लखीमपुर खीरी: पूर्व जिलाध्यक्ष की पिटाई का मामला पहुंचा योगी दरबार, डीएम ने बिठाई जांच

लखीमपुर खीरी में विकास भवन में पूर्व जिलाध्यक्ष से मारपीट का मामला गरमा गया है. मामले में सीएम दरबार से लेकर बीजेपी मुख्यालय तक शिकायत पहुंच गई है.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 14, 2018, 6:20 PM IST
लखीमपुर खीरी: पूर्व जिलाध्यक्ष की पिटाई का मामला पहुंचा योगी दरबार, डीएम ने बिठाई जांच
Photo: ETV/NEWS18
ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 14, 2018, 6:20 PM IST
लखीमपुर खीरी में विकास भवन में पूर्व जिलाध्यक्ष से मारपीट का मामला गरमा गया है. मामले में सीएम दरबार से लेकर बीजेपी मुख्यालय तक शिकायत पहुंच गई है.

उधर पुलिस ने तहरीर पर अभी तक कोई मामला दर्ज नहीं किया है. मामले में डीएम ने एसडीएम से घटना की पूरी रिपोर्ट तलब की है. एसडीएम सदर विकास भवन में घटना हुई घटना की जांच कर रहे हैं.

बता दें कि खीरी का विकास भवन भी विधायकों का अखाड़ा बन गया. जिला सहकारी बैंक (डीसीबी) चुनाव को लेकर बीजेपी की तैयारियों के बीच एक विधायक के समर्थकों ने पूर्व जिलाध्यक्ष और एआर कोऑपरेटिव को पीट डाला. आरोप है कि उन्हीं की पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष लगा रहे हैं. देर रात तक हंगामा होता रहा.

लखीमपुर विकास भवन पर देर रात हंगामा हुआ. विकास भवन के एआर दफ्तर के बाहर खड़े श्यामू पाण्डेय ने आरोप लगाते हुए बताया कि मैं सहकारिता चुनाव का प्रभारी हूं. इसलिए विकास भवन लिस्ट देखने आया था. यहां सदर विधायक अपने समर्थकों संग आए और मुझ पर टूट पड़े.

श्यामू पाण्डेय 37 साल से बीजेपी की सेवा कर रहे कर्मठ सिपाही की तरह हैं. श्यामू कहते हैं कि उन्होंने अपनी जान बचाकर कमरे का दरवाजा बंद किया. लेकिन लड़कों ने दरवाजा भी तोड़ डाला और फिर उनके साथ मारपीट की, कपड़े फाड़ डाले.

मारपीट की खबर सुनकर जिलाध्यक्ष, पूर्व मंत्री और निघासन से विधायक रामकुमार भी विकास भवन पहुंचते है. तभी सदर विधायक योगेश वर्मा अपने समर्थकों संग फिर पहुंच जाते हैं. और हंगामा शुरू हो जाता है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर