Home /News /uttar-pradesh /

Tikunia Case: किसान की अंतिम अरदास में शामिल होने के लिए Social Media पर मैसेज Viral, 10 एकड़ में लगा पांडाल

Tikunia Case: किसान की अंतिम अरदास में शामिल होने के लिए Social Media पर मैसेज Viral, 10 एकड़ में लगा पांडाल

किसान गुरुविंदर की अंतिम अरदास में बड़ी संख्या में लोगों के आने की संभावना को देखते हुए जगह जगह पर बेरिकेडिंग की गई है.

किसान गुरुविंदर की अंतिम अरदास में बड़ी संख्या में लोगों के आने की संभावना को देखते हुए जगह जगह पर बेरिकेडिंग की गई है.

Lakhimpur Violence: हिंसा में मारे गए किसान गुरुविंदर सिंह की अंतिम अरदास के कार्यक्रम में बड़ी संख्या में किसान नेता भी पहुंचेंगे. राकेश टिकैत एक दिन पहले ही तिकुनिया पहुंच गए हैं. वहीं अब मामले को लेकर प्रशासन और पुलिस भी अलर्ट पर है.

अधिक पढ़ें ...

लखीमपुर खीरी. लखीमपुर के तिकुनिया में हुई हिंसा में मारे गए किसान के अंतिम अरदास में मंगलवार को भारी भीड़ के शामिल होने की उम्मीद है. इसको लेकर अब किसान तैयारियों में जुट गए हैं. बताया जा रहा है कि करीब 10 एकड़ में तो पांडाल ही लगाया गया है. लखीमपुर हिंसा में मारे गए किसान गुरुविंदर सिंह के अंतिम अरदास में ज्यादा से ज्यादा लोग शामिल हों इसके लिए सोशल मीडिया पर मैसेज भी चलाया जा रहा है. लखीमपुर के साथ ही बहराइच के वॉट्सएप ग्रुपों में भी अंतिम अरदास में लोगों से आने की अपील की जा रही है.
बताया जा रहा है कि बहराइच से बड़ी संख्या में सिख समुदाय के लोग तिकुनिया के लिए मंगलवार को रवाना होंगे. इस दौरान कई बड़े किसान नेताओं के साथ ही राजनीतिक हस्तियों के भी पहुंचने की बात कही जा रही है. किसान नेता राकेश टिकैत, गुरनाम चढूनी और जयंत चौधरी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे. बताया जा रहा है कि राकेश टिकैत एक दिन पहले ही कार्यक्रम में शामिल होने के लिए तिकुनिया पहुंच गए हैं.
कार्यक्रम को लेकर कई किसान नेताओं व राजनीतिक हस्तियों ने भी ट्वीट किया है और बताया है कि वे किसान की अंतिम अरदास में शामिल होंगे. इसी के साथ उनके समर्थक व पार्टी कार्यकर्ताओं के भी बड़ी संख्या में तिकुनिया पहुंचने की संभावना है.

प्रशासन और पुलिस अलर्ट
समय की गंभीरता और पूर्व में हुई हिंसा को देखते हुए अंतिम अरदास के कार्यक्रम को लेकर पुलिस और प्रशासन भी अलर्ट है. जगह-जगह पर बैरिकेड लगा कर भीड़ को नियं‌त्रित किया जाएगा. साथ ही भारी पुलिस दल को पूरे इलाके में तैनात किया गया है. किसी भी तरह की अप्रिय घटना से निपटने के लिए सशस्‍त्र बलों की तैनाती भी की जाएगी. बताया जा रहा है कि इस दौरान आरपीएफ की टुकड़ी को भी तैनात किया जा सकता है.

मृतक के नाम पर हो गांव का नाम
वहीं बहराइच गुरुद्वारा कमेटी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख गांव का नाम बदलने की भी मांग की है. जानकारी के अनुसार मृतक किसान के गांव का नाम संत गुरुविंदर नगर रखने प्रस्ताव कमेटी ने दिया है. ये पत्र सोमवार को ही मुख्यमंत्री को भेजा गया है.
वहीं मंगलवार को अंतिम अरदास के कार्यक्रम के बाद अस्थि कलश कार्यक्रम होगा. इसमें कई जत्‍थों के साथ ही अन्य संगत के आने की भी पूरी उम्मीद है.

Tags: Lakhimpur, Lakhimpur Kheri Farmer Protest, Lakhimpur Kheri Incident, Lakhimpur Kheri News, Lakhimpur kheri violence, Rakesh Tikait, Tikunia Violence, Uttar pradesh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर