• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • LAKHIMPUR KHERI UTTAR PRADESH LICENSE SUSPENDED OF SHIKHAR HOSPITAL IN LAKHIMPUR KHERI WHO MAKES ILLEGAL BILLING OF CORONA PATIENTS UPAS

लखीमपुर खीरी: कोरोना मरीजों से मनमानी वसूली करने वाले शिखर हॉस्पिटल का लाइसेंस सस्पेंड, नोटिस

लखीमपुर खीरी के प्राइवेट शिखर अस्पताल का लाइसेंस निलंबित कर दिया गया है.

Lakhimpur Kheri News: लखीमपुर खीरी जिला प्रशासन ने कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए शिखर अस्पताल को चयनित किया था. लेकिन इस अस्पताल में मरीजों से इलाज के एवज में जमकर अवैध वसूली की जा रही थी. जांच के बाद अस्पताल का लाइसेंस निलंबित कर दिया गया है.

  • Share this:
    मनोज शर्मा

    लखीमपुर खीरी. उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में कोरोना संक्रमित मरीजों (Corona Infected patients) से इलाज के लिए शासन द्वारा तय किए गए मानक से अधिक वसूली करने पर एक प्रइवेट अस्पताल (Private Hospital)  का लाइसेंस सस्पेंड (License Suspend) कर दिया गया है और उससे जवाब तलब किया गया है. मामला लखीमपुर खीरी के सदर कोतवाली क्षेत्र के शिखर नाम के एक निजी अस्पताल (Shikhar Hospital) का है.

    जिला प्रशासन ने कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए शिखर अस्पताल को चयनित किया था. लेकिन इस अस्पताल में मरीजों से इलाज के एवज में जमकर अवैध वसूली की जा रही थी. इस अवैध वसूली की शिकायतें मरीजों ने प्रशासन से की तो प्रशासन ने डॉक्टरों की एक 5 सदस्य टीम बनाकर अस्पताल की जांच कर रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए. जांच के दौरान टीम ने पाया कि अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीजों से मनमाने तरीके से अधिक पैसे की वसूली की गई. इसके बाद जिलाधिकारी के निर्देश पर जिले के सीएमओ ने शिखर अस्पताल के लाइसेंस को सस्पेंड कर 24 घंटे में अस्पताल प्रशासन से स्पष्टीकरण मांगा गया है.



    डीएम शैलेंद्र सिंह का कहना है कि शिखर अस्पताल को प्रशासन ने कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए चयनित किया था लेकिन लगातार इस अस्पताल की अनियमितताओं की शिकायतें मिल रही थीं. 5  लोगों की टीम को अस्पताल की जांच करने के निर्देश दिए गए थे. जांच के दौरान अस्पताल में भारी अनियमितताएं पाई गई हैं. इसके चलते अस्पताल के लाइसेंस को सस्पेंड कर दिया गया है. 24 घंटे में अस्पताल प्रशासन से स्पष्टीकरण मांगा गया है. अस्पताल प्रशासन के खिलाफ अग्रिम विधिक कार्यवाही के लिए अधिकारी को निर्देशित कर दिया गया है. इस कोरोना की वैश्विक महामारी में जो भी जमाखोरी या मरीजों से अवैध वसूली करेगा, उसके खिलाफ प्रशासन कड़ी से कड़ी कार्रवाई करेगा.
    Published by:Ajayendra Rajan Shukla
    First published: