Home /News /uttar-pradesh /

बेटे के लिए क्यों मौत मांग रहा पिता? लगाई गुहार- अब सहन नहीं होता, इलाज दो या इच्छा मृत्यु

बेटे के लिए क्यों मौत मांग रहा पिता? लगाई गुहार- अब सहन नहीं होता, इलाज दो या इच्छा मृत्यु

कुशीनगर में पिता ने सरकार से बेटे के लिए इच्छा मृत्यु मांगी है.

कुशीनगर में पिता ने सरकार से बेटे के लिए इच्छा मृत्यु मांगी है.

Father’s Demand Euthanasia For Son : कुशीनगर में एक अभागा पिता अपने ही इकलौते बेटे के लिए मौत मांग रहा है. पिता ने सरकार से बेटे के लिए इच्छा मृत्यु (Euthanasia) मांगी है. उसका बेटा पिछले तीन महीनों से असहनीय दर्द से तड़प रहा है. उसने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से फेफड़ा (Lungs) बदलवाने या फिर मौत देने की गुहार लगाई है. इलाज के लिए उसे 60 से 70 लाख रुपये की जरूरत है. सारी जमा पूंजी खर्च हो चुकी है. मुफलिसी में जी रहे इस परिवार के पास आयुष्मान कार्ड भी नहीं है. मदद के रास्ते बंद हैं. ऐसे में मौत ही उसे दर्द से निजात दे सकती है.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट -अशोक शुक्ला

कुशीनगर. कुशीनगर में एक अभागा पिता अपने ही इकलौते बेटे की इच्छा मृत्यु मांगने को मजबूर है. उसका बेटा पिछले तीन महीनों से असहनीय दर्द से तड़प रहा. युवक अपने पिता की बेचारगी नहीं देख पा रहा है. उसने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से फेफड़ा (Lungs) बदलवाने या फिर मौत देने की गुहार लगाई है. युवक के दोनों Lungs खराब होने के बाद डॉक्टरों ने नए लंग्स याने फेफड़ा प्रत्यारोपित करने की सलाह दी है, जिसमें 60 से 70 लाख रुपया खर्च आने की संभावना है. इलाज में अपनी सारी जमा पूंजी गंवा चुका पिता अब अपने बेटे को लेकर पडरौना नगर स्थित अपने किराए के मकान में आकर मौत की उल्टी गिनती गिन रहा है.

बेटे का दर्द देख पिता की आंखों से गिर रहे आंसू उसके दर्द को बयां कर रहे हैं. हैरत की बात यह है की बेहद मुफलिसी में जी रहे इस परिवार के पास आयुष्मान कार्ड भी नहीं हैं. एक बेबस पिता की आवाज को हुक्मरानों ने अनसुना कर दिया है. कुशीनगर के पडरौना नगर के रहने वाले राकेश श्रीवास्तव की तीन संतानों में अंकुर सबसे छोटा है. दोनों पुत्रियों की शादी करने के बाद राकेश की माली हालत खराब हो गई. राकेश का सबसे छोटा बेटा काफी समझदार होने के कारण अपने पिता का सहारा बनना चाहता था. पडरौना के उदित नारायण डिग्री कॉलेज से स्नातक करने के बाद उसने अहमदाबाद स्थित माया एकेडमी ऑफ एडवांस सिनेमेटिक्स इंस्टीट्यूट में एनिमेशन ग्राफिक डिजाइन कोर्स में दाखिला लिया. एडमिशन लेने के तीन महीने बाद ही अंकुर की अचानक तबियत खराब हुई, जिसके बाद उसे एक अस्पताल में भर्ती कराया गया.

एम्स में जगह नहीं मिली, मेदांता में खर्च ने कमर तोड़ दी

Tags: Euthanasia, Father asked for death for son, Kushinagar news, Rakesh Srivastava euthanasia, Up news live today

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर