती कुशीनगर (Kushinagar) से दंगाइयों को कड़ा संदेश दिया. रविवार को जिले के दौरे पर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि अगर किसी ने दंगा किया और गरीब व किसान को नुकसान पहुंचाया तो ऐसे दंगाइयों की सात पुश्तों से हर्जाना वसूला जाएगा. कुशीनगर के कप्तानगंज में आयोजित विकास कार्यों के लोकार्पण और जनसंवाद कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार बनने के बाद हमने कानून व्यवस्था दुरुस्त की है. पडरौना और कुशीनगर के डोल मेले में हर साल दंगा होता था. डोल का रास्ता बदल दिया जाता था, लेकिन हमारी सरकार बनने के बाद कोई दंगा नहीं हुआ है. प्रदेश से दंगाई गायब हैं, वो जानते हैं कि दंगा किया तो घर-बार बिक जाएगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी नीतियों के कारण ही साढ़े चार साल का समय बीतने को है, लेकिन पूरे प्रदेश में कहीं कोई दंगा नहीं हुआ. दंगा करने वाले लोग जान रहे हैं, दंगा किया और गरीब-किसान का नुकसान किया तो सात पीढ़ियों से हर्जाना वसूला जाएगा. आज पूरे प्रदेश से संगठित अपराध खत्म हो गया है. सीएम योगी ने कहा कि पूरे प्रदेश में कानून का राज है. कोई उपद्रवी उपद्रव करके बच नहीं सकता. हमने प्रदेश में बिना डरे और बिना झुके कानून का राज स्थापित किया है. इसलिए हम आपसे पुनः आशीर्वाद मांगने आए हैं. अभी प्रदेश में कई काम अधूरे पड़े हैं, आप लोग एक मौका और दें, ताकि ये काम पूरा हो सके.

विपक्ष पर निशाना
इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक-एक कर सभी राजनीतिक दलों पर निशाना साधा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रामभक्तों पर गोली चलाने वाली तालिबानी सोच वालों की जनता चुनाव में जमानत जब्त कर दे, क्योंकि बिच्छू कहीं भी रहेगा तो डंक ही मारेगा. सपा, बसपा और कांग्रेस पर एक साथ हमलावर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि तालिबान समर्थक, जातिवादी और वंशवादी मानसिकता के लोगों को जनता बर्दाश्त न करे. सीएम योगी ने जनता से राममंदिर निर्माण की खुशी पूछा और कहा कि कांग्रेस के राज में राम मंदिर बन पता क्या? सपा और बसपा के शासन में राम मंदिर बन पाता क्या? अब राम मंदिर का निर्माण हो रहा है तो विपक्ष के लोग बोल रहे हैं कि अब स्मारक नहीं बनवाएंगे.

कुशीनगर में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा - हमने कोरोना के भूत को बोतल में बंद कर दिया

सीएम योगी आदित्यनाथ कुशीनगर में योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने आए थे.

सीएम योगी ने कहा कि यूपी की आबादी 24 करोड़ है, लेकिन प्रदेश में सिर्फ 14 मामले हैं. कोरोना गायब है. केरल, दिल्ली, महाराष्ट्र में संभाले नहीं संभल पा रहा है, जबकि आबादी यूपी के मुकाबले बेहद कम. सीएम योगी ने कहा कि दरअसल, जनता के प्रति राज्यों की नीयत साफ नहीं है.

SHARE THIS:

कुशीनगर. कुशीनगर में विकास योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरे रौ में नजर आए. कोरोना से निपटने के लिए प्रदेश सरकार के प्रयासों को बताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दावा किया कि हमने कोरोना के भूत को बोतल में बंद कर दिया है. अब उससे डरने की जरूरत नहीं है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारे प्रदेश की आबादी 24 करोड़ है और इतनी आबादी होने के बाद भी आजकल प्रदेश में सिर्फ 14 मामले हैं. कोरोना गायब है. केरल में संभाले नहीं संभल पा रहा है, जबकि केरल की आबादी यूपी की आबादी का 8वां हिस्सा है. यूपी के मुकाबले दिल्ली की आबादी 12वां हिस्सा है और महाराष्ट्र की आबादी तो यूपी की आधी है, लेकिन कोरोना इन राज्यों में नहीं संभल पा रहा है. सीएम योगी ने कहा कि दरअसल, जनता के प्रति राज्यों की नीयत साफ नहीं है. अगर जनता को जनार्दन मानकर सेवा की होती, तो इस तरह की स्थिति नहीं होती. अन्य प्रदेशों ने मोदी के निर्देशों पर अमल नहीं किया. कोरोना को रोकने के लिए अगर मोदी जी के निर्देशन में चले होते, तो ऐसा नहीं होता.

इन्हें भी पढ़ें :
शराब माफिया पर सख्त योगी सरकार: 511 पर केस, 493 को भेजा जेल, 72 की संपत्ति जब्त
वरुण गांधी ने CM योगी को पत्र लिखकर किया गन्ने पर MSP बढ़ाने का आग्रह

योगी ने टीकाकरण पर जोर दिया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उपस्थित लोगों को जोड़ते हुए कहा कि कोरोना से जंग में प्रदेश के हर नागरिक ने सहयोग किया, तभी हम कोरोना पर विजय पा सके हैं. लेकिन अभी हमें सजग रहना है. कोरोना से बचाव के लिए सभी को टीका लगवाना होगा और अपने लोगों को जागरूक भी करना होगा. प्रदेश में कोरोना से जंग के लिए टीका मुफ्त किया गया है. जनसभा के अंत में सीएम योगी आदित्यनाथ ने उपस्थित जनसमूह से विधानसभा चुनाव 2022 में फिर से भाजपा की सरकार बनाने की अपील की.

Kushinagar News: पंखे का प्लग लगाते समय लगा करंट, पिता- पुत्र की मौत से मचा कोहराम

Kushinagar News: पंखे का प्लग लगाते समय लगा करंट

UP News: बता दें कि अयोध्या के तीन बेटों में अक्षय सबसे छोटा था. हाईस्कूल का छात्र था. बड़ा बेटा मनोज पटेल (22) बाहर रहकर कुछ ही महीने पहले कमाने गया है.

SHARE THIS:

कुशीनगर. यूपी के कुशीनगर (Kushinagar) जिले में शनिवार देर शाम कसया थाना क्षेत्र के अंध्या गांव में पंखे का प्लग लगाते समय करंट (Electric Current) लगने से पिता- पुत्र की दर्दनाक मौत हो गई. बताया जा रहा है कि पिता झोपड़ी में फर्राटा पंखे का प्लग लगा रहे थे तभी पंखे में करंट उतर आया. बेटे ने उन्हें बचाने के लिए पैर पकड़कर खींचना चाहा तो वह भी करंट की चपेट में आ गया. करंट लगने से दोनों बेहोश हो गए. परिजन दोनों को लेकर फाजिलनगर सीएचसी गए. जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया. घटना के बाद परिवार में कोहराम मच गया है. सूचना पर पूरा गांव मौके पर जुट गया.

मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. कसया थाने के अंध्या गांव निवासी अयोध्या पटेल का जीवन बेहद गरीबी में कट रहा था. घर के बगल में झोपड़ी डालकर किराने की दुकान चलाता था. झोपड़ी में एक फर्राटा पंखा लगा रखा था. गर्मी होने पर बेटे अक्षय पटेल के साथ पंखे का प्लग लगा रहा था तभी पंखे में करंट उतर आया और वह करंट की चपेट में आकर पंखे से चिपक गया. बेटे अक्षय ने पिता को पंखे से चिपके देखा तो वह भाग कर पिता का पैर पकड़ कर दूर खींने की कोशिश करने लगा. जिससे वह भी करंट की चपेट में आ गया था.

यह भी पढ़ें- Ayodhya News: राम भक्तों ने रामलला के लिए खोले खजाने, जानिए एक महीने में कितना आ रहा चढ़ावा

कुछ मिनट बाद दोनों बेहोश होकर गिर पड़े. गांव के लोगों ने दोनों को फाजिलनगर सीएचसी ले गए, जहां देखते ही डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया. बता दें कि अयोध्या के तीन बेटों में अक्षय सबसे छोटा था. हाईस्कूल का छात्र था. बड़ा बेटा मनोज पटेल (22) बाहर रहकर कुछ ही महीने पहले कमाने गया है. उससे छोटा अरुण पटेल (19) भी पढ़ाई करता है. कसया थाना प्रभारी अखिलेश सिंह ने बताया की घटना की जानकारी होने पर पुलिस गई है. दोनों शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया जा रहा है.

UP को मिलेगी बड़ी सौगात, इन दो एयरपोर्ट से जल्द शुरू होगी हवाई सेवा

जेवर एयरपोर्ट के निर्माण में तेजी लाने के लिए सरकार नौ हजार करोड़ रुपये जारी करेगी. (सांकेतिक फोटो)

UP News: कुशीनगर एयरपोर्ट से 100 दिनों में शुरू होंगी उड़ानें, वहीं जेवर एयरपोर्ट के निर्माण में तेजी लाने के लिए सरकार जारी करने जा रही है 9 हजार करोड़ रुपये.

SHARE THIS:

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों से पहले ही सूबे को एक बड़ी सौगात मिलने वाली है. जानकारी के अनुसार प्रदेश के दो नए एयरपोर्ट से अब जल्द ही उड़ानें शुरू होने वाली हैं. शासन के सूत्रों के अनुसार आने वाले 100 दिनों के अंदर ही कुशीनगर एयरपोर्ट से विमानों की आवाजाही शुरू हो जाएगी. वहीं नोएडा स्थित जेवर एयरपोर्ट के लिए 9000 करोड़ रुपये जारी किए जाएंगे.
जेवर के लिए जारी होने वाले 9 हजार करोड़ रुपये से निर्माण कार्य में तेजी लाई जाएगी और जल्द ही निर्माण पूरा कर यहां से भी उड़ानें शुरू की जाएगी. इसको लेकर तेजी से काम किया जा रहा है.

कुछ ऐसा होगा जेवर का प्लान
जानकारी के अनुसार जेवर एयरपोर्ट के निर्माण संबंध में पहले बाउंड्रीवॉल बनाने का काम शुरू होगा. उसके बाद वाईआईएपीएल का दफ्तर और एयर ट्रैफिक कंट्रोल की बिल्डिंग बनाने का काम शुरू होगा. इसके साथ ही रनवे बनेगा . एक रनवे की लम्बाई 4 किमी होगी. पहले फेस में दो रनवे बनाए जाएंगे. हर फेस के निर्माण कार्य के मुताबिक यहां टर्मिनल बिल्डिंग, कार्गो, ईंधन फॉर्म, वाहनों की पार्किंग और सार्वजनिक परिवहन केंद्र आदि भी बनाया जाएगा. इसके साथ ही ज्यूरिख कंपनी यहां पर इनफार्मेशन सेंटर भी बनाएगी.

जेवर एयरपोर्ट के मास्टर प्लान के मुताबिक एयरपोर्ट में दाखिल होने और बाहर निकलने के लिए बनाए जाने वाले एंट्री और एग्जिट गेट एक ही दिशा में होंगे. यह गेट गांव दयानतपुर की तरफ बनाए जाएंगे. यह देश का पहला एयरपोर्ट होगा जिसके एंट्री और एग्जिट गेट एक ही तरफ होंगे. जबकि आमतौर पर एयरपोर्ट के एंट्री और एग्जिट गेट अलग-अलग रखे जाते हैं.

हाल ही में बढ़ी थी थी कुशीनगर एयरपोर्ट लाइसेंस की अवधि
उल्लेखनीय है कि कुशीनगर एयरपोर्ट के लाइसेंस की अवधि को हाल में ही डेढ़ साल के लिए और बढ़ाया गया था. पूर्व में मिला लाइसेंस 21 अगस्त को खत्म होने जा रहा था. जिसके बाद नागर विमानन महानिदेशालय ने इसे 18 महीने के लिए और बढ़ दिया है. अब ये प्रदेश का तीसरे अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के लाइसेंस वाला एयरपोट्र होगा. साथ ही प्रदेश के सबसे बड़े रनवे वाला हवाईअड्डा भी.

अवैध संबंध के शक में पति ने पत्नी और दो बेटों को उतारा मौत के घाट, थाने पहुंचकर बोला- मुझे गिरफ्तार कर लो

Kushinagar News: राजेश गुप्ता और उसकी पत्नी की फाइल फोटो

Kushinagar Triple Murder: आठ वर्ष पूर्व राजेश का विवाह 30 वर्षीय निक्की से हुई थी. शादी के बाद उसके दो पुत्र 7 वर्षीय शिवम और 3 वर्षीय आयुष हुए. राजेश अपनी पत्नी के चरित्र पर अक्सर संदेह करता था, जिससे दोनों में अक्सर विवाद होता रहता था.

SHARE THIS:

कुशीनगर. यूपी के कुशीनगर (Kushinagar) में एक सिरफिरे युवक ने अवैध संबंध के शक में अपनी पत्नी और दो बेटों की गला रेतकर हत्या (Murder) कर दी. रात के वक्त जब सभी सो रहे थे तभी सनकी पति ने इस  घटना को अंजाम दिया. रात में हत्या करने के बाद वह लगभग 5 किलोमीटर दूर तुर्कपट्टी थाने पहुंचा और पूरी घटना की जानकारी देने के साथ खून लगा धारदार हथियार भी दिखाया. घटना की जानकारी होने के बाद थाने में मौजूद पुलिसकर्मी सहम गए. बाद में पुलिसकर्मी युवक के घर गए तो घर में महिला और दो बच्चों का शव पड़ा था. पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिय भेज दिया.

तुर्कपट्टी थाने भलुही गांव में रहने वाला 34 वर्षीय राजेश गुप्ता सिलाई का काम करता है. राजेश अपने तीन भाइयों से अलग रहता हैं. राजेश का बड़ा भाई दुबई में रहता है, लेकिन इस समय घर आया हुआ है. छोटा भाई जितेंद्र अपनी बीबी बच्चों के साथ चंडीगढ़ रहता है. आठ वर्ष पूर्व राजेश का विवाह 30 वर्षीय निक्की से हुई थी. शादी के बाद उसके दो पुत्र 7 वर्षीय शिवम और 3 वर्षीय आयुष हुए. राजेश अपनी पत्नी के चरित्र पर अक्सर संदेह करता था, जिससे दोनों में अक्सर विवाद होता रहता था.

थाने पहुंचकर कबूला जुर्म
सोमवार रात वह घर पर चिकन लेकर आया था. उसने खुद चिकन बनाया और पत्नी और बच्चों को खिलाया. रात में जब तीनों सो गए तो उसने धारदार हथियार से उनका गला रेत दिया. घटना को अंजाम देने के बाद राजेश लगभग 5 किलोमीटर दूर तुर्कपट्टी थाने पहुंचा और अपना जुर्म कबूल लिया. उसने बताया की उसकी पत्नी ने सूई लगवाकर उसे नपुंशक बना दिया है. छोटा बेटा मेरा नहीं है, इसलिये सबकी हत्या कर दी. इस घटना को लेकर गांव में तरह-तरह की चर्चाएं हो रहीं हैं. मृतक निक्की के परिजनों का आरोप है कि राजेश का अपनी भाभी से अवैध संबंध था. इसीलिए उसने पत्नी और बच्चों की हत्या की है. थानाध्यक्ष आनंद गुप्ता ने बताया कि राजेश ने थाने आकर खुद अपना जुर्म कबूल किया है. पुलिस घटना के अन्य पहलुओं की जांच कर रही है.

UP: शराबी पति की हैवानियत, 3 बच्चों समेत पत्नी का रेता गला, फिर खा लिया जहर

पत्नी और अपने तीन बच्चों को मौत की नींद सुलाने वाला जितेंद्र का कुछ दिन पूर्व अपनी पत्नी लीलावती से विवाद हुआ था.

Kushinagar News: कुशीनगर के कसया थानाक्षेत्र के कुड़वा दिलीपनगर में शराबी पति ने अपनी पत्नी और तीन मासूम बच्चों का गला रेतकर मौत के घाट उतार दिया. कुछ दिन पूर्व जितेंद्र अपनी पत्नी और बच्चों को मायके से लेकर घर आया था. घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फ़ैल गई.

SHARE THIS:

कुशीनगर. कुशीनगर में एक झकझोर देने वाली घटना सामने आई है. कसया थाने के कुड़वा दिलीपनगर के गोपाल टोले में शराबी पति ने अपनी पत्नी और तीन मासूम बच्चों का गला रेतकर मौत के घाट उतार दिया और फिर खुद भी जहर खा लिया. घटना में पत्नी और तीन बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि पति की हालत गंभीर है जिसे इलाज के लिए गोरखपुर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. घटना का कारण पारिवारिक कलह बताया जा रहा है. पत्नी और अपने तीन बच्चों को मौत की नींद सुलाने वाला जितेंद्र का कुछ दिन पूर्व अपनी पत्नी लीलावती से विवाद हुआ था जिसके करना लीलावती बच्चों को लेकर मायके चली गई थी. कुछ दिन पूर्व जितेंद्र अपनी पत्नी और बच्चों को मायके से लेकर घर आया था. घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फ़ैल गई.

घटना के बाद एसपी सचिंद्र पटेल ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया. पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. कसया थाने के कड़वा दिलीपनगर के गोपाल टोला निवासी और राजगीर मिस्त्री का काम करने वाले जितेंद्र के शराब पीने की लत से पूरा परिवार परेशान था. आर्थिक तंगी के बीच जितेंद्र का शराब पीना पूरे परिवार पर भारी पड़ रहा था. जितेंद्र की पत्नी लीलावती शराब पीने को लेकर अक्सर विवाद करती थी. कुछ दिन पूर्व जितेंद्र और लीलावती में एक फिर विवाद हुआ जिससे नाराज होकर लीलावती अपने मायके चली गई. रक्षाबंधन के एक दिन पहले जितेंद्र भी अपनी ससुराल पहुंचा और शराब ना पीने का वायदा करके अपनी पत्नी लीलावती को लेकर घर आ गया. कुछ दिन तो ठीक-ठाक रहा लेकिन फिर वाह शराब पीने लगा जिसको लेकर लीलावती और उसके बीच झगड़ा हुआ.

बीती रात जितेंद्र मछली लेकर आया था अपनी पत्नी और तीन बच्चों को खाना खिलाया और फिर सब सोने चले गए. उसके बाद दोपहर तक उसके घर में कोई हलचल नहीं हुई तो पड़ोसियों को शक हुआ. पड़ोसियों ने जितेंद्र और उसके बच्चों का नाम लेकर बुलाया लेकिन कोई हरकत नहीं हुई जिसके बाद पड़ोसियों ने दरवाजा तोड़ दिया. अंदर जाने पर तख्ते पर तीन बच्चे 8 वर्षीय आकाश, 6 वर्षीय विकास और 4 वर्षीय निखिल पड़ा हुआ था जिनका बड़ी बेदर्दी से गला रेता गया था. थोड़ी दूर पर लीलावती भी मृत पड़ी थी. जितेंद्र भी बेसुध पड़ा था जिसे स्थानीय लोगों ने कसया सीएचसी भर्ती कराया जहां से उसके गोरखपुर मेडिकल रेफर कर दिया गया. महिला सहित तीन मासूम बच्चों की हत्या से पूरा गांव दहल गया. लोगों ने तत्काल पुलिस को सूचित किया जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने चारों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिय भेज दिया. बाद में पुलिस अधीक्षक सचिंद्र पटेल ने घटनास्थल का निरीक्षण किया. एसपी ने बताया की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और नशीला पदार्थ खाने वाले जितेंद्र को हायर मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है बाकी बिंदुओं पर जांच चल रही है.

UP: स्वतंत्रता दिवस से पहले कुशीनगर में पकड़ा गया अफगानिस्तान का युवक, पूछताछ में जुटी सुरक्षा एजेंसियां

UP: कुशीनगर में पकड़ा गया अफगानिस्तान का युवक

उधर, यूपी के डीजीपी (DGP) मुकुल गोयल ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रदेश भर में सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद रखने के निर्देश दिए हैं.

SHARE THIS:

कुशीनगर. 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट पर है. इसी कड़ी में कुशीनगर जिले (Kushinagar) में कुबेरस्थान थाने की पुलिस ने शनिवार को पिपरा जटामपुर गांव के खुशी पट्टी में एक व्यक्ति के घर से अफगानिस्तान निवासी युवक को गिरफ्तार किया है. पकड़े गये युवक ने पूछताछ में अपना नाम अहमद सगीर व पता नहियेसेदेह, मजांग, काबुल अफगानिस्तान बताया है. बताया जा रहा है कि वह 2014 में ही टूरिस्ट वीजा पर दिल्ली आया था. 18 जुलाई को कुशीनगर पहुंचा था. पुलिस ने बिना वीजा के रह रहे युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुलिस के साथ ही आईबी और एटीएस की टीम युवक के बारे में गहनता से पूछताछ में जुटी है.

बता दें कि पिपरा जटामपुर गांव के खुशीपट्टी निवासी फखरुद्दीन अंसारी पुत्र उस्मान अंसारी के घर 18 जुलाई से रह रहे अजनबी युवक की बोलचाल की भाषा से गांव के लोगों को उस पर संदेह हुआ. बाद में युवक ने फखरुद्दीन के घर वालों से यहीं के पते पर जब आधार कार्ड बनवाने की बात कही तो फखरुद्दीन के घर वालों के साथ साथ ग्रामीणों में युवक के प्रति संदेह और भी बढ़ गया.

Ghaziabad News: शातिर जालसाजों को पुलिस ने दबोचा, बच्चों की पॉलिसी के नाम पर लगाते थे चूना

ग्रामीणों ने इसकी सूचना कुबेरस्थान पुलिस को दी. आज एसओ संजय कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम ने गांव पहुंच कर युवक को हिरासत में लेकर थाने पहुंची. पूछताछ में युवक ने पहले अपना पता कश्मीर बताया बाद में पुलिस द्वारा कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने अपना नाम अहमद समीर पुत्र अब्दुल सबूर निवासी नहियेसेदेह, मजांग, काबुल अफगानिस्तान बताया. फिलहाल सुरक्षा एजेंसियां युवक से पूछताछ कर रही है.

उधर, यूपी के डीजीपी मुकुल गोयल ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रदेश भर में सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद रखने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने बस, रेलवे, मेट्रो स्टेशनों और हवाई अड्डों समेत बाजार व मॉल जैसे सार्वजनिक स्थानों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं. इसके लिए योजनाबद्ध तरीके से पुलिस कर्मियों को तैनात करने को कहा है.

Sarkari Naukri : कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में टीचर और कुक की भर्ती, इतनी मिलेगी सैलरी

ये भर्तियां कुशीनगर जिले में संचालित 14 कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में होंगी.

Sarkari Naukri : कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय भर्ती 2021 के तहत टीचर और कुक पदों पर नौकरियां हैं. टीचर पदों के लिए महिला अभ्यर्थियों के पास शानदार मौका है.

SHARE THIS:
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के कुशीनगर स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में फुल टाइम व पार्ट टाइम टीचर और असिस्टेंट कुक के 45 पदों पर भर्ती का विज्ञापन जारी किया है. इसके लिए अभ्यर्थियों को आवेदन ऑफलाइन करने हैं. आवेदन फॉर्म कुशीनगर जिले की वेबसाइट https://kushinagar.nic.in/ पर जाकर डाउनलोड किए जा सकते हैं. आवेदन की अंतिम तिथि पांच अगस्त है. नोटिफिकेशन के अनुसार ये भर्तियां कुशीनगर जिले में संचालित 14 कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में होंगी. इन पदों के लिए न्यूनतम आयु सीमा 25 वर्ष और अधिकतम 45 वर्ष निर्धारित की गई है. आवेदन भेजने का पता है- कार्यालय, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, कुशीनगर, पिनकोड- 244304. आवेदन सिर्फ स्पीड पोस्ट या रजिस्टर्ड डाक से ही प्रेषित करना है.

वैकेंसी का विवरण

गणित टीचर (फुल टाइम)- 11 पद
विज्ञान टीचर (फुल टाइम)- 11 पद
सामाजिक विषय (फुल टाइम)- 01 पद
अंग्रेजी टीचर (फुल टाइम)- 04 पद
कंप्यूटर टीचर(अंशकालिक)- 05 पद
कला क्राफ्ट और संगीत/गृह शिल्प शिक्षिका- 10 पद
स्काउट गाइड एवं शारीरिक शिक्षा (अंशकालिक)- 02 पद
असिस्टेंट कुक- 01 पद
कुल- 45 पद

आवश्यक योग्यता-

गणित टीचर (फुल टाइम)- फिजिक्स, केमिस्ट्रीऔर मैथ्स ग्रुप के साथ प्रशिक्षित स्नातक और उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी
विज्ञान टीचर (फुल टाइम)- जुलॉजी, बॉटनी और केमिस्ट्री ग्रुप से प्रशिक्षित स्नातक और उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी
सामाजिक विषय (फुल टाइम)- इतिहास, भूगोल और नागरिक शास्त्र में से किसी एक विषय में ग्रेजुएट और उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी पास
अंग्रेजी टीचर (फुल टाइम)- अंग्रेजी विषय में प्रशिखित स्नातक और उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी पास
कंप्यूटर टीचर(अंशकालिक)- प्रशिक्षित स्नातक और एनसीटीई से मान्यता प्राप्त बीएड/समकक्ष एलटी प्रशिक्षण योग्यता और उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी , पीजीडीसीए/बीसीए/बीएससी कंप्यूटर साइंस या स्नातक सहित डीओईए सीसी या समकक्ष संस्था से ओ लेवल/ए लेवल डिप्लोमा
स्काउट गाइड एवं शारीरिक शिक्षा (अंशकालिक)- बीपीएड, सीपीएड और डीपीएड आदि उपाधि
कला क्राफ्ट और संगीत/गृह शिल्प शिक्षिका (अंशकालिक)- कला क्राफ्ट और संगीत/गृह शिल्प से स्नातक उपाधि सहित एनसीटीई से मान्य बीएड/समकक्ष एलटी प्रशिक्षण योग्यता और उच्च स्तर की टीईटी
असिस्टेंट कुक- आठवीं पास होना चाहिए.

इतनी मिलेगी सैलरी (प्रति माह )

गणित टीचर (फुल टाइम)-22000 रुपये
विज्ञान टीचर (फुल टाइम)-22000 रुपये
सामाजिक विषय (फुल टाइम)- 22000 रुपये
अंग्रेजी टीचर (फुल टाइम)-22000 रुपये
कंप्यूटर टीचर(अंशकालिक)- 9800 रुपये
कला क्राफ्ट और संगीत/गृह शिल्प शिक्षिका- 9800 रुपये
स्काउट गाइड एवं शारीरिक शिक्षा (अंशकालिक)- 9800 रुपये
असिस्टेंट कुक- 5175 रुपये

यहां क्लिक करके नोटिफकेशन देखें

ये भी पढ़ें

UP Board Result 2021: यूपी बोर्ड 10वीं व 12वीं का रिजल्ट जल्द , जानें डिटेल

मध्‍यप्रदेश: UG और PG में किसी भी उम्र के लोग ले सकेंगे एडमिशन, हटी उम्र की पाबंदी

प्रियंका गांधी की देखरेख में यूपी चुनाव लड़ेगी कांग्रेस, सपा-बसपा से गठबंधन की जरूरत नहीं- अजय कुमार लल्लू

UP में कांग्रेस के पास SP-BSP से गठबंधन किए बिना भी चुनाव लड़ने की क्षमता (File photo)

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) इस महीने कई जिलों का दौरा कर सकती हैं जहां उनका लक्ष्य कैडर को उत्साहित करना और पार्टी को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ छिड़ी चुनावी जंग के लिए तैयार करना है.

SHARE THIS:
नयी दिल्ली/ लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए किसी समाजवादी पार्टी (SP) और बहुजन समाज पार्टी (BSP) के कोई बड़ा गठबंधन करने से इनकार के बाद कांग्रेस (Congress) की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू (Ajay Kumar Lallu) ने रविवार को भरोसा जताया कि उनकी पार्टी में इनमें से किसी से गठबंधन किए बिना चुनाव लड़ने की और अपने दम पर अगली सरकार बनाने की क्षमता है. उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस अगले साल के उत्तर प्रदेश विधानससभा चुनाव प्रियंका गांधी की ‘देख-रेख’ में लड़ेगी और कहा कि उनके नेतृत्व में पार्टी करीब तीन दशक बाद राज्य में वापसी करेगी.

‘पीटीआई-भाषा’ के साथ एक साक्षात्कार में, लल्लू ने कहा कि कांग्रेस “दमनकारी’’ उत्तर प्रदेश सरकार को मुख्य चुनौती देने वाली पार्टी के तौर पर उभरी है और दावा किया कि 403 सदस्यीय विधानसभा में महज पांच विधायकों के साथ उनकी पार्टी 49 विधायकों वाली सपा से ज्यादा प्रभावी विपक्ष के रूप में साबित हुई है. उन्होंने राज्य में “बदलाव की हवा” चलने का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘बदलाव की आंधी है जिसका नाम प्रियंका गांधी है.”

प्रियंका की देखरेख में लड़ा जाएगा चुनाव
प्रदेश कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि प्रियंका गांधी के नेतृत्व में राज्य में विभिन्न स्तरों पर कांग्रेस संगठन मजबूत हुआ है. उत्तर प्रदेश चुनावों के लिए क्या पार्टी को प्रियंका गांधी को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार नहीं बनाना चाहिए, यह पूछने पर लल्लू ने कहा कि मुख्यमंत्री पद के लिए किसे चेहरा बनाया जाएगा इसका फैसला पार्टी का राष्ट्रीय नेतृत्व करेगा. चुनावी जंग में प्रियंका गांधी को चेहरा बनाए जाने के सवाल पर लल्लू ने कहा कि वह राज्य की प्रभारी हैं और चुनाव उनकी देखरेख में लड़ा जाएगा.

विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी पार्टी
उन्होंने कहा, “उत्तर प्रदेश के लोग उम्मीद से कांग्रेस की तरफ देख रहे हैं. उनके (प्रियंका गांधी के) नेतृत्व में कार्यकर्ताओं के बीच बहुत उत्साह है, उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी.” उनकी टिप्पणी ऐसे वक्त में आई है जब पार्टी ने विधानसभा चुनाव के लिए तैयारी में जुट गई है और प्रदेश इकाई ने प्रखंड अध्यक्षों, जिला अध्यक्षों और अन्य पदाधिकारियों के लिए क्षेत्रवार प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन शुरू कर दिया है.

इन मुद्दों के साथ करेगी गठबंधन
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी इस महीने कई जिलों का दौरा कर सकती हैं जहां उनका लक्ष्य कैडर को उत्साहित करना और पार्टी को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ छिड़ी चुनावी जंग के लिए तैयार करना है. पार्टी अपने दम पर चुनाव लड़ेगी या सपा या बसपा के साथ गठबंधन करेगी, इसपर लल्लू ने कहा कि कांग्रेस लोगों, किसानों, गरीबों, महिलाओं एवं दलितों के मुद्दों के साथ गठबंधन करेगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस गठबंधन के साथ लोगों के पास जाएगी और उसे भरोसा है कि वे इसका साथ देंगे.

योगी सरकार की बड़ी पहल, UP में बहुत जल्द होंगे 5 अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे, देश का बना पहला राज्य

UP में बहुत जल्द होंगे 5 अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (प्रतीकात्मक तस्वीर)

गौरतलब है कि हवाई सेवाओं (Air Services) के लिहाज से देश में फिलहाल केरल, गुजरात (Gujrat) और महाराष्ट्र जैसे राज्य आगे हैं.

SHARE THIS:
लखनऊ. योगी सरकार (Yogi Government) ने राज्य में हवाई सेवाओं (Air Services) के चौतरफा विस्तार की गति तेज कर दी है. यूपी सरकार द्वारा नीति आयोग में पेश योजना के मुताबिक लखनऊ, वाराणसी समेत अयोध्या, कुशीनगर और गौतमबुद्ध नगर से भी बहुत जल्द दुनिया के विभिन्न देशों के लिए सीधी हवाई सेवा की सुविधा उपलब्ध होगी. मौजूदा समय में उत्तर प्रदेश में लखनऊ, वाराणसी, आगरा, गोरखपुर, कानपुर, प्रयागराज और हिण्डन एयरपोर्ट से हवाई सेवाएं संचालित हो रही हैं. 15 दिन के भीतर बरेली हवाई अड्डे से भी हवाई सेवाओं की शुरुआत कर दी जाएगी. इसके लिए 8 मार्च की तिथि निर्धारित की गई है.

यूपी में दो अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे
बता दें कि उत्तर प्रदेश में अब तक केवल दो ही शहरों में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं. लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट (अमौसी हवाई अड्डा) और लाल बहादुर शास्त्री हवाई अड्डा वाराणसी (बाबतपुर एयरपोर्ट) से ही अंतर्राष्ट्रीय उ़ड़ानों का संचालन किया जाता है. विकास को गति देने के लिये बीते कुछ सालों में केन्द्र की मोदी सरकार और सूबे की योगी सरकार ने हवाई कनेक्टिविटी पर खास फोकस किया है. जल्द ही सूबे में कुशीनगर, नाेएडा ऑर अयोध्या में भी अत्याधुनिक अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा होगा और यहां से इंटरनेशनल फ्लाइट ऑपरेशन होगा.

कुशीनगर एयरपोर्ट
कुशीनगर में बन रहा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा पूर्वांचल का दूसरा, यूपी का तीसरा और देश का 87वां लाइसेंसी इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा. योगी सरकार ने इसका निर्माण बेहद तेजी से कराया. यह न सिर्फ बनकर तैयार हो चुका है बल्कि बीते 23 फरवरी को डीजीसीए ने इसे उड़ान का लाइसेंस भी जारी कर दिया है. जल्द ही यहां से उड़ान शुरू हो जाएगी.

नोएडा में जेवर एयरपोर्ट
नोएडा के जेवर में भी ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाया जा रहा है. गौतम बुद्ध नगर जिले के जेवर में 40.0919 हेक्टेयर भूमि पर बनने वाले इस अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पांच रनवे होंगे. दो रनवे के लिये जमीन अधिग्रहित हो चुकी है, जबकि तीन के लिये 3,418 हेक्टेयर भूमि अभी अधिग्रहित होनी है. यहां पहले फेज का काम पूरा होन के साथ ही उड़ान सेवा शुरू कर दी जाएगी.

अयोध्या में श्रीराम एयरपोर्ट
अयोध्या में श्रीराम एयरपोर्ट योगी सरकार की महत्वकांक्षी योजना है। राम मंदिर निर्माण शुरू होने के साथ ही यहां विकास की ढेरों परियोजनाएं शुरू की गई हैं. श्रद्धालुओं ऑर पर्यटकों की सहूलियत को देखते हुए कनेक्टिविटी पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है. यहां श्रीराम इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाने पर तेजी से काम चल रही है. गौरतलब है कि हवाई सेवाओं के लिहाज से देश में फिलहाल केरल, गुजरात और महाराष्ट्र जैसे राज्य आगे हैं.

VIDEO: लग्जरी गाड़ी न बैंड बाजा, देवरिया में एक दर्जन बैलगाड़ियों पर बारात लेकर निकला दूल्हा

देवरिया में एक दर्जन बैलगाड़ियों पर बारात लेकर निकला दूल्हा

दूल्हे (Groom) छोटे लाल पाल का कहना है कि मैंने सोच रखा था कि जब मेरी शादी होगी तो बैलगाड़ी से अपनी बारात ले जाऊंगा ताकि पुरानी परंपरा को आज के दौर में लोग देख कर समझ सकें.

SHARE THIS:
देवरिया. उत्तर प्रदेश के देवरिया (Deoria) जिले में रविवार को एक दूल्हे (Groom) की अनोखी बारात इलाके में चर्चा का केंद्र बनी हुई है. ये बारात किसी लग्जरी कार, घोड़ा, हाथी में नहीं बल्कि बैलगाड़ी से रवाना हुई. इस बारात को जिसने भी देखा देखता ही रह गया. सोशल मीडिया पर भी इस बैलगाड़ी वाली बारात का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. बैलगाड़ी पर ही दूल्हा और बाराती सवार रहे. बारात में डीजे की जगह लोग फरुआही लोकनृत्य पर थिरकते दिखे. इस अनोखी बारात को लोग अपने मोबाइल कैमरे में कैद करते नजर आए.

बता दें कि रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के कुशहरी गांव के रहने वाले छोटेलाल पाल धनगर पुत्र स्वर्गीय जवाहर लाल की थी. छोटेलाल की शादी जिले के रुद्रपुर क्षेत्र के पकड़ी बाजार के नजदीक बलडीहा दल गांव निवासी रामानंद पाल धनगर की पुत्री सरिता से तय थी. रविवार को बारात रवाना होनी थी. इसके लिए कुशहरी में पिछले एक सप्ताह से तैयारी चल रही थी. बारात को घर से 22 किलोमीटर दूर जाना था. इसलिए सुबह 11 बजे ही घर से सभी बाराती निकल गए. वहीं, छोटेलाल पाल पालकी से परछावन कराने निकले, जिसे देख लोगों की निगाहें नहीं हट रही थी.



अलीगढ़: जान हथेली पर रखकर जांबाज दारोगा ने बचाई दिव्यांग की जान, योगी सरकार ने दिया 50 हजार का इनाम

बारात में बैंड बाजा की जगह कलाकार फरी लोक नृत्य कर रहे थे. इस बीच गांव में बूढ़े-बुजुर्ग जहां परछावन देखने पहुंचे तो वहीं, बच्चों के लिए यह बारात कोतुहल का विषय थी. दूल्हे छोटे लाल पाल का कहना है कि मैंने सोच रखा था कि जब मेरी शादी होगी तो बैलगाड़ी से अपनी बारात ले जाऊंगा ताकि पुरानी परंपरा को आज के दौर में लोग देख कर समझ सकें. गाड़ियों की वजह से यह परंपरा ख़त्म हो रही है, मैं लोगों को पुरानी परंपरा के बारे में भी बता रहा हूं.

फिल्मों की शूटिंग टीम में काम करते हैं छोटे लाल
स्वर्गीय जवाहर लाल पाल धनगर के दो बेटे हैं. बड़ा बेटा रामविचार पाल धनगर गांव पर ही रहते हैं. जबकि, छोटे लाल मुंबई में फिल्मों की शूटिंग टीम में काम करते हैं. रिश्ता तय होने के बाद जब छोटे लाल घर आए तो, उन्होंने अपनी बारात खास अंदाज में निकालने इच्छा जाहिर की थी.

UP Flood: लगातार बारिश से तराई और पूर्वांचल के 16 जिलों में बाढ़ का खतरा, एडवाइजरी जारी

लगातार बारिश से तराई और पूर्वांचल के 16 जिलों में मंडराया बाढ़ का खतरा (File photo)

UP Flood News: यूपी के गोरखपुर, लखीमपुर खीरी, श्रावस्ती, बहराइज, सीतापुर, मऊ समेत कई जिलों में नदियों का जलस्तर बढ़ा. कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रहीं नदियां. आपदा एवं राहत विभाग ने संबंधित जिलों को किया अलर्ट.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के 16 जिलों में समय बीतने के साथ बाढ़ (Flood) का भी खतरा बढ़ता जा रहा है. इन सभी जिलों से होकर बहने वाली नदियों के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. कुछ नदियां तो अभी से खतरे के निशान के ऊपर बहने लगी हैं. चिंता वाली बात ये है कि हर पल के बीतने के साथ नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी ही हो रही है. वहीं लगातार हो रही बारिश से बाढ़ का खतरा और तेजी से बढ़ता जा रहा है. इसे देखते हुए राहत विभाग ने इन सभी जिलों के अफसरों को एडवाइजरी भेज दी है और तैयारी रखने के निर्देश दिये हैं.

दरअसल, लखीमपुर खीरी, श्रावस्ती, बहराइच, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, महाराजगंज, कुशीनगर, देवरिया, गोरखपुर, गोण्डा, बस्ती, संतकबीर नगर, बलिया, बाराबंकी, सीतापुर और मऊ में बाढ़ का संकट मंडरा रहा है. महराजगंज और सिद्धार्थनगर में तो जलभराव भी शुरू हो गया है. गोरखपुर में रोहिणी नदी त्रिमोहानीघाट पर खतरे के निशान से लगभग एक मीटर ऊपर बह रही है. गोरखपुर में तैनात गण्डक बाढ़ मण्डल के अधीक्षण अभियंता दिनेश सिंह ने बताया कि नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है. दिन-रात निगरानी की जा रही है. हल्की कटान की स्थिति में फटाफट रेत से उसे भर दिया जा रहा है. सभी तटबंध सुरक्षित हैं और आबादी क्षेत्र में पानी नहीं आया है.

पंचायत चुनावों पर अखिलेश यादव बोले- हार से बौखलाई बीजेपी, अब सरकारी तंत्र का कर रही दुरुपयोग

दूसरी तरफ शारदा, घाघरा और राप्ती नदी का जलस्तर भी खतरे के निशान के पास पहुंच गया है. चिंताजनक बात ये है कि इन सभी नदियों का जलस्तर हर सेकेण्ड के साथ बढ़ता जा रहा है. इस बात की आशंका बढ़ गयी है कि अगले कुछ घंटों में इन सभी नदियों का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर जायेगा. ऐसे में लगातार पानी बढ़ने से निचले इलाकों में जलभराव की समस्या खड़ी हो सकती है. इन 16 जिलों की ओर बढ़ते इस खतरे को देखते हुए राहत विभाग ने जिलों को निर्देश दे दिये हैं कि बाढ़ के संकट से निपटने के उपाय किये जाए.

नेपाल और उत्तराखण्ड में हो रही लगातार बारिश
बाढ़ प्रभावित आबादी के लिए राहत शिविर तैयार किये जाएं और उनके खाने-पीने का भी प्रबंध किया जाए. आपको बता दें कि नेपाल और उत्तराखण्ड के साथ तराई और पूर्वी इलाकों में लगातार हो रही बारिश से नदियां उफान मारने लगी हैं. समय से पहले ही इस साल सूबे में बाढ़ के हालात पैदा हो गये हैं. मॉनसून के जल्दी आने की वजह से ये समस्या जल्दी खड़ी हुई है.

कुशीनगर: नारायणी नदी के बीच फंसी नाव से सकुशल निकाले गए सभी 150 लोग, पूरी रात चला रेस्क्यू ऑपरेशन

UP: कुशीनगर में नारायणी नदी में फंसी नाव से सभी 150 लोगों को सकुशल निकाल लिया गया है.

Kushinagar: कुशीनगर के जिलाधिकारी एस राजलिंगम ने बताया की नारायणी नदी में नाव फंसने की सूचना मिली है. फंसे लोगों को निकलने का काम किया जा रहा है. एसडीआरएफ की टीम को बुलाया गया है.

SHARE THIS:
कुशीनगर. उत्तर प्रदेश के कुशीनगर (Kushinagar) में में डेढ़ सौ से ज्यादा यात्रियों को लेकर जा रही एक नाव गुरुवार देर शाम अचानक नारायणी नदी में फंस गई. नारायणी नदी की बीच धारा में फंसी नाव बहते हुए लगभग 3 किलोमीटर दूर अमवा दीगर बंधे पर पहुंच गई. नाव में सवार लोगों में चीख पुकार मच गई. लोगों की चीख पुकार सुनकर पहुंचे स्थानीय लोगों ने छोटी नाव लेकर लोगों को निकालना शुरू किया. जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह तक रेस्क्यू ऑपेरशन पूरा हो गया है. नाव से सभी 150 लोगों को सकुशल निकाल लिया गया है.

करीब 8 घंटे चले रेस्क्यू ऑपरेशन के सकुशल पूरा होने पर सभी ने राहत की सांस ली है. पूरी रात डीएम, एसपी मौके पर मौजूद रहे. नाव तमकुही तहसील के बरवा पट्टी घाट से बहकर अमवा दीगर पहुंच गई थी. जान बचाने के लिए नाव सवार 8 घंटे तक नदी की धारा से संघर्ष करते रहे. नाव में महिला, पुरुष और बच्चे सवार थे.

बता दें देर शाम से शुरू हुआ रेस्क्यू पूरी रात चला. रात 2 बजे तक 70 लोगों को निकाला जा चुका था, इसके बाद धीरे-धीरे सुबह तक सभी लोगों को निकला लिया गया.नदी में फंसे लोगों को निकलने के लिए एसडीआरएफ (SDRF) की टीम को भी बुलाया गया.

तमकुही तहसील के बरवा पट्टी घट से नाव देर शाम लगभग डेढ़ सौ लोगों को लेकर नारायणी नदी पार कर रही थी. नाव अभी नारायणी नदी की बीच धारा में पहुंची थी, इसी बीच डीजल का पाइप फट गया, जिससे डीजल नदी में बह गया. डीजल बह जाने से नदी की बीच धारा में इंजन बंद हो गया. नदी में तेज बहाव होने के कारण नाव 3 किलोमीटर बहकर अमवा दीगर घाट पर पहुंच गई.

नारायणी नदी में फंसी नाव का रेस्क्यू ऑपेरशन संपन्न हो गया है

kushinagar rescue2
UP: कुशीनगर में नारायणी नदी में फंसी नाव से सभी 150 लोगों को सकुशल निकाल लिया गया है.


नाव पर मासूम बच्चों के साथ महिला और बुजुर्ग भी सवार थे. सभी लोग नदी उस पर स्थित भगवानपुर , बनराही, सम्पूर्णानगर, किशुनवा स्थित कई गांव के लोग गांव में पानी भर जाने के कारण नदी के इस पार दशहवा, ठाढ़ीभार, कोकिलपट्टी गांव में आ रहे थे. कुछ लोग नदी के उस पर स्थित अपने खेत में काम करके वापस लौट रहे थे. नाव से वापस लौटते समय घटना हो गई.

देर रात तक रेस्क्यू कार्य जारी था. अभी तक किसी जान माल के नुकसान की सूचना नहीं मिली है. मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी एस राजलिंगम ने बताया की नाव फंसने की सूचना मिली है. जिसके बाद फंसे लोगों को निकलने का काम किया जा रहा है. एसडीआरएफ की टीम को बुलाया गया है. नदी में फंसे सभी लोगों को बाहर निकालने का इंतजाम किया जा रहा है.

ODOP: मार्जिन मनी स्कीम में गोरखपुर सहित पूर्वांचल के ये 10 जिले फिसड्डी, अधिकारियों पर गाज की तैयारी

UP: ODOP स्कीम के तहत खराब प्रदर्शन करने वाले जिलों के अधिकारियों के खिलाफ यूपी के एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने सख्त निर्देश जारी किये हैं

UP News: सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की प्राथमिकता वाली ODOP मार्जिन मनी स्कीम में प्रदेश के 32 जिलों का खराब प्रदर्शन है. इनमें से सबसे खराब प्रदर्शन वाले 10 जिले और 5 मंडल के अधिकारियों के खिलाफ शासन को रिपोर्ट भेजी गई है.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की महत्वाकांक्षी योजना एक जिला एक उत्पाद (ODOP) जिसके जरिये यूपी सरकार का ये प्रयास था कि जिलों में धीरे पहचान खो रहे उत्पादों को खास पहचान मिले. इसके लिए यूपी सरकार ने खासतौर पर एक कार्ययोजना भी बनाई. जिसके चलते ना सिर्फ एक तरफ जिलों के उत्पादों को नयी पहचान मिली बल्कि उनकी डिमांड में तेजी आयी है. लेकिन इस कार्ययोजना को कई जिलों में अधिकारी पलीता लगा रहे हैं. यही कारण है कि 32 जिलों का प्रदर्शन बेहद खराब आया है.

इसी को देखते हुए यूपी के एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने सख्त निर्देश जारी किये हैं. इन निर्देशों के तहत एक जिला एक उत्पाद मार्जिन मनी स्कीम में खराब प्रदर्शन करने वाले इन जिलों के अधिकारियों को हटाने का फैसला किया गया है.

दरअसल सीएम की प्राथमिकता वाली ODOP मार्जिन मनी स्कीम में प्रदेश के 32 जिले फिसड्डी साबित हुए हैं. इनमें से सबसे खराब प्रदर्शन वाले 10 जिले और 5 मंडल के अधिकारियों के खिलाफ शासन को रिपोर्ट भेजी गई है. खराब प्रदर्शन करने वाले जिलों में कुशीनगर, श्रावस्ती, गोरखपुर, गाजीपुर, लखीमपुर खीरी, पीलीभीत, जौनपुर, सौनभद्र, चित्रकूट और गोंडा शामिल हैं.

जानकारी के अनुसार इन जिलों में दिए गए लक्ष्य के सापेक्ष 8.18 प्रतिशत से लेकर 29.95 प्रतिशत राशि ही वितरित कर सकी. अब सरकार ने इस खराब प्रदर्शन करने वाले जिलों के खिलाफ नजरें टेढ़ी कर ली है. MSME मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि सिर्फ फील्ड में अच्छा काम करने वाले अधिकारी ही तैनात रखे जायेंगे इसीलिए समीक्षा करके खराब प्रदर्शन करने वाले अधिकारियों को जल्द हटाने के लिए कह दिया गया है. इससे अन्य अधिकारियों में ये संदेश जाना चाहिए कि वो जिलों लक्ष्य के सापेक्ष कार्य करें अन्यथा उन पर भी कार्यवाही की जायेगी.

UP: कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को पुलिस ने किया हाउस अरेस्ट, समर्थकों के साथ धरने पर बैठे

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को पुलिस ने किया हाउस अरेस्ट

कोरोना कर्फ्यू व लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से देश एवं प्रदेश की जनता, व्यापार व्यवसाय के ठप हो जाने, आर्थिक रूप से पिछड़ जाने के बावजूद केंद्र व राज्य सरकार पेट्रोल व डीजल कीमतों को बढ़ाकर मुनाफा कमाने में लगी है.

SHARE THIS:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी (UPCC) के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू (Ajay Kumar Lallu) को लखनऊ पुलिस ने शुक्रवार को हाउस अरेस्ट कर लिया. बता दें कि आज यूपी कांग्रेस पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ प्रदेशव्यापी प्रदर्शन कर रही है. प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू भी विधानसभा और पेट्रोल पंप पर जब समर्थकों के साथ प्रदर्शन करने जा रहे थे. इससे पहले सरकारी आवास के बाहर तैनात लखनऊ पुलिस ने उन्हें समर्थकों के साथ हाउस अरेस्ट कर लिया. वहीं हाउस अरेस्ट होने के बाद लल्लू अपने समर्थकों के साथ घर पर ही धरने पर बैठ गए है.

अजय कुमार लल्लू ने ट्वीट कर कहा कि आज लखनऊ स्थित मेरे आवास पर फिर पुलिस के पहरे लगा दिए गए. हमें आंदोलन की आज़ादी नहीं है. लेकिन किसान से डीजल- पेट्रोल में, आम आदमी से सरसों तेल में इन्हें लूटने की पूरी आज़ादी है. लोकतंत्र अपने काले अध्यायों से गुज़र रहा है. कांग्रेस के पत्र में कहा गया है कि मंहगाई के इस दौर में प्रदेश की जनता कोरोना महामारी से त्रस्त है.



दिल्ली में PM मोदी से मिले सीएम योगी, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी किया मुलाकात

कोरोना कर्फ्यू व लॉकडाउन की वजह से देश एवं प्रदेश की जनता, व्यापार व्यवसाय के ठप हो जाने, आर्थिक रूप से पिछड़ जाने के बावजूद केंद्र व राज्य सरकार पेट्रोल व डीजल कीमतों को बढ़ाकर मुनाफा कमाने में लगी है. यह बढ़ोतरी ऐसे समय की गई है जब जनता केंद्र एवं प्रदेश सरकार से मदद की उम्मीद कर रही है, वहीं केंद्र सरकार ने दो लाख 94 हजार करोड़ रुपये का टैक्स लगाया है जो सीधा जनता की जेब पर डाका डालने जैसा है.

Kushinagar News: मोबाइल शॉप चलाने वाले ने बेटी के बर्थडे का उपहार सूद चैरिटी फाउंडेशन को भेजा, सोनू सूद ने कही ये बात

गिरजेश मद्देशिया और उनकी पत्‍नी सोशल वर्क करते रहते हैं.

Kushinagar News: यूपी के कुशीनगर के युवा दम्पति ने अपनी एक साल की बेटी के जन्‍मदिन पर उपहार में मिले 10 हजार रुपये बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ( Sonu Sood) के फाउंडेशन को दान किए हैं. इसके लिए अभिनेता ने उनका आभार जताया है.

SHARE THIS:
कुशीनगर. उत्‍तर प्रदेश के कुशीनगर (Kushinagar) के कसया नगर के रहने वाले एक मोबाइल शॉप चलाने वाले ने अपनी एक वर्ष की बेटी के जन्मदिन के अवसर पर उपहार में मिले 10 हजार रुपये बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ( Sonu Sood) के फाउंडेशन में दान किए हैं. इस बात की जानकारी मोबाइल शॉप चलाने वाले गिरजेश मद्देशिया ने सोनू सूद के ट्विटर पर साझा की तो अभिनेता ने भी रीट्वीट कर बच्‍ची के माता-पिता का आभार जताने के साथ कहा, ' यशिका कल के भारत की नई तस्वीर है. गर्व है ऐसे माता पिता पर.'

बता दें कि बीते 6 जून को यशिका का पहला जन्मदिन था. इस दौरान उसे अपने रिश्तेदारों और अन्य लोगों से आर्शीवाद के रूप में दस हजार रुपये मिले थे. यशिका के माता-पिता ने यह रुपये अभिनेता सोनू सूद के फाउंडेशन को दान कर दिए, ताकि ये देश के कोविड-19 पीड़ित परिवारों के काम आ सकें. इस दौरान यशिका के पिता ने सोनू सूद को टैग करते हुए ट्वीट किया, ' मेरी बेटी यशिका के पहले जन्मदिन पर प्राप्त 10000 रुपये गरीबों के मदद के लिए मैं खुशी से गरीबों के सबसे बड़े मसीहा सोनू सूद जी के सूद चैरिटी फाउंडेशन में देना चाहता हूं.'

यशिका के पिता ने कही ये बात
यशिका के पिता गिरजेश मद्देशिया उर्फ नन्दू की कसया प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के सामने मोबाइल शॉप की दुकान है. जबकि पत्नी कुसुम गृहिणी हैं. युवा दम्पति का पूरा परिवार सोनू सूद का जबरदस्‍त फैन है. पिछले साल कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान सोनू सूद के कार्यों से पूरा परिवार उनका मुरीद हो गया था. दम्पति का कहना है कि पलायन के दौरान लोगों को बस, ट्रेन या जहाज से घर छोड़ने की बात हो या हॉस्पिटल में ऑक्सीजन के लिए उम्मीद लगाये लोगों की मदद, इस महामारी में सिर्फ और सिर्फ सोनू सूद का नाम ही लोगों की जुबान पर रहा है. सोनू सूद से प्रेरणा लेकर दम्पति योगदान देने की इच्छा मन में पाले था. इसी दौरान यशिका के पहले जन्मदिन पर मेहमानों और रिश्तेदारों ने यशिका को उपहार दिए. प्राप्त उपहार में दस हजार की धनराशि को परिवार ने सोनू सूद फाउंडेशन को भेज दिया है.

बता दें कि कुशीनगर के इस दम्पति की पर्यावरण संरक्षण के लिए नगर के सार्वजनिक स्थानों पर खुद के खर्च पर डस्टबिन रखवाने पर भी पूर्व में काफी सराहना हुई थी. यशिका के पिता गिरजेश का कहना है कि इस संकटकाल में लोगों को आगे आकर जरूरतमंद लोगों की मदद करने की जरूरत है.

Uttar Pradesh: 11 साल की लड़की से चाकू की नोक पर गैंग रेप, Video Viral

नाबालिग से रेप.

Gang Rape In KushiNagar: उत्तर प्रदेश के कुशीनगर के विशुनपुरा के एक गांव में चाकू की नोक पर नाबालिग लड़की से सामूहिक दुष्कर्म (Gang Rape) करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है.

SHARE THIS:
कुशीनगर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कुशीनगर (Kushi Nagar) के विशुनपुरा के एक गांव में चाकू की नोंक पर नाबालिग लड़की से सामूहिक दुष्कर्म (Gang Rape) करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. नाबालिग अपने जीजा के साथ घर वापस लौट रही थी. दोनों रास्ते में रुके थे. इसी बीच गांव के 7 युवकों ने दोनों को पकड़कर चाकू दिखाकर नाबालिग से दुष्कर्म किया. आरोपी अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं.

युवकों ने दुष्कर्म करते हुए वीडियो भी बनाया. नाबालिग ने परिजनों से सारी बात बताईं, लेकिन लोकलाज़ के भय से परिजनों ने पुलिस को सूचित नहीं किया. इसी बीच उन्हीं युवकों में से किसी ने वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया, जिसके बाद परिजनों ने पुलिस को पूरी वारदात के बारे में बताते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई. आरोपियोंं के खिलाफ पॉक्सो एक्ट(Pocso Act), एससी-एसटी एक्ट (SC/ST Act) सहित विभिन्न धाराओं के तहत मुुकदमा दर्ज किया गया है.

7 बदमाशों पर केस दर्ज
मामला सामने आने के बाद पुलिस ने तत्काल 7 लोगों पर गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर लिया है. पुलिस सभी आरोपियों की तलाश कर रही है. घटना 30 मई की शाम की है, जब 11 वर्षीय छात्रा अपने जीजा के साथ घर वापस आ रही थी. तभी रास्ते में दोनों रुके. इसी बीच गांव के 7 युवकों ने लड़की को पकड़ कर उसके साथ मारपीट की. इसके बाद चाकू दिखाकर सभी सातों आरोपियों ने बारी-बारी से दु,कर्म किया और सड़क पर छोड़ कर फरार हो गए. लड़की के परिजन रिश्तेदारी में गए थे, चार दिन बाद घर पहुंचे तो लड़की आपबीती बताई.

आरोपियों की तलाश तेज
पुलिस ने सातों आरोपियों पर दुष्कर्म पॉक्सो एक्ट ,एसी एसटी एक्ट समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुट गई है. अपर पुलिस अधीक्षक एपी सिंह ने बताया कि वायरल वीडियो के आधार पर ही पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए जगह-जगह दबिश दी जा रही है. जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

रामपुर में सामने आया लव जिहाद, बंधक बनाकर कुशीनगर की युवती से किया दुष्कर्म, FIR

रामपुर में सामने आया लव जिहाद (File photo)

डीआईजी मुरादाबाद के आदेश स्वार पुलिस ने राहुल उर्फ अयान पुत्र मोहम्मद जहूर व दो अन्य अज्ञात निवासी नवाब नगर के खिलाफ धोखधड़ी और रेप (Rape) समेत अनेक धाराओं के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.

SHARE THIS:
रामपुर. मंगलवार को रामपुर (Rampur) में लव जिहाद (Love Jihad) का मामला सामने आया है. यहां फेसबुक पर राहुल नाम के लड़के ने धर्म बदलकर अपनी आईडी बनाई. पहले उसने युवती को प्रेम जाल में फंसाया. पीड़ित युवती का आरोप है कि युवक ने 6 माह तक बंधक बनाकर रेप किया. मामला सामने आने के बाद आरोपी युवक समेत 3 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. पुलिस आरोपी की तलाश में दबिश दे रही है.

आरोप है कि मुस्लिम युवक मोहम्मद आयान ने फेसबुक पर राहुल नाम से आईडी बनाकर हिन्दू युवती को प्रेम जाल में फंसा लिया. युवती उसके झांसे में आकर शादी रचाने उसके घर आ गई. असलियत पता चलने पर जब युवती ने शादी करने से इनकार कर दिया तब युवक और उसके दो साथियों ने कई बार उसके साथ रेप किया. किसी तरह चंगुल से छूटकर भागी युवती थाना स्वार आई और उसने अपनी आप बीती स्वार पुलिस को बताई. लेकिन स्वार पुलिस ने पूरे दिन थाने में रखा लेकिन उसकी कोई मदद नहीं की.

UP: भक्तों के लिए आज से फिर खुले बाबा विश्वनाथ के कपाट, हर हर महादेव के जयकारों से गूंजी काशी

युवती थक हार कर डीआईजी शलभ माथुर के पास पहुंची. डीआईजी के आदेश पर रामपुर की कोतवाली स्वार पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है. कुशीनगर अंतर्गत थाना तूरया सजान के एक गांव की युवती का कहना है कि फेसबुक पर उसकी राहुल नामक युवक से दोस्ती हो गई. दोनों के बीच मोबाइल से बातचीत भी होने लगी. कुछ ही दिनों में वह एक-दूसरे के स्वभाव से इतने निकट आए कि राहुल ने उसके समक्ष शादी का प्रस्ताव रख दिया. इसके चलते वह लगभग 6 माह पहले कुशीनगर से नवाबनगर आ गई. यहां आने पर पता चला कि राहुल वास्तव में अयान है. इसके चलते मुस्लिम युवक से शादी करने से इनकार कर दिया.

युवती का आरोप है कि युवक ने उसका जीवन बर्बाद कर दिया और युवक पर आरोप लगाया कि वह मदरसों से आर्थिक मदद लेकर हिन्दू युवतियों को प्रेम जाल में फंसाते हुए धर्म परिवर्तन कर शादी रचाता है. डीआईजी मुरादाबाद के आदेश स्वार पुलिस ने राहुल उर्फ अयान पुत्र मोहम्मद जहूर व दो अन्य अज्ञात निवासी नवाब नगर के खिलाफ धोखधड़ी और रेप समेत अनेक धाराओं के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.

UP News: युवक की हत्या के बाद शव लेकर थाने जा रहे ग्रामीणों और पुलिस के बीच झड़प, थाना प्रभारी समेत कई घायल

(सांकेतिक फोटो)

Murder In Kushinagar: कुशीनगर के बोधीछपरा गांव में भूमि विवाद में मां के साथ भतीजे द्वारा चाचा की पीट-पीटकर हत्या का करने का मामला सामने आया. घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने जब शव को थाने के गेट पर ले जाने की कोशिश की, तो उनकी पुलिस से झड़प हो गई.

SHARE THIS:
कुशीनगर. उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में हनुमानगंज थाना क्षेत्र के बोधीछपरा गांव में हुए एक भूमि विवाद में मां के साथ भतीजे द्वारा चाचा की पीट-पीटकर हत्या का करने और उसके बाद ग्रामीणों तथा पुलिस के बीच देर तक झड़प का मामला सामने आया है. हत्या की यह वारदात बीते रविवार को हुई थी, लेकिन पोस्टमार्टम के बाद शव गांव में आने के बाद सोमवार को फिर टकराव और पुलिस से संघर्ष की स्थिति पैदा हो गई. शव आने पर ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा और वह शव को थाने के गेट पर ले जाने का प्रयास करने लगे. पुलिस के रोकने पर ग्रामीणों ने पथराव कर दिया, पुलिस ने भी लाठियां भांजी. इस झड़प और पथराव में एसओ समेत कई पुलिस कर्मियों को चोटें आयीं. बाद में डीएम और एसपी ने मौके पर पहुंच ग्रामीणों को कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया, तब जाकर ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ.

आरोप है कि भूमि विवाद के चलते मां के साथ मिलकर भतीजे ने अपने चाचा जयप्रकाश सिंह की पीट-पीटकर हत्या कर दी. पोस्टमार्टम के बाद शव आने पर ग्रामीण आक्रोशित हो गये. ग्रामीण मृतक के शव को हनुमानगंज थाने के गेट पर ले जाने लगे. ऐसा करने से पुलिस के रोकने पर ग्रामीण आक्रोशित हो गए. ग्रामीणों ने पास में स्थित रेलवे ट्रैक से गिट्टियां उठाकर पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया, जिससे एक बार पुलिस बैकफुट पर आ गई और पीछे हटने लगी. बाद में पुलिस ने भी ग्रामीणों को भगाने के लिए बल प्रयोग करते हुए लाठीचार्ज किया.

2 घंटे तक चलता रहा संघर्ष, कई पुलिसकर्मी और गांव वाले घायल
पुलिस व ग्रामीणों के बीच करीब दो घंटे तक संघर्ष चलता रहा. इसमें एसओ हनुमानगंज पंकज गुप्ता, एसआई संजय कुमार समेत कई पुलिस कर्मी और ग्रामीण भी चोटिल हो गये. बाद में कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे एएसपी अयोध्या प्रसाद सिंह, एसडीएम अरविन्द कुमार, तहसीलदार डॉ. एसके राय, सीओ खड्डा शिवाजी सिंह ने ग्रामीणों को किसी तरह शांत कराया. ग्रामीण पांच सूत्रीय मांग पत्र सौंपने के बाद शव का अंतिम संस्कार करने को राजी हुए. बाद में डीएम एस राज लिंगम और एसपी सचिन्द्र पटेल ने भी मौके पर पहुंच ग्रामीणों को कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया. इसके बाद ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ.
Load More News

More from Other District

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज