पुरुषों ने छीन रखा है इस गांव की महिलाओं से मतदान का अधिकार

यूपी के धौरहरा संसदीय क्षेत्र के गणेशपुर-शेरवा गांव के पुरुष महिलओं को वोट डालने नहीं देते हैं। आजादी के बाद से चुनाव आयोग और स्‍थानीय प्रशासन महिलाओं को मतदान केंद्र तक खींचने के लिए काफी प्रयास कर चुकी है पर स्‍थित जस की तस बनी हुई है।

ETV UP/Uttarakhand
Updated: April 30, 2014, 2:30 PM IST
पुरुषों ने छीन रखा है इस गांव की महिलाओं से मतदान का अधिकार
यूपी के धौरहरा संसदीय क्षेत्र के गणेशपुर-शेरवा गांव के पुरुष महिलओं को वोट डालने नहीं देते हैं। आजादी के बाद से चुनाव आयोग और स्‍थानीय प्रशासन महिलाओं को मतदान केंद्र तक खींचने के लिए काफी प्रयास कर चुकी है पर स्‍थित जस की तस बनी हुई है।
ETV UP/Uttarakhand
Updated: April 30, 2014, 2:30 PM IST
यूपी के धौरहरा संसदीय क्षेत्र के गणेशपुर-शेरवा गांव के पुरुष महिलओं को वोट डालने नहीं देते हैं। आजादी के बाद से चुनाव आयोग और स्‍थानीय प्रशासन महिलाओं को मतदान केंद्र तक खींचने के लिए काफी प्रयास कर चुकी है पर स्‍थित जस की तस बनी हुई है।

मतदान का महत्‍व समझाने पर महिलाएं कहती हैं, 'हमारे गांव के सभी बड़े फैसले पुरुष लेते आए हैं, सरकार बनाने जैसा बड़ा फैसला हम कैसे ले सकते हैं।'

इस बार भी चुनाव आयोग ने विशेष अभियान चलाकर महिलाओं से वोट डालने की अपील की थी, पर बूथ पर मतदानकर्मी दिनभर इंतजार करते रहे कि कब कोई महिला वोट डालने आएगी।

मुस्‍लिम बहुल इस गांव की चार महिलाओं ने 2012 के विधानसभा चुनाव में वोट डाला था। इस बात को लेकर गांव के पुरुषों ने काफी बवाल किया था। यहां की पंचायत ने वोट डालने वाली महिलाओं के खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी में था, लेकिन पुलिस की मुस्‍तैदी के चलते ऐसा नहीं हुआ।

गांव के पुरुष कहते हैं कि उनकी तरफ से महिलाओं को वोटिंग करने से कभी नहीं रोका गया। महिलाएं खुद ही वोट डालने कभी नहीं जाती है।

गांव के बड़े बुजुर्ग कहते हैं कि महिलाओं को चौपाल में हाथ उठाने से दूर रखा जाता है।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखीमपुर खेरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 30, 2014, 2:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...