पडरौना राजघराने की विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं आरपीएन सिंह

बता दें कि आरपीएन सिंह 2019 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की टिकट पर कुशीनगर से ही ताल ठोंक रहे हैं. आरपीएन सिंह का जन्म 25 अप्रैल 1964 को दिल्ली में हुआ था.

NAVEEN LAL SURI | News18Hindi
Updated: May 14, 2019, 3:02 PM IST
पडरौना राजघराने की विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं आरपीएन सिंह
कांग्रेस प्रत्याशी आरपीएन सिंह
NAVEEN LAL SURI | News18Hindi
Updated: May 14, 2019, 3:02 PM IST
कुशीनगर बौद्ध मंदिरों की वजह से अंतर्राष्ट्रीय पहचान रखता है. कांग्रेस के पूर्व सांसद कुंवर रतनजीत प्रताप नारायण सिंह (आरपीएन सिंह) को यूपी के पडरौना का राजा साहेब कहा जाता है. वह इसी नाम से प्रसिद्ध हैं. पडरौना बहुत प्रसिद्ध जगह है, यहां भगवान बुद्ध ने आखिरी बार भोजन किया था और भगवान राम ने भी कुछ दिन बिताए थे. यह क्षेत्र यूपी के कुशीनगर जिले के अंदर आता है.

बता दें कि आरपीएन सिंह 2019 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की टिकट पर कुशीनगर से ही ताल ठोंक रहे हैं. आरपीएन सिंह का जन्म 25 अप्रैल 1964 को दिल्ली में हुआ था. वह कुशीनगर के क्षत्रिय परिवार से हैं. 2002 में उन्होंने पत्रकार सोनिया सिंह से शादी की. आरपीएन और सोनिया के तीन बेटियां हैं. आरपीएन के पिता कुंवर सीपीएन सिंह कुशीनगर से सांसद थे. वह 1980 में इंदिरा गांधी कैबिनेट में रक्षा राज्यमंत्री भी रहे.



प्रचार करते आरपीएन सिंह


कांग्रेस के कद्दावर नेता आरपीएन सिंह अक्सर चर्चा में रहते हैं. कुशीनगर में चुनाव प्रचार के दौरान वह जलेबी बनाते हुए देखे गए थे. एक मेले के दौरान आरपीएन ने जब यह किया तो वहां मौजूद लोग देखते ही रह गए. जब आरपीएन से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने जवाब दिया कि जब वह कर सकता है तो मैं क्यों नहीं. वहीं अपने चुनावी हलफनामे में आरपीएन ने अपनी संपत्ति तेरह करोड़ इकतालीस लाख चालीस हजार बताई है. उनकी पत्नी के पास दस करोड़ पचास लाख रुपए की संपत्ति है.

कौन हैं प्रत्याशी?

बीजेपी ने पूर्व विधायक विजय दूबे को प्रत्याशी बनाया है. वहीं सपा-बसपा गठबंधन ने नथुनी कुशवाहा को प्रत्याशी बनाया गया है. जबकि कांग्रेस की तरफ से आरपीएन सिंह मैदान में हैं.

कांग्रेस उम्मीदवार आरपीएन सिंह

Loading...

आरपीएन सिंह यूपीए -2 की सरकार में सड़क ट्रांसपोर्ट एवं कॉर्पोरेट मंत्रालय में राज्यमंत्री और पेट्रोलियम व गृह राज्यमंत्री रहे थे. आपको बता दें कि 2009 में सांसद चुने जाने के पहले आरपीएन सिंह कुशीनगर जनपद की पडरौना विधानसभा सीट से 1996, 2002 और 2007 में तीन बार कांग्रेस पार्टी से विधायक भी रह चुके हैं.

कुशीनगर को आबादी के हिसाब से यूपी में सबसे घनी आबादी वाला जिला माना जाता है. 2011 की जनगणना के मुताबिक कुशीनगर की आबादी 35.6 लाख है. यहां सामान्य वर्ग की 82 फीसदी, अनुसूचित जाति की 15 फीसदी और अनुसूचित जनजाति की 2 फीसदी आबादी है. यहां पर हिन्दुओं की 82.28 फीसदी तो मुस्लिमों की 17.4 फीसदी आबादी है.

कुशीनगर लोकसभा क्षेत्र के तहत 5 विधानसभा क्षेत्र आते हैं जिनके नाम हैं खड्डा, पडरौना, कुशीनगर, हाटा और रामकोला. उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अपनी जड़ें मजबूत करती दिख रही है.एसपी-बीएसपी गठबंधन के कुछ वोट कांग्रेस की ओर जा सकते हैं. ऐसा होने पर कुशीनगर सीट पर त्रिकोणात्मक संघर्ष होगा और बीजेपी को फायदा हो सकता है.

ये भी पढ़ें:

पीएम मोदी ने वाराणसी के वोटर्स को दिया संदेश, सुनाई काशी पर लिखी अपनी कविता

पीली साड़ी वाली महिला: पति की हो चुकी है मौत, बेटे के लिए फिल्मों का ऑफर ठुकराया

जानिए लखनऊ की पीली साड़ी वाली महिला 19 मई को कहां डालेंगी वोट

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...