Lakhimpur Kheri: उखड़ती सांसों को सहेजने में जुटे गोल्डन बाबा, ऐसे कर रहे कोरोना मरीजों की मदद

कोरोना संकट काल में लोगों को ऑक्सीजन मुहैया कराकर लोगों की मदद कर रहे गोल्डन बाबा

Lakhimpur Corona Warriors: समाजसेवी मोहन बाजपेई ने अपने निजी खर्चे से उत्तराखंड के काशीपुर से चार बार मे लगभग 260 ऑक्सीजन सिलेंडर मंगवा कर लोगों को बड़ी राहत देने का काम किया है.

  • Share this:
लखीमपुर खीरी. देश के साथ ही उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) जिले में भी कोरोना महामारी (Corona Pandemic) चरम पर है. आक्सीजन का संकट (Oxygen Crisis) है. ऐसी विकट परिस्थिति में लखीमपुर के गोल्डन बाबा (Golden Baba) के नाम से जाने वाले ट्रांसपोर्ट व्यवसायी मोहन बाजपेई आक्सीजन दूत बनकर उखड़ती और दम तोड़ती सांसों को थामने का नेक काम कर रहे हैं.

लखीमपुर खीरी में लोगों की सांसों पर गहरा संकट मंडरा रहा है. सरकारी अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध न होने के कारण लोग तड़प-तड़प कर दम तोड़ रहे है. ऐसे में समाजसेवी मोहन बाजपेई ने अपने निजी खर्चे से उत्तराखंड के काशीपुर से चार बार मे लगभग 260 ऑक्सीजन सिलेंडर मंगवा कर लोगों को बड़ी राहत देने का काम किया है.

गोल्डन बाबा ने कही ये बात 
खीरी में गोल्डन बाबा के नाम से जाने जाने वाले मोहन बाजपेई का कहना है इस वैश्विक महामारी में उन्होंने देखा कि लोगों की ऑक्सीजन की कमी के चलते अकाल मौत हो रही थी. उन्होंने शहर के उन लोगों को अपनी टीम में साथ जोड़ा जो लोगों की मदद करना चाहते थे. टीम बनाकर वह उत्तराखंड से ऑक्सीजन के सिलेंडर को मंगा रहे हैं. जिन लोगों को सिलेंडर की जरूरत है उनसे खाली सिलेंडर लेकर भरा सिलेंडर निशुल्क दे रहे हैं. भगवान भोले से उनकी प्रार्थना है जल्द से जल्द इस कोरोनावायरस के रूप में फैली महामारी  को खत्म कर दे.

मरीजों के तीमारदारों ने भी सराहा
एक मरीज के परिजन अमित का कहना है उन्हें शहर में कहीं ऑक्सीजन नहीं मिली थी, तब उन्होंने समाज सेवी मोहन बाजपेई से संपर्क किया तो उनको यह दूसरा सिलेंडर मिला है. इनकी टीम बहुत अच्छा काम कर रही है. लोगों की जिंदगी बचाने का नेक काम यह लोग कर रहे हैं.