लखीमपुर खीरी: BJP विधायक और पूर्व ब्लॉक प्रमुख में जमकर हाथापाई, वर्चस्व की लड़ाई में तानी पिस्टल

बीजेपी विधायक और पूर्व ब्लॉक प्रमुख में जमकर हाथापाई

बीजेपी विधायक और पूर्व ब्लॉक प्रमुख में जमकर हाथापाई

इस मामले पर जिला प्रशासन (Administration) के अधिकारी कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं, उनका कहना है जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी.

  • Share this:
लखीमपुर खीरी. यूपी में पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election का बिगुल बज चुका है तो पुरानी रंजिशें भी दोबारा से ताजा होने लगी हैं. पंचायत चुनावों में दबंगों और बाहुबलियों का रुतबा भी होता है तो हिंसा भी होती है. इसी कड़ी में यूपी के लखीमपुर खीरी में बीडीसी का पर्चा वापसी को लेकर बीजेपी के सदर विधायक योगेश वर्मा और नकह के ब्लाक प्रमुख पवन गुप्ता के बीच जमकर हाथापाई हो गई. इस दौरान पवन गुप्ता के छोटे भाई भाई सुनील गुप्ता ने बीजेपी विधायक और योगेश वर्मा पर पिस्टल तान कर जान से मारने की धमकी दी. जिसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है.

मामला लखीमपुर खीरी के सदर कोतवाली के नकहा ब्लाक का है जहां पर बीजेपी विधायक योगेश वर्मा और बीजेपी के ब्लॉक प्रमुख पवन गुप्ता के बीच एक युवक की बीडीसी के पर्चे वापसी को लेकर विवाद हो गया. बताया जा रहा है कि नकहा ब्लाक में एक युवक के बीडीसी के पर्चे को वापसी करने के लिए विधायक कह रहे थे. इस दौरान नकहा से बीजेपी के ब्लाक प्रमुख पवन गुप्ता और योगेश वर्मा के बीच कहासुनी हो गई. बातों ही बातों में कहासुनी मारपीट में बदल गई, इस दौरान दोनों गुटों में जमकर मारपीट होने लगी. इसी बीच ब्लाक प्रमुख सुनील गुप्ता के छोटे भाई सुनील गुप्ता ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल निकालकर विधायक योगेश वर्मा पर तान दी.

अयोध्या में संदिग्ध परिस्थितियों में चार लोगों की मौत, जांच के लिए गांव में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम

मौके पर मौजूद विधायक के सुरक्षाकर्मी और पुलिसकर्मियों ने जैसे-तैसे दोनों गुटों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया. लगभग 1 घंटे तक नकाब ब्लॉक में अफरा-तफरी का माहौल मचा रहा. मौके पर मौजूद किसी शख्स ने घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. वीडियो वायरल होने के बाद जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया. सदर विधायक योगेश वर्मा का कहना था सभी पदाधिकारियों ने एक महिला प्रत्याशी को बीडीसी पर चुनाव लड़ने के लिए तय किया था. लेकिन नकहा के ब्लॉक प्रमुख पवन गुप्ता पार्टी लाइन से हटकर किसी दुसरे युवक को चुनाव लड़ना चाहते थे.
प्रशासन ने साधी चुप्पी

जब उन्होंने इस बात का विरोध किया तो पवन गुप्ता और छोटे भाई सुनील गुप्ता ने उन पर जानलेवा हमला कर दिया और पिस्टल तानते हुए जान से मारने की धमकी दी. वह पार्टी में अपनी बात को रखेंगे. कानूनी तौर पर उन पर थाने में शिकायत दर्ज कराएंगे. इस मामले पर जिला प्रशासन के अधिकारी कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं, उनका कहना है जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी. (रिपोर्ट- मनोज शर्मा)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज