UP में कोरोना का कहर, 15353 नए केस आए, एक ही दिन में बढ़ गए तीन हजार मरीज

उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है. आज रिकॉर्ड 15 हजार से ज्यादा केस आए हैं.

उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है. आज रिकॉर्ड 15 हजार से ज्यादा केस आए हैं.

उत्तर प्रदेश में कोरोना का संक्रमण (Corona Infection) लगातार बढ़ रहा है. रविवार को प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 15 हजार 353 नए मामले सामने आए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 5:55 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना का संक्रमण (Corona Infection) बेकाबू हो गया है और आंकड़े भयावह होते जा रहे हैं. रविवार को प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 15 हजार 353 नए मामले सामने आए हैं. यह संख्या शनिवार की तुलना में करीब तीन हजार ज्यादा है. शनिवार को संक्रमण के 12,748 नए मामले रिपोर्ट किए गए थे. राज्य में सक्रिय मरीजों की संख्या अब बढ़कर 71 हजार 241 हो गई है.

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में 15,353 नए मामले दर्ज किए गए हैं. कोविड -19 के 6 लाख 11 हजार 622 लोग अस्पताल से ठीक होकर घर जा चुके हैं. राज्य में सक्रिय मरीजों की संख्या अब बढ़कर 71 हजार 241 हो गई है. वहीं अब तक 85 लाख 15 हजाार 296 लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जा चुकी है. जबकि 12 लाख 42 हजार 562 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज दी गयी है.

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कोविड 19 के रोकथाम हेतु राजभवन में एक सर्वदलीय बैठक कॉल की है. बैठक की अध्यक्षता राज्यपाल ने की और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसमें मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद हैं, जबकि दोनों उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और केपी मौर्य, संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ मंत्री जय प्रताप सिंह भी बैठक में मौजूद हैं. इस सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस, एसपी, बीएसपी, अपना दल (सोनेलाल), भारतीय सुहेलदेव समाज पार्टी के नेताओं को बुलाया गया है.

सरकार ने 30 अप्रैल तक बंद किए स्कूल
सूबे में कोरोना संक्रमण की घातक परिस्थितियों को देखते हुए योगी सरकार (Yogi Government) ने एक बार फिर से राज्‍य भर के कक्षा 1 से 12 तक के शिक्षण संस्‍थानों को 30 अप्रैल तक बंद ही रखने का फैसला लिया है. कोरोना के तय प्रोटोकॉल का पालन कर आवश्यकता पड़ने पर ही स्‍टाफ को बुलाए जाने और पहले से तय परीक्षाओं को कराने की छूट सरकार की ओर से दी जा रही है. मगर छात्र-छात्राओं के आने पर पूरी रोक होगी. योगी सरकार की ओर से 30 अप्रैल तक सभी कक्षा 1 से 12 तक कोचिंग सेंटर, शिक्षण संस्‍थानों, प्राइवेट, निजी सभी बोर्डो के विद्यालयों को बंद करने का फैसला लिया है. पिछला आदेश 15 अप्रैल तक का था, जिसको अब 15 दिन के लिए और बढ़ाया जा रहा है.

धार्मिक स्थलों पर एक साथ पांच लोगों से अधिक के प्रवेश पर बैन

प्रदेश में तेजी से फैल रहे कोरोना को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लिया है. प्रदेश के किसी भी धार्मिक स्थलों पर एक साथ पांच से अधिक लोगों के प्रवेश की अनुमति नहीं होगी. मस्जिद, गुरुद्वारा या चर्च में अब एक साथ सिर्फ पांच लोग ही प्रवेश कर सकेंगे. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जनपद लखनऊ में कोविड-19 के उपचार के लिए एल-2 एवं एल-3 के पर्याप्त बेड की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिये. उन्होंने कहा है कि लखनऊ में तत्काल कम से कम 2 हजार आईसीयू बेड की व्यवस्था की जाए, इसके बाद अगले एक सप्ताह में 02 हजार अतिरिक्त कोविड बेड का प्रबन्ध भी किया जाए.



लखनऊ में व्यापक काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग के निर्देश

लखनऊ में व्यापक काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग करने को कहा गया है. संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आए हुए कम से कम 30 से 35 लोगों को टेस करते हुए इनका शत-प्रतिशत कोविड टेस्ट किया जाएगा. इसके साथ ही लखनऊ में प्रत्येक गांव तथा हर नगर निकाय के प्रत्येक वाॅर्ड में निगरानी समितियों को सक्रिय करने को कहा गया है. मण्डलायुक्त जनपद लखनऊ में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन तथा फाॅगिंग की कार्यवाही व्यापक पैमाने पर करायें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज