लाइव टीवी

CAA को लेकर हिंसा में UP में 13 लोगों की मौत, 21 जिलों में इंटरनेट बंद, स्कूल-कॉलेज में अवकाश घोषित
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 21, 2019, 10:36 AM IST
CAA को लेकर हिंसा में UP में 13 लोगों की मौत, 21 जिलों में इंटरनेट बंद, स्कूल-कॉलेज में अवकाश घोषित
CAA को लेकर यूुपी में जारी विरोध-प्रदर्शन में अभी तक 13 लोगों लोगों की मौत हुई है (फोटो: पीटीआई)

जानकारी के मुताबिक मेरठ में चार, बिजनौर में दो, कानपुर में दो, वाराणसी में दो, संभल में दो व्यक्तियों की जान गई है. इसके अलावा फिरोजाबाद में भी एक शख्स की मौत हुई है. विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने 21 जिलों में इंटरनेट सेवाओं (Internet Ban) को बाधित कर दिया है

  • Share this:
लखनऊ. नागरिकता कानून (CAA) और नेशनल रजिस्टर फॉर सिटिजनशिप (NRC) को लेकर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में भड़की हिंसा के दौरान अभी तक 13 लोगों की मौत हुई है. जानकारी के मुताबिक मेरठ में चार, बिजनौर में दो, कानपुर में दो, वाराणसी में दो, संभल में दो व्यक्तियों की जान गई है. इसके अलावा फिरोजाबाद में भी एक शख्स की मौत की खबर है. हिंसा और बवाल को देखते हुए पूरे उत्तर प्रदेश में 31 जनवरी, 2020 तक धारा 144 लागू कर दी गई है. साथ ही हिंसाग्रस्त इलाकों में पुलिस और सुरक्षाबलों की तैनाती बढ़ा दी गई है. इसके अलावा पुलिस घूम-घूमकर लोगों से शांति की भी अपील की रही है.

इंटरनेट सेवा पर रोक

प्रशासन ने राज्य के 21 जिलों में इंटरनेट सेवाओं (Internet Ban) को बाधित कर दिया है. जिन जगहों पर इंटरनेट रोका गया है वो हैं- लखनऊ, मेरठ, कानपुर, वाराणसी, सहारनपुर, बुलंदशहर, मुजफ्फरनगर, अमरोहा, फिरोजाबाद, बिजनौर, संभल, मुरादाबाद, अलीगढ़, बहराइच समेत 21 जिले शामिल है. शनिवार को राज्य के सभी स्कूल, निजी और सरकारी शैक्षणिक संस्थान भी बंद रहेंगे. इससे पहले गुरुवार और शुक्रवार को भी सभी स्कूल-कॉलेज बंद करा दिए गए थे. अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने कहा कि सेवा 21 दिसंबर को मध्यरात्रि तक बंद रहेगी. सरकार के निर्देश के बाद सभी निजी टेलीकॉम ऑपरेटर्स ने भी सेवा बंद कर दी है.

UP में जगह-जगह हिंसक प्रदर्शन



इससे पहले शुक्रवार को भी कई जगहों पर प्रदर्शनकारियों ने नागरिकता कानून को लेकर जमकर बवाल (Violence) काटा. जानकारी के अनुसार फिरोजाबाद, बुलंदशहर, मेरठ, कानपुर, गोरखपुर, मुजफ्फरनगर सहित कई जिलों में प्रदर्शनकारियों ने पथराव और आगजनी की. इस दौरान उनकी पुलिस से भी झड़प हुई. कई जगह पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के साथ लाठीचार्ज भी किया. मेरठ, मुजफ्फरनगर और फिरोजाबाद में भीड़ ने माहौल खराब किया.

शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद भीड़ ने पुलिस-प्रशासन पर पथराव किया. इसके बाद पुलिस ने इन पर नियंत्रण पाने के लिए लाठीचार्ज किया. फिलहाल स्थिति काबू में है, लेकिन माहौल में तनाव बना हुआ है. पुलिस ने पूरे इलाके को सील कर दिया है और भारी फोर्स की तैनाती कर दी गई है.



सीएम योगी ने की शांति की अपील

वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों से शांति की अपील की है. उन्होंने कहा है कि नागरिकता कानून को लेकर फैलाए जा रहे अफवाह में न पड़ें और उपद्रवी तत्वों के उसकावे में ना आएं. उन्होंने कहा कि प्रदेश में हर व्यक्ति को सुरक्षा प्रदान करने का दायित्व राज्य सरकार का है. प्रदेश की पुलिस हर व्यक्ति को सुरक्षा प्रदान कर रही है.

इनपुट- पुरुषोत्तम सिंह

ये भी पढ़ें:

CAA बवाल: हिंसा की आग में झुलसे यूपी के 20 जिले, 7 प्रदर्शनकारियों की मौत सैकड़ों घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 21, 2019, 9:42 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर