अपना शहर चुनें

States

अयोध्या: रामलला के दर्शन का समय बढ़ाने की मांग, गृह मंत्रालय को भेजा पत्र

रामलला के दर्शन का समय बढ़ाने की मांग की गई है. (File Photo)
रामलला के दर्शन का समय बढ़ाने की मांग की गई है. (File Photo)

अयोध्या में श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए रामलला (Ramlala) के दर्शन की समय सीमा बढ़ाने की मांग की गई है. इसके मद्देनजर गृह मंत्रालय और उत्तर प्रदेश के मुख्ममंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को एक पत्र भी लिखा गया है.

  • Share this:
अयोध्या. उत्तर प्रदेश के अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण का कार्य के बीच बड़ी संख्या में अयोध्या पहुंच रहे श्रद्धालुओं को लेकर रामा दल ट्रस्ट में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को दर्शन अवधि बढ़ाए जाने की मांग की है. इसके लिए गृह मंत्रालय दिल्ली, जिलाधिकारी अयोध्या और ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय को पत्र भेजा है और राम मंदिर ट्रस्ट ने मंदिर दर्शन अवधि को बढ़ाए जाने के लिए अपील की है. साथ ही इसमें लिखा है कि सुबह प्रथम बेला में 7:00 से 12:00 बजे तक और द्वितीय बेला को दोपहर 2:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक रामलला के दर्शन श्रद्धालुओं को कराए जाए.

राम मंदिर के पक्ष में फैसला आने के बाद मंदिर निर्माण के लिए रामलला को अस्थाई मन्दिर में विराजमान कराया गया है. वहीं फैसला आने के बाद अयोध्या में श्रद्धालुओं की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. इस बीच आए कोरोना के कारण भले ही बड़ी तादात में अयोध्या नहीं पहुंच सके हों लेकिन अब छूट मिलने के बाद प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग दर्शन करने अयोध्या पहुंचते हैं. लेकिन समय की उपलब्धता कम होने के कारण सभी दर्शनार्थी रामलला के दर्शन नहीं कर पा रहे हैं. इसको देखते हुए रामादल ट्रस्ट ने श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट व भारत सरकार से श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए समय अवधि बढ़ाए जाने की मांग की है. इसके लिए रामादल ट्रस्ट के अध्यक्ष कल्कि राम ने पत्र के माध्यम से दर्शन अवधि के प्रथम बेला 7:00 से 12:00 और शाम को 2:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक करने की मांग की है.

ये भी पढ़ें: हिमाचल सरकार का बड़ा फैसला: सरकारी कर्मचारी 5 दिन आएंगे दफ्तर, शनिवार को करेंगे वर्क फ्रम होम



राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष ने कही ये बात
राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष कल्कि राम ने बताया कि अभी तक श्री राम जन्म भूमि का मामला न्यायालय में विचाराधीन था. प्रशासन के हस्तक्षेप में दर्शन अवधि की बंदिशें थी. रामलला के पक्ष में फैसला हो चुका है और मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट का गठन हो चुका है. अब किसी तरीके की कोई बंदिश नहीं है. रामलला के दर्शनार्थियों की संख्या बढ़ती जा रही है, लेकिन दर्शन अवधि पुरानी ही अभी तक लागू है. ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय से पत्र लिखकर यह मांग की गई है कि सुबह 7:00 से 12:00 और दूसरी बेला में दोपहर 2:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक रामलला के दर्शन की अवधि बढ़ाई जाए. पत्र की प्रतिलिपि प्रधानमंत्री, गृह मंत्री, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, जिला अधिकारी अयोध्या श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष और महामंत्री को भेजी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज