लाइव टीवी

टेरर फंडिंग केस: मुंबई से गिरफ्तार नाइजीरियान युवकों को लेकर यूपी ATS पहुंची लखीमपुर

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 27, 2019, 3:36 PM IST
टेरर फंडिंग केस: मुंबई से गिरफ्तार नाइजीरियान युवकों को लेकर यूपी ATS पहुंची लखीमपुर
मुंबई से गिरफ्तार नाइजीरियान युवकों को लेकर यूपी ATS पहुंची लखीमपुर

बता दें कि यूपी एटीएस को टेरर फंडिंग मामले में गिरफ्तार सिराजुद्दीन व पांच अन्य आरोपितों से पूछताछ के बाद यूपी एटीएस ने नाइजीरिया निवासी चिनवेउबा एमेका माइकल और भारतीय मूल के नाइजीरियाई पीटर हरमन अस्सेंगा और अर्जुन अशोक को मुंबई से गिरफ्तार किया था.

  • Share this:
लखीमपुर खीरी. लखीमपुर खीरी टेरर फंडिंग के मामले में यूपी एटीएस (UP ATS) की टीम रविवार को  तीन नाइजीरियान युवकों को लेकर लखीमपुर जेल पहुंची. बता दें कि यूपी एटीएस की टीम ने नाइजीरियाई मूल के युवकों को मुंबई से गिरफ्तार किया था. यूपी एटीएस के सूत्र बताते हैं कि ये तीनों युवक मुंबई में बैठकर भारत बॉर्डर से लगी नेपाल के बैंको का सर्वर हैक करते थे. जिसके माध्यम से टेरर फंडिंग में इस्तेमाल किए जाने वाला पैसा नेपाल की तरफ से भारत लाया जाता था.

CJM कोर्ट में करेगी पेश

टेरर फंडिंग गिरोह के मास्टर माइंड समेत तीन नाइजीरियाई नागरिक को एटीएस रविवार को खीरी की सीजेएम कोर्ट में पेश करेगी. उनके पास से 3 लैपटॉप, 4 मोबाइल फोन, 13 भारतीय व एक विदेशी सिम कार्ड, 13 डोंगल, 2 पेन ड्राइव, 3 राउटर, एक नाइजीरियाई पासपोर्ट, पासपोर्ट की फोटोकॉपी और 2 नाइजीरियाई पहचानपत्र बरामद हुए हैं. वहीं गिरोह का मास्टर माइंड नाइजीरियाई नागरिक है. इस गिरोह ने बैंक खातों को हैक करके करोड़ों रुपये उड़ाए है.

अबतक 10 लोग हो चुके है गिरफ्तार

बता दें कि यूपी एटीएस को टेरर फंडिंग मामले में गिरफ्तार सिराजुद्दीन व पांच अन्य आरोपितों से पूछताछ में अहम सुराग मिले थे. उसी आधार पर यूपी एटीएस ने बुधवार को नाइजीरिया निवासी चिनवेउबा एमेका माइकल और गुरुवार को भारतीय मूल के नाइजीरियाई पीटर हरमन अस्सेंगा और अर्जुन अशोक को मुंबई से गिरफ्तार किया था.

इससे पहले यूपी एटीएस ने टेरर फंडिंग मामले में लखीमपुर और बरेली से 6 लोगों को गिरफ्तार किया था. जबकि एक आरोपित मुमताज ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था. इन 3 गिरफ्तारियों को मिलाकर अब तक कुल 10 गिरफ्तारी हो चुकी हैं.

नेपाल के बैंक खातों से भारत भेजा जाता था पैसा
Loading...

यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया था कि टेरर फंडिंग नेटवर्क के जरिए रकम पहले नेपाल के बैंक खातों में जमा होती है. फिर नेपाल के रास्ते भारत में लाका इस पैसों का उपयोग आतंकी गतिविधियों में खर्च करने की योजना थी. डीजीपी ने कहा कि टेरर फंडिंग नेटवर्क मामले में नेपाल सरकार से संपर्क किया जा रहा है. केंद्र सरकार के ज़रिए डिप्लोमैटिक प्रक्रिया के तहत नेपाल सरकार से संपर्क किया जा रहा है.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखीमपुर खेरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 27, 2019, 3:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...