Home /News /uttar-pradesh /

Lakhimpur Violence: तेज थी जीप की रफ्तार, CCTV फुटेज में भी नहीं दिखा कौन बैठा था अंदर

Lakhimpur Violence: तेज थी जीप की रफ्तार, CCTV फुटेज में भी नहीं दिखा कौन बैठा था अंदर

लखीमपुर मामले में किसानों को कुचलने वाली जीप में ड्राइवर के साथ कौन सवार था इसका सुराग भी सीसीटीवी फुटेज से पुलिस को नहीं मिला है. (File pic)

लखीमपुर मामले में किसानों को कुचलने वाली जीप में ड्राइवर के साथ कौन सवार था इसका सुराग भी सीसीटीवी फुटेज से पुलिस को नहीं मिला है. (File pic)

Tikunia Case: लखीमपुर खीरी में किसानों को रौंदने वाली जीप में कौन बैठा था इस बात से पर्दा अब तक नहीं उठ सका है. ड्राइवर के पास की सीट पर बैठे व्यक्ति की पहचान के लिए पुलिस लगातार प्रयास कर रही है और इसी के चलते मौके के पास मौजूद पेट्रोल पंप व राइस मिल के CCTV फुटेज को भी देखा गया लेकिन गाड़ियों की रफ्तार तेज होने के कारण अंदर कौन बैठा है उसकी पहचान नहीं हो सकी है. वहीं सीसीटीवी फुटेज की जांच भी फॉरेंसिक टीम से करवा ली गई है और उससे छेड़छाड़ के कोई सबूत नहीं मिले हैं.

अधिक पढ़ें ...

    लखीमपुर. तिकुनिया हिंसा मामले में जिस सीसीटीवी फुटेज को आधार मान कर पुलिस जीप में ड्राइवर के पास बैठे शख्स की पहचान करने में जुटी थी उससे निराशा ही हाथ लगी है. बताया जा रहा है कि सीसीटीवी फुटेज में किसानों को कुचलने वाली जीप के पीछे फॉर्च्यूनर और एक अन्य गाड़ी जाती दिख रही है. लेकिन गाड़ियों की रफ्तार तेज थी. और सीसीटीवी कैमरे दाईं तरफ लगे थे. ऐसे में जीप में ड्राइवर के पास की सीट पर कौन बैठा था इसका पता नहीं चल सका है. सूत्रों के अनुसार अब पुलिस अन्य तरीकों से जीप में मौजूद उस शख्स का पता लगाने में जुटी है.
    वहीं घटना के बाद मौके पास मौजूद पेट्रोल पंप और राइस मिल के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को पुलिस ने जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा था. एसआईटी को अब लैब की रिपोर्ट मिल गई है. जानकारी के अनुसार रिपोर्ट से ये साफ है कि फुटेज पूरी तरह से ऑरिजनल है और किसी भी तरह की छेड़छाड़ नहीं की गई है.

    दो की हुई गिरफ्तारी
    वहीं किसानों की मौत के बाद भड़की हिंसा में थार जीप के ड्राइवर, दो बीजेपी कार्यकर्ता और एक स्थानीय पत्रकार की पीट-पीटकर हत्या करने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मामले की जांच कर एसआईटी ने वीडियो, फोटो और ऑडियो के आधार पर गुरविंदर सिंह उर्फ गिंदा व विचित्तर सिंह को मंगलवार को गिरफ्तार किया.

    बता दें चार किसानों की केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा की गाड़ी से कुचलकर हुई मौत के बाद गुस्साए किसानों ने थार जीप के ड्राइवर, दो बीजेपी कार्यकर्ता और एक स्थानीय पत्रकार की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. जांच टीम ने वीडियो के जरिए 6 आरोपियों की पहचान की है, जिनमे से दो को गिरफ्तार किया गया, जबकि अन्य संदिग्धों की तलाश में पुलिस लगी हुई है.

    इनपुटः मनोज

    Tags: CCTV camera footage, Jeep, Lakhimpur Case Updates, Lakhimpur Kheri Farmer Protest, Lakhimpur Kheri Violence News Updates, UP police, Uttar pradesh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर