होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

अब यूपी के लखीमपुर खीरी में मोहम्मद जुबैर के खिलाफ जारी हुआ वारंट, जानें क्या है पूरा मामला?

अब यूपी के लखीमपुर खीरी में मोहम्मद जुबैर के खिलाफ जारी हुआ वारंट, जानें क्या है पूरा मामला?

लखीमपुर खीरी के मोहम्मदी में ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर के खिलाफ कोर्ट ने वारंट जारी किया है. (News18Hindi)

लखीमपुर खीरी के मोहम्मदी में ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर के खिलाफ कोर्ट ने वारंट जारी किया है. (News18Hindi)

Alt News co-founder Mohammed Zubair News: ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर के खिलाफ यह वारंट सीतापुर में दर्ज एक मामले में पांच दिनों की अंतरिम जमानत मिलने के एक दिन बाद जारी हुआ है. लखीमपुर खीरी पुलिस के द्वारा 2021 में दो समूहों के बीच विवाद को बढ़ावा देने के आरोप में मोहम्मदी पुलिस स्टेशन में यह एफआईआर दर्ज की गई थी. लखीमपुर खीरी कोर्ट से जारी इस वारंट को सीतापुर जेल भेजा गया है जहां फ़िलहाल जुबैर को रखा गया है.

अधिक पढ़ें ...

लखीमपुर खीरी. उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी के मोहम्मदी में ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर के खिलाफ कोर्ट ने वारंट जारी किया है. उनके खिलाफ सितंबर 2021 में दर्ज एक मामले में सुदर्शन न्यूज के एक कर्मचारी द्वारा फैक्ट चेक ट्वीट के लिए शिकायत दर्ज कराई गई थी. अब इस मामले में वारंट जारी किया गया है. वारंट के मुताबिक उन्हें 11 जुलाई को पेश होने को कहा गया है. मोहम्मद जुबैर फिलहाल सीतापुर जेल में बंद हैं.

जुबैर के खिलाफ यह वारंट सीतापुर में दर्ज एक मामले में पांच दिनों की अंतरिम जमानत मिलने के एक दिन बाद जारी हुआ है. लखीमपुर खीरी पुलिस के द्वारा 2021 में दो समूहों के बीच विवाद को बढ़ावा देने के आरोप में मोहम्मदी पुलिस स्टेशन में यह एफआईआर दर्ज की गई थी. लखीमपुर खीरी कोर्ट से जारी इस वारंट को सीतापुर जेल भेजा गया है जहां फ़िलहाल जुबैर को रखा गया है.

सीतापुर जेल में कराई गई वारंट की तामील
लखीमपुर खीरी के पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने बताया कि कोर्ट की ओर से वारंट जारी करने के बाद मोहम्मदी पुलिस ने जुबैर के सीतापुर जेल में होने के कारण वहां पहुंचकर वारंट की तामील कराई है. अब जुबैर को अदालत में पेश करने की जिम्मेदारी जेल अधिकारियों की है.

27 जून को दिल्ली पुलिस ने किया था गिरफ्तार
इससे पहले मोहम्मद जुबैर को 2018 में एक ट्वीट के जरिए धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में 27 जून को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था. बाद में सीतापुर पुलिस ने जून 2022 में दर्ज एक मामले के अंतर्गत जुबैर को गिरफ्तार किया था. धार्मिक भावनाओं को जानबूझकर ठेस पहुंचाने के आरोप में जुबैर के खिलाफ आईपीसी की धारा 295(ए) और आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत यह मामला दर्ज किया गया.

यह एफआईआर राष्ट्रीय हिंदू शेर सेना के सीतापुर जिला प्रमुख भगवान शरण ने दर्ज कराई थी. हालांकि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को जुबैर को पांच दिन की अंतरिम जमानत दे दी थी.

Tags: Lakhimpur Case Updates, Lakhimpur Kheri News, Nupur Sharma, Supreme court of india

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर