• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Kushinagar: ऐशो आराम की जिंदगी के लिए युवक ने रची खुद के अपहरण की साजिश, बाबा से मांगी डेढ़ लाख की फिरौती, ऐसे हुआ गिरफ्तार

Kushinagar: ऐशो आराम की जिंदगी के लिए युवक ने रची खुद के अपहरण की साजिश, बाबा से मांगी डेढ़ लाख की फिरौती, ऐसे हुआ गिरफ्तार

Kushinagar: प्रभात रंजन तिवारी ने रची थी खुद के अपहरण की साजिश

Kushinagar: प्रभात रंजन तिवारी ने रची थी खुद के अपहरण की साजिश

Kushinagar Crime News: कसया के टीचर कॉलोनी के रहने वाले सहायक अध्यापक नागेंद्र तिवारी के मोबाइल पर अनजान मोबाइल नंबर से फोन आया. फोन करने वाले ने नागेंद्र तिवारी को धमकाते हुए उनके पुत्र प्रभात रंजन तिवारी के अपहरण करने की बात कही.

  • Share this:

कुशीनगर. ऐशो आराम की जिंदगी जीने के लिए कुशीनगर (Kushinagar) के एक युवक ने खुद के अपहरण (Kidnapping) की झूठी कहानी रच डाली. युवक ने अपने आपको छिपा लिया और अपने बाबा के पास फोन करके डेढ़ लाख रुपए की फिरौती मांगने लगा. अपने लड़के की चाल-चलन से परेशान हो चुके बाप ने थक हारकर पुलिस (Police) की मदद ली. पुलिस की जांच में झूठे अपहरण की कहानी से पर्दा उठ गया. कसया पुलिस ने खुद का अपहरण रचने और फिरौती मांगने वाले युवक को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है.

कसया के टीचर कॉलोनी के रहने वाले सहायक अध्यापक नागेंद्र तिवारी के मोबाइल पर अनजान मोबाइल नंबर से फोन आया. फोन करने वाले ने नागेंद्र तिवारी को धमकाते हुए उनके पुत्र प्रभात रंजन तिवारी के अपहरण करने की बात कही. फोन करने वाले ने प्रभात को छोड़ने के एवज में डेढ़ लाख रुपया भी मांगा. सहायक अध्यापक नागेंद्र ने बात को बहुत सीरियस नहीं लिया था. जिसके बाद फोन करने वाले ने नागेंद्र के पिता रिटायर्ड प्रोफेसर के मोबाइल पर फोन करके फिरौती मांगना शुरू कर दिया. बड़े पोते के अपहरण की बात जानने के बाद उन्होंने सबसे पहले पुलिस को सूचित किया. सूचना मिलने के बाद कसया पुलिस ने मामले की जांच शुरू की तो मामला चौंकाने वाला निकला.

ऐसे फंसा पुलिस के जाल में
अपहृत हुआ प्रभात खुद गायब हुआ था और परिवार वालों को इमोनेशनल ब्लैकमेल करते हुए रुपया वसूल करना चाह रहा था. पुलिस ने प्रभात को रंगे हाथ पकड़ने के लिए जाल बिछाया और पैसे के लिए कसया रोडवेज स्टेशन बुलाया. पैसा लेने आए प्रभात को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की पूछताछ में जो सच सामने आया वो हैरान करने वाला था. प्रभात ने सिर्फ ऐशो आराम के लिए अपने ही पिता और बाबा से पैसा वसूलना चाहता था. पूरे परिवार को परेशान करने वाला प्रभात केवल पैसे का भूखा था. उसने यह भी नहीं सोचा की उसके अपहरण होने की सूचना पर परिवार पर क्या गुजरेगी. एसपी सचिंद्र पटेल ने युवक के खुद के अपहरण करने की कहानी बताते हुए कहा कि पुलिस ने प्रभात को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज