मोदी के 'बिग गेम' के आरोप पर बोले अखिलेश- मायावती को PM बनाने के लिए तैयार

यूपी में बीते साल गोरखपुर और फूलपुर के लोकसभा उपचुनावों में दोनों ही दलों ने गठबंधन आजमाया था, जिसके बाद लोकसभा चुनाव में इसे लागू किया गया.

News18Hindi
Updated: May 5, 2019, 11:51 AM IST
मोदी के 'बिग गेम' के आरोप पर बोले अखिलेश- मायावती को PM बनाने के लिए तैयार
मायावती और अखिलेश यादव (PTI)
News18Hindi
Updated: May 5, 2019, 11:51 AM IST
लोकसभा चुनाव 2019 के लिए पांचवें चरण के लिए 6 मई को वोटिंग होने है. इससे पहले सभी दल अपने-अपने समीकरण साध रहे हैं. उत्तर प्रदेश में महागठंधन के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अप्रत्यक्ष तौर पर बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती को प्रधानमंत्री पद के लिए समर्थन देने की बात कही है.

अखिलेश यादव ने मायावती का नाम लिए बगैर कहा कि गठबंधन ही इस बार देश को नया प्रधानमंत्री देगा. हम तो चाहेंगे आधी आबादी कोई भी पीएम बन जाए. उससे अच्छी बात और क्या हो सकती है.' अखिलेश ने कहा- 'अगर ऐसा होता है सबसे पहला समर्थन सपा का होगा.'

पीएम मोदी ने मायावती के लिए कही थी ये बात
अखिलेश यादव का बयान पीएम मोदी के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने सपा पर मायावती के पीठ में छुरा घोपा है. यूपी के प्रतापगढ़ में शनिवार को पीएम मोदी ने चुनावी रैली के मंच से अखिलेश यादव पर गरम दिखे, लेकिन मायावती के लिए नरम रुख अपनाया. पीएम मोदी ने कहा कि समाजवादी पार्टी और कांग्रेस मिलकर मायावती को धोखा दे रही है, जिसके बाद यूपी की सियासत में पीएम मोदी के इस बयान के मायने निकाले जाने शुरू हो गए हैं.

यह भी पढ़ें: 'जय श्रीराम' के नारे पर भड़कीं ममता, बीजेपी नेताओं को ललकारा

बीजेपी के खिलाफ सपा-बसपा और रालोद का गठबंधन
बता दें लोकसभा चुनाव 2019 के लिए यूपी में अखिलेश के नेतृत्व वाली सपा और माया की अगुवाई वाली बसपा के बीच गठबंधन हुआ है. इस गठबंधन में अजित सिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल भी शामिल है. यूपी की 80 लोकसभा सीटों में सपा, बसपा और रालोद के महागठबंधन ने अमेठी और रायबरेली लोकसभा सीट पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारे हैं.
यह भी पढ़ें: 'राजभर की नाराजगी का कोई असर नहीं, हर वर्ग के लोग करेंगे बीजेपी को वोट'

गोरखपुर-फूलपुर उपचुनाव में मिली थी शानदार जीत
यूपी में बीते साल गोरखपुर और फूलपुर के लोकसभा उपचुनावों में दोनों ही दलों ने गठबंधन आजमाया था, जिसके बाद लोकसभा चुनाव में इसे लागू किया गया. साल 2014 के चुनाव में 80 में से 72 सीटें हासिल करने वाली भारतीय जनता पार्टी ने सपा और बसपा के गठबंधन को चुनौती नहीं माना है.

यह भी पढ़ें: प्रियंका ने वीडियो जारी कर प्रमोद कृष्णम के लिए मांगे वोट, कहा- भारी बहुमत से जिताएं

यूपी में इस रणनीति पर काम कर रही कांग्रेस
वहीं, कांग्रेस ने भी यूपी की कुछ सीटों को छोड़कर अपने प्रत्याशी उतारे हैं.बीते दिनों कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा था कि कांग्रेस के उम्मीदवार कई सीटों पर जीत रहे हैं तो वहीं कुछ सीटों पर बीजेपी के वोट काटने का काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: अमेठी में वोटिंग से पहले प्रियंका गांधी वाड्रा ने जारी किया 'Emotional' ऑडियो

इसके जवाब में अखिलेश ने कहा था कि कांग्रेस बीजेपी को फायदा पहुंचाना चाहती है, कांग्रेस ने ही बीजेपी को एजेंसियों का गलत इस्तेमाल करना सिखाया. बीजेपी ने ईडी, सीबीआई और अन्य एजेंसियों का गलत इस्तेमाल करना सीख गई है, ये कांग्रेस की ही देन है. अखिलेश यादव ने राहुल गांधी के उस आरोप को भी निराधार बताया, जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा था कि सपा-बसपा को बीजेपी कंट्रोल कर रही है.

यह भी पढ़ें: लोगों ने बहुत कोशिश की लेकिन मेरा कुछ नहीं बिगड़ा: दिग्विजय सिंह
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...